ESIM kya Hota hai | फायदे और नुकसान

4.7
(364)

ई सिम का प्रयोग कैसे करें?

ESIM Kya Hota Hai: आपने अपने फोन में सिम कार्ड कई बार बदले होंगे। पहले जहां बहुत बड़े सिम कार्ड आते थे। तो उसके बाद उसे छोटे आकार का किया और अब उसे एकदम छोटे आकार का कर दिया गया है। जिसे Nano Sim Card कहते हैं। लेकिन सिम कार्ड को बदलने के दौरान आपने कई बार महसूस किया होगा कि यदि वह गुम हो जाए तो हमें बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है।

लेकिन अब आपको इस परेशानी से छुटकारा मिलने वाला है। क्‍योंकि अब आप चाहें तो अपने फोन में E-SIM Card डाल सकते हैं। जिसके बाद आपको ना तो अपने फोन में कभी सिम कार्ड डालने की जरूरत पड़ेगी ना ही उसे निकालने की। एक तरह से बिना सिम के भी आप अपने फोन में बातचीत और इंटरनेट का आसानी से प्रयोग कर सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं ESIM Kya Hota Hai?

ESIM Kya Hota Hai?

आइए सबसे पहले आपको बताते हैं कि ESIM kya Hota Hai इसकी फुल फार्म Electronic Sim Card होती है। इसका मतलब ये होता है कि इसके अंदर आपको अपने फोन में किसी तरह का सिम कार्ड नहीं डालना होगा। केवल एक QR Code Scan करने भर से आपके फोन में सिम कार्ड चालू हो जाएगा।

साथ ही यदि आप उसे निकालना चाहते हैं तो इसी तरीके से निकाल भी सकते हैं। और दूसरे QR Code को स्‍कैन करेंगे तो आपके फोन में दूसरा सिम चालू हो जाएगा। इसकी खास बात ये है कि आप अपने फोन में एक साथ कई ई स‍िम डाल सकते हैं। इसके बाद आप अपनी इच्‍छा अनुसार इन्‍हें बदल भी सकते हैं।

ई सिम क्या होता है

E-SIM supported mobile phones

भारत में भी हाल के कुछ महीनों से ई सिम का काफी जोर देखा जा रहा है। ऐसे में मोबाइल कंपनियों ने भी अपने कई ऐसे मॉडल निकाले हैं जो कि पूरी तरह से ई सिम को सपोर्ट करते हैं। आइए आपको एक बार हम उन मोबाइल फोन के नाम बताते हैं। जो कि इस समय ई सिम को सपोर्ट करते हैं। इन्हें आप दुकान से या ऑनलाइन भी आसानी से खरीद सकते हैं।

Samsung smartphones

Samsung Galaxy Note 20, Samsung Galaxy Note 20 Ultra, Samsung Galaxy S21 5G, Samsung Galaxy S21+ 5G, Samsung Galaxy S21 Ultra 5G, Samsung Galaxy Z Flip, Samsung Galaxy Fold और Samsung Galaxy Z Fold 2

Motorola smartphones

Motorola Razr, Motorola Razr 5G

Apple smartphones

iPhone XR, iPhone XS, iPhone XS Max, iPhone 11, iPhone 11 Pro, iPhone 11 Pro Max, iPhone SE (2020), iPhone 12 mini, iPhone 12, iPhone 12 Pro, और iPhone 12 Pro Max शामिल हैं।

Google smartphones

Google Pixel 3a, Google Pixel 3a XL, Google Pixel 3, Google Pixel 3 XL और Google Pixel 4a

ई सिम कैसे खरीदें?

ESIM Kya Hota Hai इसे जानने के बाद आइए जानते हैं कि ई सिम कैसे खरीदा जा सकता है। ई सिम खरीदने की प्रक्रिया हर कंपनी के हिसाब से अलग अलग होती है। लेकिन फिर भी यदि हम एक सामान्‍य प्रक्रिया की बात करें। तो सबसे पहले आपको अपने एक वैध पहचान पत्र के साथ जिस भी कंपनी का नया ई सिम लेना चाहते हैं। जैसे कि वोडाफोन, एयरटेल, जियो आद‍ि। आप उनके Care में चले जाइए। यहां से आप नया ई सिम भी ले सकते हैं। साथ ही चाहें तो आप अपना पुराना सिम भी ई सिम में बदलवा सकते हैं। पुराना सिम कार्ड ई सिम में बदलवाने पर आपको सर्विस चार्ज का खर्चा देना पड़ सकता है।

इसके बाद आपको वहां मौजूद ग्राहक प्रतिनिधि की तरफ से कुछ प्रक्रिया बताई जाएगी। आप जैसे ही उसे पूरी कर लेते हैं। तो आपके दिए गए ई मेल पर एक QR Code प्राप्‍त होगा। जो कि एक तरह से आपका ई सिम होगा। इसकी मदद से आप अपने फोन में आसानी से अपना ई सिम चालू कर सकते हैं। ई सिम की भी सभी सेवाएं भी बिल्‍कुल उसी तरह से होगीं जैसे कि Physical Sim की सेवाएं आपने प्रयोग की होंगी। खास बात ये है कि यदि आपने एक बार ई सिम ले लिया और बाद में आप उसे Physical Sim के तौर पर बदलवाना चाहते हैं। तो भी इसे आसानी से बदलवा सकते हैं।

ESIM कैसे Activate करें?

