फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बने?

4.7
(360)

फ्लिपकार्ट सेलर बनने का सही तरीका

Flipkart seller kaise bane: फ्लिपकार्ट से आपने कई बार सामान मंगाया होगा। क्‍योंकि आज के समय में बाजार जाना लोग बेहद ही कम पसंद करते हैं। ऐसे में बहुत से दुकानदार ही हैं जो कि बाजार में भी सामान बेचते हैं, वही फ्लिपकार्ट पर भी आ गए हैं। लेकिन बहुत से दुकानदार इस बात को नहीं जानते हैं कि अपना सामान फ्लिपकार्ट के माध्‍यम से कैसे बेचें।

यदि आप भी जानना चाहते हैं कि फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बने (flipkart seller kaise bane) तो हमारी इस पोस्‍ट को अंत तक पढि़ए। अपनी इस पोस्‍ट में हम आपको जानकारी देंगे कि आप कैसे फ्लिपकार्ट पर सेलर बन सकते हैं। साथ ही कैसे आप अपनी बिक्री को बढ़ा सकते हैं। ताकि आपकी आमदनी काफी ज्‍यादा हो सके।

फ्लिपकार्ट सेलर क्‍या होता है?

फ्लिपकार्ट सेलर (Flipkart Seller) कैसे बनें इस बात की हम आपको जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको जानकारी देते हैं कि फ्लिपकार्ट सेलर किसे कहते हैं। इसे आप बेहद आसान भाषा में इस तरह से समझ सकते हैं कि जब भी आपने ऑनलाइन कोई सामान देखा होगा तो कई बार आपको एक ही सामान बहुत जगह एक ही वेबसाइट पर दिखाई दिया होगा।

खास बात ये कि उसका रेट में भी काफी ज्‍यादा फर्क रहा होगा। ऐसा इसलिए होता है। क्‍योंकि फ्लिपकार्ट पर बहुत सारे दुकानदार होते हैं। जिन्‍हें हम लोग सेलर कहते हैं। सभी लोग अपने अपने सामान का अलग अलग रेट रखते हैं। इस तरह से आप समझ सकते हैं कि फ्लिपकार्ट तो महज एक जरिया है। यहां भी आपको बाजार की तरह की बहुत सारे लोग अपना सामान बेचते मिलेंगे।

फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बने

फ्लिपकार्ट सेलर बनने के फायदे

  • आपकी बिक्री ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन भी होने लगती है, जिससे आपकी आमदनी कई गुना बढ़ जाती है।
  • आपका सामान पूरे देश में बिकने लगता है जिससे आपको अपनी बिक्री को बढ़ाना काफी आसान काम हो जाता है।
  • ऑनलाइन माध्‍यम एक उभरता हुआ माध्‍यम है। इसलिए यदि आप पहले से यहां जगह बना लेते हैं तो आपको आगे चलकर परेशानी नहीं होगी।
  • ऑनलाइन सेलर बनने के लिए आपको ना तो दुकान किराए पर लेनी पड़ती है, ना ही बिजली और पानी का खर्च होता। जिससे आपकी बचत ही बचत होती है।
  • यह एक ऐसा जरिया है जिसमें त्‍यौहारों के समय आपकी बिक्री बिना कहीं गए लाखों रूपए की हो जाती है।

फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बनें?

आइए अब हम आपको वो तरीका बताते हैं जिससे आप समझ सकते हैं कि आप फ्लिपकार्ट पर ऑनलाइन सेलर कैसे बन सकते हैं। यह तरीका काफी बड़ा और समझने वाला है। इसलिए जरूरी है कि आप ध्‍यान से पूरी पोस्‍ट को अंत तक पढ़ें। ताकि आप ना सिर्फ फ्लिपकार्ट सेलर बन जाएं। बाल्कि अपना सामान भी बेच सकें। क्‍योंकि आपकी कमाई तभी होगी जब आपका सामान बिकेगा।

अपना रजिस्‍ट्रेशन करवाएं

सबसे पहले आपको चाहिए कि आप अपना फ्लिपकार्ट पर पंजीकरण (Flipkart Seller Registration) करवाएं। इसके लिए आप चाहें तो किसी दुकानदार की मदद ले सकते हैं। या किसी ऐसे इंसान की मदद ले सकते हैं। जो कि पहले से फ्लिपकार्ट पर सेलर का काम करता हो। इसके लिए फ्लिपकार्ट की तरफ से Seller.flipkart.com नाम की वेबसाइट बनाई गई है। आप वहां से अपन पंजीकरण खुद भी कर सकते हैं।

आप चाहें तो कोई यूट्ब (You Tube) का विडियो देखकर भी ऑनलाइन अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। हालांकि हमारा सुझाव रहेगा कि यदि आपको इसकी जानकारी नहीं है। तो इसे खुद ना करें अन्‍यथा आपका पंजीकरण फ्लिपकार्ट की तरफ से रद्द कर दिया जाएगा।

रजिस्‍ट्रेशन के लिए जरूरी दस्‍तावेज

  • आपका आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • आपकी बैंक पासबुक (Only Current Account)
  • GST No.
  • मोबाइल नंबर और ईमेल

अपने सामान वेबसाइट पर लाएं

जब आपका पंजीकरण सफलतापूवर्क हो जाता है। तो उसके बाद फिर आपको अपने सामान को वेबसाइट पर लाना होगा। ताकि जो भी ग्राहक उस चीज से जुड़ा सामान लेना चाहे उसके सामने आपका सामान खुलकर आ जाए। इसके लिए यदि आपको बिल्‍कुल भी जानकारी नहीं है तो आप अपने नजदीकी फ्लिपकार्ट हब (Flipkart Hub) पर चले जाएं। वहां आप जो भी सामान बेचना चाहते हैं, उसकी अच्‍छी सी फोटो और जानकारी टाइप (Information Description) कर दी जाएगी। इसके बाद आपकी वो जानकारी फ्लिपकार्ट के पास चली जाएगी। इसके लिए वो लोग आपसे कुछ पैसा भी ले सकते हैं।

लेकिन आपकी भेजी जानकारी सीधा वेबसाइट पर नहीं आती है। इसके बाद आपकी जानकारी और फोटो को फ्लिपकार्ट के प्रतिनिधि देखते हैं। यदि उसमें कुछ बदलाव करने की जरूरत महसूस होती है तो वो उसमें कुछ बदलाव भी करते हैं। जिसके बाद आपका सामान वेबसाइट पर आ जाता है। इसके बाद आप जब चाहें उसके रेट में किसी भी तरह का बदलाव कर सकते हैं। इसके लिए आप हमेशा सामान की कई फोटो भेजें। ताकि कुछ फोटो यदि आपके Reject भी कर दिए जाएं तो भी ग्राहक आपका सामान अच्‍छे से देख सके।

Flipkart Seller Helpline

यदि आपको लगता है कि आपके सामान की जो जानकारी फ्लिपकार्ट की वेबसाइट पर आई है। वो सही नहीं है या उसमें कुछ भ्रामक लग रहा है। तो आप फ्लिपकार्ट सेलर हेल्पलाइन पर संपर्क भी कर सकते हैं। वहां आप अपने सामान के बारे में उन्‍हें बताएंगे कि आपके सामान में ये जानकारी गलत दी हुई है। इसके बाद वो उसमें आपके बताए अनुसार बदलाव भी कर देंगे। हालांकि ये काम जल्‍दी करें। क्‍योंकि यदि उस जानकारी को देखकर किसी ने आर्डर कर दिया होगा तो आपको परेशानी उठानी पड़ेगी।

इसे भी पढ़ें: घर बैठे बिंदी पैकिंग का काम कैसे करें?

Packing Material कहां से खरीदें?

जब आप अपना पंजीकरण फ्लिपकार्ट पर सेलर के रुप में कर लेते हैं तो आपको अपना Packing Material भी खरीना होता है। जिसमें आप अपना सामान पैक करके देंगे। इसके लिए पहला तरीका तो ये है कि आप अपने शहर में कुछ ऐसे दुकानदार देख लें जो कि पैकेजिंग का सामान बेचते होंगे। आप उनसे थोड़ी मात्रा में सारा सामान खरीद लें। यहां आपको हम एक और जानकारी दे दें कि संभव है कि आपको सारा सामान एक ही दुकान पर ना मिले। इसलिए हर सामान अलग अलग जगह से खरीद लें।

इसके अलावा आप चाहें तो पैकेजिंग से जुड़ा सामान Seller.flipkart.com से भी खरीद सकते हैं। हालांकि, यहां से आप केवल तभी खरीदें जब आपको बड़ी मात्रा में सामान खरीदना हो। क्‍योंकि शुरूआत में आपको कभी बहुत ज्‍यादा पैकेजिंग का सामान नहीं खरीदना होता है। बस आप जब भी पहली बार सामान की पैकिंग करें तो उसे अच्‍छे से देख कि आपकी पैकिंग फ्लिपकार्ट के नियमों के मुताबिक ही हो। पैकिंग को समझने के लिए आप यूट्ब की मदद ले सकते हैं।

Packing Material List

  • प्‍लास्‍टिक पैकिंग
  • गत्‍ते वाली पैकिंग
  • फ्लिपकार्ट टेप
  • कैंची

आर्डर का पता लगाएं

इसके बाद बारी आती है कि जब आपका सामान कोई ग्राहक देखता है और उसे पसंद आने के बाद आर्डर कर देता है, तो उसकी जानकारी कैसे पाएं। इसके लिए आप अपने फोन में फ्लिपकार्ट सेलर एप्‍लीकेशन (Flipkart Seller Application) को डाउनलोड कर लीजिए। यहां आपको जैसे ही कोई ग्राहक आपका सामान आर्डर करेगा तो वो दिखाई दे जाएगा। आप ये भी देख सकते हैं कि आपका सामान किस ग्राहक ने आर्डर किया है साथ ही वो कहां से है।

इसके बाद आपको अपना सामान पैक करना होता है। यहां ध्‍यान इस बात का रखना है कि आपको अपना सामान तय समय के अंदर ही पैक करना है। ऐसा ना हो कि आप आर्डर आने के कई दिन तक पैक ही ना करें। इसके बाद फ्लिपकार्ट का Delivery Boy आपके पास आएगा और आपका सामान लेकर चला जाएगा। यहां हम आपको एक और जानकारी दे दें कि आपको वो सामान का पैसा देकर नहीं जाएगा। आप इस बात का ध्‍यान रखें कि जब आप सामान पैक कर रहे हों तो वहां पर कोई कैमरा जरूर लगा हो। इसका फायदा हम आपको आगे बताएंगे।

Order Return पर क्‍या होगा?

जैसा कि आप जानते हैं कि फ्लिपकार्ट पर ऐसी सुविधा होती है कि यदि कोई ग्राहक किसी भी तरह का सामान मंगाता है तो उसे लगभग एक सप्‍ताह तक वापिस कर सकता है। साथ ही यदि उसके सामान में किसी तरह की खराबी है तो उसे बदलवा भी सकता है। इसलिए यदि आपका सामान कोई ग्राहक वापिस भेजता है तो आपको उसी तरह फिर से वही Delivery boy आपका सामान वापिस लेकर देने आ जाएगा। लेकिन यदि उस सामान में कोई खराबी है तो उसे आपको बदल कर देना होगा।

Payment कब होती है?

यदि हम आपके सामान के भुगतान की बात करें तो यह फ्लिपकार्ट की तरफ से किया जाता है। इसके लिए लगभग 15 दिन का समय लगता है। क्‍योंकि यदि कोई ग्राहक आपका सामान वापिस कर देता है तो आपका भुगतान नहीं किया जाएगा। यदि आपके सामान का भुगतान इस समय के दौरान भी नहीं होता है तो आप फ्लिपकार्ट सेलर हेल्‍पलाइन में संपर्क कर सकते हैं। वहां से आपको जानकारी दे दी जाएगी कि आपका पेमेंट क्यों रूका हुआ  है।

गलत सामान की वापसी होने पर क्‍या करें?

कई बार देखा जाता है कि बहुत से ग्राहक चालबाजी कर लेते हैं। इसके अंदर वो जो सामान उन्‍हें प्राप्‍त होता है उसे बदल देते हैं और वापिस कर देते हैं। या कई बार सामान को तोड़ या खराब कर देते हैं। जिससे सेलर को बिना वजह ही नुकसान हो जाता है। क्‍योंकि उसने तो ग्राहक को एकदम सही सामान पैक करके दिया था।

इससे बचने के लिए फ्लिपकार्ट ने अपने स्‍तर पर कई नियम तो बनाए ही हैं! लेकिन यदि फिर भी किसी सेलर के साथ ऐसा होता है तो उसके लिए Seller Protection Fund बनाया गया है। जिसके अंदर आप अपना दावा कर सकते हैं कि आपको बिना वजह नुकसान उठाना पड़ रहा है। हालां‍कि, इसके लिए आपके पास सबूत भी होना चाहिए। जिसमें सामान की पैकिंग करते समय कैमरा सबसे अहम माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: इंडिया में सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है?

Flipkart Order Return Charges

Currier Return: यदि आपका सामान कोरियर की तरफ से वापिस आता है। जैसे कि ग्राहक ने बीच में ही आर्डर कैसिंल कर दिया या उसका घर नहीं मिला, या उसने फोन नहीं उठाया तो आपसे किसी तरह का पैसा नहीं लिया जाता है। ऐसे में आपका आर्डर किसी भी तरह से खुला नहीं होता है। इसलिए वो सीधा वापिस आपके पास आ जाता है। इसलिए इसमें आपको किसी भी तरह से नुकसान नहीं होता है।

Customer Return: इसके अंदर दूसरा होता है कि यदि किसी ग्राहक ने आपका सामान लिया और फिर उसे  पसंद नहीं आया और उसने वापिस कर दिया तो इसमें सारा नुकसान सेलर को होने वाला है। क्‍योंकि एक तो उसने आपकी सारी पैकिंग खोल दी होगी। इसके अलावा आपको एक बार तो उसे भेजने का खर्चा और दूसरा उसे वापिस लाने का खर्चा देना होगा। जो कि एक तरह से आपके ऊपर बोझ ही होगा। साथ ही इससे आपकी रेटिंग भी खराब होगी।

सामान का रेट कैसे तय करें?

कोई भी सामान बिकने के पीछे उसकी सबसे बड़ी वजह उसका रेट होता है। इसलिए सबसे जरूरी है कि आप अपना रेट सबसे कम रखें। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपना सामान नुकसान में बेचना शुरू कर दें। इसके लिए वो रेट तय करें जिससे आपका सामान बाजार भाव से सस्‍ता भी पड़ जाए और आपको नुकसान भी ना हो।

रेट तय करते समय आप इस बात का भी ध्‍यान रखें कि आप जो रेट तय कर रहे हैं। उसमें यदि आपका ग्राहक सामान को वापिस भी कर देता है तो आपको नुकसान ना उठाना पड़े। क्‍योंकि हर सेलर के साथ ऐसा होता है कि 15 से 20 प्रतिशत लोग अपना सामान वापिस कर देते हैं। इसके अलावा ऐसा भी नहीं है कि आपने किसी चीज का दाम एक हजार रूपए रखा है तो सारा आपको दे दिया जाएगा। इसका कुछ हिस्‍सा फ्लिपकार्ट की तरफ से भी काट लिया जाता है।

Delivery Charges कैसे तय करें?

रेट तय करने में Delivery Charge की भी अहम भूमिका होती है। क्‍योंकि इसमें आपको ये भी बताना होता है कि आप उस सामान का डिलीवरी चार्ज ग्राहक से लेंगे या उसे फ्री में Deliver करेंगे। साथ ही यदि आप चार्ज लेते भी हैं तो आपको फ्लिपकार्ट की तरफ से तय चार्ज ही लेना होगा।

लेकिन हमारा सुझाव रहेगा कि आप केवल छोटे एंव सस्‍ते सामानों पर ही डिलीवरी चार्ज लगाएं। जो भी महंगे सामान होते हैं उन्‍हें हमेशा फ्री डिलीवरी चार्ज में रखें। भले ही आप उसे सामान के दाम में से निकाल लें। क्‍योंकि कई बार ग्राहक ये देखकर पीछे हट जाता है कि आपके सामान पर तो डिलीवरी चार्ज लगेगा। जबकि कोई और उसे फ्री डिलीवरी चार्ज के साथ दे रहा है।

Flipkart Delivery Types

Flipkart Delivery Service (ekart)

फ्लिपकार्ट का सामान भेजने का पहला तरीका ये है कि उसकी खुद की एक डिलीवरी कंपनी है। जिसका नाम है ekart जिसकी मदद से आप अपना सामान भेज सकते हैं। लेकिन इसके अदंर शर्त ये रहती है कि आप केवल वही सामान भेज सकते हैं। जो कि दो पहिया वाहन पर जाना संभव हो। क्‍योंकि इस सर्विस के अंदर बड़े सामान ले जाना संभव नहीं होता है। इससे जुड़ी गाइडलाइन आपको वेबसाइट पर देखने को मिल जाएंगी।

Self Delivery Service

लेकिन यदि आपके पास कोई बड़ा सामान है। जो कि आपको लगता है कि मोटरसाइकिल पर जाना संभव नहीं है। जैसे कि फर्नीचर, मेज, कुर्सी आदि। तो ऐसे में आप उसे सेल्‍फ डिलीवरी यानि अपने आप भी पहुंचा सकते हैं। इसके लिए तरीका आपको खुद चुनना होगा। जिसकी मदद से आप ग्राहक तक पहुंचाना चाहते हैं।

इसके लिए आपको सबसे पहले फ्लिपकार्ट सेलर से इजाजत लेनी होती है। यदि आपको वहां से इजाजत मिल जाती है। तो आप इस काम को आसानी से कर सकते हैं। अन्‍यथा आप कभी भी सेल्‍फ डिलीवरी नहीं कर सकते हैं। हालांकि, यदि आप ऐसा करते हैं तो आपके सामान में होने वाली टूट फूट की जिम्‍मेदारी फ्लिपकार्ट कभी नहीं लेता है।

फ्लिपकार्ट कमीशन चार्ज

  • सबसे पहला कमीशन फ्लिपकार्ट का होता है। जो कि कैटेगरी और सामान के ऊपर होता है। इसे आप flipkart पर देख सकते हैं।
  • यदि हम डिलीवरी चार्ज की बात करें तो यह सामान की लंबाई और चौडाई के ऊपर निर्भर करता है। साथ ही आपका सामान कहां से कहां जाने वाला है। इस बात पर भी निर्भर करता है।
  • पेमेंट में यद‍ि आपका ग्राहक ऑनलाइन पेमेंट करता है। तो आपसे कम चार्ज किया जाएगा। लेकिन यदि आप वह कैश में पेमेंट करता है तो आपको उसका कुछ ज्‍यादा चार्ज किया जाएगा।
  • फ्लिपकार्ट पर सेलर की बिक्री के हिसाब से वो कई भागों में बंटे होते हैं। जिनसे उनका कमीशन भी प्रभावित होता है।

ध्‍यान देने योग्य बातें

  • जब भी फ्लिपकार्ट पर सेलर बनें तो उससे पहले आप ये देख लें कि फ्लिपकार्ट को बनाने का मकसद क्‍या है। क्‍यों‍कि फ्लिपकार्ट के यदि मकसद को आप नहीं समझ पाते तो कभी कामयाब सेलर नहीं बन सकते हैं।
  • हमेशा कोशिश करें कि आप अपने ग्राहक को सामान की अच्‍छी पैकिंग करके भेजें। इससे सामान की टूट फूट से बचाव होता है। साथ ही ग्राहक आपको अच्‍छी रेटिंग देता है।
  • जब भी वेबसाइट पर अपने सामान की जानकारी साझा करें तो हमेशा सही जानकारी ही दें। लोक लुभावन के लिए आप कभी गलत जानकारी ना साझा करें।
  • ये बात आपको पता होनी चाहिए कि ऑनलाइन लोग कौन सी चीजें खरीदना सबसे ज्‍यादा पसंद करते हैं। आप हमेशा उन चीजों का सबसे ज्‍यादा स्‍टॉक रखें।
  • कहते हैं कि ‘जो दिखता है वही बिकता है’ इसलिए आप हमेशा अपने सामान की तस्‍वीर और उससे जुड़ी जानकारी बेहद शानदार या किसी Expert से ही बनवाएं।
  • अपनी बिक्री बढ़वाने के लिए आपको अपने उत्‍पाद को सोशल मीडिया या अन्‍य जगहों पर शेयर भी अवश्‍य रूप से करना चाहिए।
  • आपने जो भी सामान लिस्‍ट किए हैं। कई बार ग्राहक उनसे जुड़े कुछ सवाल भी पूछते हैं। इसलिए जरूरी है कि आपको उन सवालों के जवाब जल्‍दी से जल्‍दी दें।
  • कोशिश करें कि आपने अपने Store में सामान का खूब भंडारण रखें। खास तौर पर बिक्री के सीजन में। क्‍योंक‍ि यदि आपका सामान ज्‍यादातर समय Out Of Stock ही रहेगा तो उससे नकारात्‍मक प्रभाव पड़ेगा।
  • यदि आपका कोई ग्राहक सामान को वापिस कर देता है तो उसे नए ग्राहक को बेचने से पहले अच्‍छे से जांच कर लें। क्‍योंकि सामान की वापसी में आपको सबसे ज्‍यादा नुकसान उठाना पड़ता है।
  • नए सेलर होने के बाद भी आप इस बात से निश्चित रहें कि आपको नुकसान होगा। फ्लिपकार्ट एक भरोसेमंद कंपनी है। जो ग्राहकों और सेलर दोनों का ध्‍यान रखती है।

इसे भी पढ़ें: TOP 10 होलसेल बिज़नेस आईडिया?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बनें। इसे जानने के बाद आप फ्लिपकार्ट वेबसाइट के माध्‍यम से अपना सामान आसानी से ऑनलाइन बेच सकते हैं। जिसके बाद आप सही मायने में दिन दोगुनी और रात चौगुनी तरक्‍की कर सकते हैं। क्‍योंकि ज्‍यादातर लोग फ्लिपकार्ट पर रात के समय ही आर्डर बुक करते हैं।

यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी शेयर करें। साथ ही इस लेख से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करें।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल वोट 360

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment