Cyber Cell kya hota hai | साइबर सेल क्या है?

4.5
(131)

Cyber Cell kya hota hai | साइबर सेल क्या है?

“Cyber Cell kya hota hai” अगर आप यह जानना चाहते है तो यह लेख आपकी पूरी मदद करेगा कि आप यह जान सकें कि साइबर सेल क्या है। यहाँ आप यह जान पाएंगे कि साइबर थाने और साइबर सेल में क्‍या फर्क होता है, इसके साथ साथ Cyber Cell कैसे काम करती है।

हमारे देश में लगातार साइबर अपराध बढ़ते ही जा रहे हैं। आय दिन लोगों के साथ किसी ना किसी तरह का इंटरनेट के जरिए धोखा हो जा रहा है। अमूमन लोग इसकी शिकायत अपने नजदी‍की पुलिस स्‍टेशन पर करवाते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि इंटरनेट के जरिए होने वाली धोखाधड़ी की जांच कभी भी पुलिस की टीम नहीं करती हैं। खासतौर पर जो मामले बेहद बड़े स्‍तर पर होते हैं।

शायद आप साइबर सेल (Cyber cell) के नाम को पहली बार सुन होंगे। परन्‍तु आपके साथ जब भी किसी तरह की इंटरनेट के जरिए ठगी होती है। तो इसकी जांच साइबर सेल की टीम ही करती है। लेकिन यदि आप साइबर सेल के बारे में नहीं जानते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक पढि़ए। अपने इस लेख में हम आपके Cyber Cell kya hota hai और उसके कामकाज की प्रक्रिया के बारे में पूरी तरह जानकारी देंगे।

तो चलिए जानते है कि साइबर सेल क्या है और ये कैसे काम करता है।

साइबर सेल क्या है? Cyber Cell kya hota hai

साइबर सेल भी एक तरह का विभाग और उसके अंदर टीम होती है। जिसमें केवल वो लोग होते हैं जो कि इंटरनेट के बारे में पूरी जानकारी रखते हैं। साथ ही इंटरनेट पर आजकल जिस तरह से लोगों के साथ धोखा हो जाता है। इस बारे में भी वो लोग पूरी जानकारी रखते हैं।

यदि आप अभी तक साइबर क्राइम के बारे में नहीं जानते हैं तो हमारा ये लेख (cyber crime in hindi) पढ़कर साइबर क्राइम के बारे में जान सकते हैं। इनका काम होता है कि जब भी कोई इंसान या पुलिस स्‍टेशन से किसी तरह की साइबर अपराध से जुड़ी कोई शिकायत देता है, तो उसकी ये लोग जांच करते हैं।

साथ ही Cyber cell कई बार बड़े मामलों में लोकल पुलिस की मदद भी करता है। जिसमें उसका फोन ट्रेस करना, उसकी बातचीत से जुड़ी जानकारी निकालना आदि काम शामिल होते हैं। ताकि पुलिस अपराधी तक आसानी से पहुंच सके। साइबर सेल की खास बात ये होती है कि ये किसी भी इंसान की सारी जानकारी जुटा लेती है और उसे पता भी नहीं चलता है।

तो जैसा कि आप जान चुके है कि साइबर सेल क्या है अब आगे बढ़ते है और यह जानते है कि Cyber cell किस तरह से काम करती है?

साइबर सेल टीम सरकार के लिए किस तरह से मददगार होती है?

साइबर सेल (Cyber cell) आज सरकार के लिए भी बड़ी महत्‍वपूर्ण निभाती है। हमारे देश में जब भी आतंकवाद या किसी तरह का दंगा कराने की गतिविधि की साजिश रची जा रही होती है। तो अक्‍सर साइबर सेल इन मामलों को अंजाम देने से पहले ही पकड़ लेती है। जिससे एक बड़ा नुकसान होने से बच जाता है।

इसी तरह से जब सरकार की कोई वेबसाइट या सोशल मीडिया अकाउंट को हैक कर लिया जाता है। तो कुछ ही समय बाद उसे दोबारा से साइबर सेल की टीम के द्वारा वापिस ले आया जाता है। साथ ही ये लोग उस हैकर को भी तलाशने की कोशिश करते हैं जिसने ये काम किया होता है। लेकिन यदि सरकार के पास साइबर सेल की टीम ना होती तो उसे इस काम के लिए प्राइवेट एजेंसी की मदद लेनी पड़ती। जिससे सरकार का बहुत सारा पैसा खर्च होता।

Cyber cell किस तरह से काम करती है?

साइबर सेल के कामकाज में सबसे बड़ी भूमिका किसी भी आरोपी का फोन नंबर होता है। वह उसके नंबर की मदद से उसकी लेाकेशन पता लगाती है। साथ ही उसके नंबर से ही उसके घर का पता और ये पता लगाती है कि आरोपी किस किस से बातचीत करता था। इसके बाद उसके साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जाती है।

आजकल साइबर सेल की टीम आरोपी के सोशल मीडिया तक तक भी बेहद आसानी से पहुंच जाती है। वो भी जांच में बेहद अहम भूमिका निभाता है। जांच में गोपनीयता का सम्मान करते हुए हम आपको इसके आगे की जानकारी नहीं दे सकते हैं।

साइबर थाने और साइबर सेल में क्‍या फर्क होता है?

आपने पिछले कुछ वर्षो में देखा होगा कि हमारे देश के कई शहरों मे साइबर थाने खुलने लगे हैं। खासतौर पर जहां साइबर अपराध काफी ज्‍यादा होता है। दरअसल, इनका काम होता है कि ये अपने जिले में घटने वाली सभी साइबर क्राइम की घटनाओं की जांच करते हैं।

यहां आम आदमी जाकर अपनी शिकयत दे सकता है। जिसके बाद उसकी शिकायत पर जांच की जाती है। इसलिए यदि आपके जिले में साइबर थाना मौजूद है तो साइबर क्राइम की शिकायत हमेशा वहीं दें।

क्‍या साइबर सेल में आम आदमी शिकायत दे सकता है?

इसका जवाब है ‘नहीं’। क्‍योंकि साइबर सेल केवल गंभीर और उन मामलों की ही जांच करती है। जिन्‍हें लोकल पुलिस अक्‍सर सुलझा नहीं पाती है। साइबर सेल में किसी भी मामले की जांच के लिए पुलिस के बड़े अधिकारी साइबर सेल (Cyber Cell) की टीम से संपर्क करते हैं। उनके लोगों को पूरे घटनाक्रम से अवगत करवाते हैं साथ ही उन्‍हें सभी तरह के सबूत उपलब्‍ध करवाते हैं।

जिसके बाद ही साइबर सेल की टीम किसी मामले की जांच शुरू करती है। इसके पीछे बड़ी वजह ये भी है कि हमारे देश में अभी तक साइबर सेल की संख्‍या बेहद कम है। इसलिए साइबर सेल को हमेशा बड़े और High Profile मामले ही दिए जाते हैं। ताकि उन लोगों पर काम का ज्‍यादा दबाव ना पड़े। इसलिए आम आदमी का साइबर सेल से किसी तरह का संबध नहीं होता है। साइबर सेल की खास बात ये होती है। ये जिन भी मामलों की जांच करती है। लगभग उनमें कामयाब जरूर होती है। भले ही अपराधी कितना भी बड़ा और समझदार क्‍यों ना हो।

आपने जाना

आज आपने जाना कि Cyber Cell kya hota hai और Cyber cell से जुड़े सवालों के बारे में। आशा है अब आप यह समझ गएँ होंगे कि साइबर सेल क्या है। यदि आपका साइबर sell के बारे में कोई सवाल है तो हमें कमेंट में पूछें हम इसका जवाब जरूर देंगे।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.5 / 5. कुल वोट 131

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि "आल इन हिन्दी" का Founder हूँ. मैं एक Economics Graduate हूँ। कहते है ज्ञान कभी व्यर्थ नहीं जाता कुछ इसी सोच के साथ मै अपना सारा ज्ञान "आल इन हिन्दी" द्वारा आपके साथ बाँट रहा हूँ। और कोशिश कर रहा हूँ कि आपको भी इससे सही और सटीक ज्ञान प्राप्त हो सकें।

1 thought on “Cyber Cell kya hota hai | साइबर सेल क्या है?”

Leave a Comment