यदि हम ई सिम के चालू करने की बात करें तो हम आपको बता दें कि इसे चालू करने का तरीका हर कंपनी का अलग होता है। यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपके पास किस कंपनी का कौन सा मोबाइल फोन है और आप उसके अंदर किस कंपनी का ई सिम चलाना चाहते हैं। क्‍योंकि ये सिम आपको अपने फोन के Sim Tray में तो डालना नहीं होता है। इसलिए इसे आपको फोन की सेटिंग में जाकर Activate करना होता है।

सामान्‍य तौर पर इसे चालू करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी ई मेल से एक मेल भेजना होता है। जिसके बाद आपके Operator की तरफ से एक QR Code भेजा जाता है। संभव है कि आपको एक ID Password भी दिया जाए। अब आपको अपने फोन की सेटिंग में जाकर इसे चालू करना होता है। यदि आप सबकुछ सही से करते हैं तो कुछ ही मिनट के बाद आपके फोन की स्‍क्रीन पर आपको ई सिम का नेटवर्क दिखाई देने लगेगा।

ESIM का भविष्‍य?

ई सिम एक नई तकनीक है और नई तकनीक जो भी आती है वो हमेशा पुरानी तकनीक से बेहतर और फायदेमंद होती है। इस बात को हम सभी जानते हैं। इसलिए इस बात में कोई दोहराय नहीं है कि ई सिम का भविष्‍य पूरे तरीके से उज्‍ज्‍वल है। हालांकि, इसे लोकप्रिय होने में अभी कुछ वर्ष का समय जरूर लग सकता है। क्‍यों‍कि भारत में ज्‍यादातर लोगों के पास अभी जो मोबाइल फोन हैं। उनके अंदर ई सिम का प्रयोग नहीं किया जा सकता है। इसलिए जैसे जैसे समय बीतेगा लोगों के हाथ में ई सिम चलाने की सुविधा देने वाला फोन भी आ जाएगा। और इसके ग्राहक भी उसी तरह से बढ़ते चले जाएंगे।

लेकिन इसके भविष्‍य पर थोड़ा संकट भी है। क्‍यों‍कि अभी इसका ज्‍यादातर लोगों ने प्रयोग नहीं किया है। इसलिए इसके अंदर जो कमियां होंगी उसका पता तभी चलेगा जब हमारे देश के ज्‍यादातर लोग ई सिम का प्रयोग करने लगेंगे। खासतौर पर यह कितना सुरक्षित है इस पर अभी भी संशय है।

इसे भी पढ़ें: Phone ka backup kaise le

ई सिम के फायदे

  • इसके अंदर आपको किसी तरह का सिम साथ लेकर नहीं घूमना होता है। जिससे उसका खोने का खतरा नहीं रहता है।
  • ई सिम को बदलने का झंझट नहीं रहता है। आप चाहें तो एक ही दिन में कितने भी सिम बदल सकते हैं। जो लोग हर सप्‍ताह या हर महीने विदेश की यात्रा करते हैं। उनके लिए मानो ई सिम एक वरदान की तरह होगा।
  • इसके खराब होने की गुंजाइश नहीं होती है। इसलिए इसे आप बिल्‍कुल बेफिक्र होकर चला सकते हैं। साथ ही इसके अंदर आपको एक साथ कई डिवाइस कनेक्‍ट करने की सुविधा भी दी जाती है।
  • यदि आपको नया ई सिम या अपना पुराना ई सिम बदलवाना हो तो इसमें खर्चा और समय बेहद कम लगता है। जबकि यदि आपके पास यदि अभी तक कोई Physical Sim है तो उसे बदलवाने की प्रक्रिया थोड़ी लंबी और खर्चीली भी है।

ई सिम के नुकसान

  • भारत में अब भी केवल नाम मात्र फोन हैं जिनमें आप ई सिम चला सकते हैं। जबकि Key Pad फोन में इसे चलाना किसी भी तरह से संभव नहीं है।
  • एक Physical Sim के मुकाबले इसे आसानी से हैक (Hack) किया जा सकता है। इसलिए इससे लोगों की निजी जानकारी और बैंक आदि से OTP मंगाकर धोखाधड़ी आसानी से की जा सकती है।
  • ई सिम अनपढ़ इंसान शायद ही प्रयोग कर सके। यदि प्रयोग कर भी लेता है तो इसे बदलना उसके लिए बेहद चुनौतिपूर्ण रहने वाला होगा।
  • ई सिम महज एक QR Code होता है। जो कि आपके ई मेल पर प्राप्‍त होता है। यदि यह QR Code किसी दूसरे इंसान के पास किसी भी तरह से चला जाए तो संभव है कि वो आपका सिम आसानी से चला सकता है।
  • सुनने में इस तरह की बातें भी आ रही है कि ई सिम के अंदर यदि आपके फोन की बैटरी कम है या आपका फोन बंद होकर ऑन होता है। तो नेटवर्क आने में थोड़ा समय ले लेता है।

इसे भी पढ़ें: आधार कार्ड पर कितने सिम है कैसे पता करे

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि E Sim Kya Hota Hai इसके फायदे और नुकसान क्‍या हैं। इसे जानने के बाद आप अपने फोन में आसानी से ई सिम चालू कर सकते हैं। साथ ही जरूरी सावधानी भी अपना सकते हैं। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी इसे अवश्‍य शेयर करें। साथ ही कमेंट बॉक्‍स में अपनी राय भी जरूर साझा करें।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल वोट 364

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment