गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें?

4.4
(374)

Ganv Me Mashinari Ka Business: ऐसा माना जाता है कि गांव में बिजनेस को शुरू करना और चलाना काफी मुश्किल काम है। क्‍योंकि गांव के लोगों के पास इतने पैसे नहीं होते हैं क‍ि वो लग्‍जरी चीजें खरीद सकें या उनका खर्च उठा सकें। लेकिन सही मायने में आप गांव में भी बेहद आसानी से बिजनेस कर सकते हैं। बस आपको गांव के लोगों की जरूरतें और मांग पता हो।

ऐसे में यदि आप भी जानना चाहते हैं कि गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें। गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे कामयाब हो सकता है। तो हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें। अपने इस लेख में हम आपको जानकारी देंगे कि गांव में मशीनरी बिजनेस की आप शुरूआत कैसे कर सकते हैं। उसमें क्‍या क्‍या सावधानी रखनी होती हैं।

मशीनरी बिजनेस क्‍या होता है?

गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें इसके बारे में हम आपको जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको जानकारी देते हैं कि मशीनरी बिजनेस किसे कहते हैं। क्‍योंकि जब तक आप मशीनरी बिजनेस को ही नहीं समझ पाएंगे तो उसे शुरू कैसे करेंगे।

इसे आप इस तरह से समझ सकते हैं कि ये वो बिजनेस होता है जिसके अंदर किसी तरह से मशीन का प्रयोग हो। साथ ही आप मशीन की मदद से किसी तरह का उत्‍पादन करें या उसे किसी तरह से बाजार में बेचें। कुल मिलाकर जिसके अंदर भी मशीन का प्रयोग होता है उसे हम मशीनरी बिजनेस कह सकते हैं।

गाँव मे क्या बिजनेस करें

इसे भी पढ़ें: अगरबत्ती का बिजनेस कैसे शुरू करें?

गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे करें?

आइए अब आपको हम मूल सवाल का जवाब देते हैं कि गाँव मे क्या बिजनेस करें। इसके अंदर आपको हम कई तरह के बिजनेस की जानकारी देंगे। जिनको शुरू करने का तरीका और लागत अलग अलग होगी। इसलिए आप केवल उसी बिजनेस को शुरू करें जिसके अंदर आपको दिखाई दे कि आप उसमें सफल हो सकते हैं। जबरदस्‍ती कभी किसी बिजनेस को ना शुरू करें।

सरसों के तेल की मशीन

गांव में खेतों में सरसों अवश्‍य बोई जाती है। इसके बाद गांव के लोग उसे चक्‍की पर लेकर जाते हैं। जहां उसका तेल निकाला जाता है। जिसे बाद में घरों में प्रयोग किया जाता है या बाजार में बेच दिया जाता है। आप यदि गांव में किसी तरह का बिजनेस करना चाहते हैं तो आप सरसों की मशीन खरीद सकते हैं। इस मशीन की खास बात ये है कि ये आपको सस्‍ती ही मिल जाएगी। बस आपको इसे चलाना सीखना होगा।

इसके बाद आपको गांव के लोग अपने खेत में हुई सरसों देकर जाएंगे और आप उससे तेल निकालकर उन्‍हें दे देंगे। खास बात ये है कि ये बिजनेस पूरे साल चलता रहेगा। क्‍योंकि बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो कि अपने घर में सरसों रखते हें और समय समय पर उससे तेल निकलवाते रहते हैं। जिसे वो घर में प्रयोग करते हैं। ज्‍यादा आमदनी के लिए आप सरसों खरीदकर उससे तेल निकालकर बाजार में भी सीधा बेच सकते हैं।

आटा चक्‍की का बिजनेस

आटा चक्‍की हम सभी ने देखी होगी। लेकिन आज के स्‍मार्ट युग में लोग इसे एक तरह से अनदेखा करने लगे हैं। इसलिए यदि आप चाहें तो अपने घर में ही आटा चक्‍की भी लगा सकते हैं। जिसके बाद आप गांव के लोग आपको गेंहू देकर जाएंगे और आप उन्‍हें पीस कर दे देंगे। इसके लिए आप एक आटा चक्‍की और एक बड़ा तराजू खरीद लीजिए। साथ ही अपने घर में आटा चक्‍की चलाने के लिए बड़ा मीटर लगवा लीजिए।

बस फिर जैसे जैसे लोग आपको अपना गेंहू देकर जाते रहेंगे आप उसे पीसते रहेंगे। इसी से आपकी कमाई होगी। खास बात ये है कि गांव में सभी लोगों के खेत में गेहं होता है और सभी लोग उसे ही खाते हैं। इससे आप समझ सकते हैं कि आपका बिजनेस कितनी तेजी से आगे बढ़ेगा। बस आप गेहूं को अच्‍छे से पीसने का काम करें।

मसाला पीसने का बिजनेस

मसाले पीसने की मशीन हो सकता है आपने कहीं कहीं ना कहीं जरूर देखी हो। यदि नहीं देखी तो हम आपको बता दें कि इसका छोटा रूप मिक्‍सी होती है। गांव में आप मसाला पीसने की मशीन खरीदकर इसका बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं। इसके अंदर आपको साबत मसाले जो खेत में होते हैं उसे बारीक से पीस दिया जाता है।

खास बात ये है कि आज के समय में काफी लोग ऐसे हैं जो बाजार से भी साबत मसाला खरीदते हैं और इसके बाद उसे पिसवा के खाते हैं। क्‍योंकि जो पैकेट में बंद मसाले आते हैं कहा जाता है कि उनमें पोषक तत्‍वों की कमी होती है। इसलिए इस बात से निश्‍चित रहें कि आपको काम की कमी रहेगी। बस आपको काम करने की ललक होनी चाहिए। साथ ही आपका लोगों से संबध अच्‍छा हो।

सेवई बनाने का बिजनेस

अपने घर में सेवई आपने कई बार खाई होगी। लेकिन क्‍या आपने कभी सोचा है कि इसे लोाग कैसे बनाते हैं। यह भी गांव का एक बेहद अच्‍छा बिजनेस हो सकता है। क्‍योंकि सेवई बनाने की एक छोटी सी मशीन होती है। उससे उसे आकार देने का काम किया जाता है। इसके बाद उसे धूप में सूखाकर बाजार में बेचा जाता है। ये काम सबसे ज्‍यादा गांव में ही किया जाता है।

इसके लिए आप उस मशीन को खरीद लीजिए। इसके बाद आप घर में ही अपना काम शुरू कर दीजिए। यदि आपको सेवई बनानी नहीं आती है तो इसके लिए आपको घबराने की जरूरत नहीं है। ये काम आप इंटरनेट की मदद से भी सीख सकते हैं। इसके बाद कच्‍चा माल लाइए और उससे सेवई बनाइए और फिर बाजार में बेच दीजिए।

चप्‍पल बनाने का बिजनेस

अगर आप गांव में रहकर थोड़ी ज्‍यादा आमदनी करना चाहते हैं या लोगों को रोजगार भी देना चाहते हैं तो आप चप्पल बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। इसके लिए आप एक चप्‍पल बनाने की मशीन खरीद लाइए और चप्पल बनाने का कच्‍चा माल। कच्‍चे माल में आपको चप्‍पल का एक बड़ा सा रबड़ जैसे चटाई होती है। खरीदना होगा।

बस उसको आपको चप्‍पल के आकार की तरह मशीन से काट लेना होगा। उसके बाद उसमें बाधी डाल देनी होगी। इसके बाद फिनिशिंग करके बाजार में बेच देना होगा। यह एक ऐसा काम है जिसके अंदर आपकी लागत तो हम 30 से 40 रूपए लगेगी। लेकिन आप उसे बाजार में 100 रूपए से भी ज्‍यादा में बेच सकते हैं। और चप्‍पल का बाजार कितना बड़ा है ये शायद आप हमसे बेहतर जानते होंगे।

बिंदी पैकिंग का बिजनेस

गांव में करने वाला सबसे बेहतर बिजनेस में आप बिंदी पैकिंग का बिजनेस भी कर सकते हैं। खास तौर पर जो महिलाएं हैं और वो बाहर जाकर काम नहीं करना चाहती हैं वो इस काम को आसानी से कर सकती हैं। इसके अंदर आपको बाजार से बिंदी खरीदकर लानी होगी और उसे पैक करने का सामान। इसके बाद आप अपने घर में उसे पैक करते जाइए। अंत में उसे बाजार में दे आइए और आगे फिर से कच्‍चा माल खरीद लाइए।

यदि आपको बिंदी पैकिंग नहीं आती है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप इसे इंटरनेट पर विडियो देखकर भी सीख सकते हैं। साथ ही इस काम की खास बात ये है कि इसके अंदर आपको किसी तरह की मेहतन भी नहीं करनी होगी। बस आप एक जगह बैठिए और जब चाहे जितना चाहे आप काम करते रहिए। यह काम पूरी तरह से 12 महीने चलने वाला है और सबसे आसान भी है।

मोमबत्‍ती बनाने का बिजनेस

गांव में रहकर आप मोमबत्‍ती का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं। इसके अंदर आपको महज 50 हजार रूपए की शुरूआती लागत लगानी होगी। इसके बाद आप आसानी से मोमबत्‍ती बनाइए और बाजार में बेच दीजिए। खास बात ये है कि इसे आप अपने समय के मुताबिक भी कर सकते हैं।

इस काम के महत्‍व को आप इस तरह से समझ सकते हैं कि आज के समय में शायद ही किसी घर में दीए का प्रयोग होता हो। इसलिए चाहे कोई गरीब आदमी हो या अमीर। हर कोई मोमबत्‍ती का प्रयोग ही करता है। खास बात ये है कि आप के समय में मोमबत्‍ती का प्रयोग जन्‍मदिन, शादी विवाह में फैशन के तौर पर भी होने लगा है। जिससे इसकी मांग काफी ज्‍यादा बढ़ गई है।

कापी बनाने का बिजनेस

आपने अपने बचपन में कापियों का प्रयोग अवश्‍य किया होगा। इसलिए यदि आप बड़े होकर चाहें तो कापी बनाने का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं। कापी बनाने का बिजनेस बेहद आसानी से शुरू किया जा सकता है। इसके लिए आपको इससे जुड़ी कुछ मशीनें और कुछ सामान खरीदने होंगे। बस फिर आप एक कुछ लोगों की टीम बनाइए और कापी बनाने का काम शुरू कर दीजिए।

खास बात ये है कि इसे आप चाहें तो सीधा अपने आसपास की दुकानों में भी बेच सकते हैं। क्‍योंकि कापी खरीदते समय बेहद ही कम लोग होते हैं जो ब्रांड देखते हैं। इसलिए इसे बनाने के साथ बेचना भी बेहद ही आसान काम है। यदि आपकी फैक्‍ट्री के बारे में लोग जानने लगेंगे तो आप देखेंगे कि लोग सीधा आपकी फैक्‍ट्री में से ही कापी खरीदकर ले जाने लगे हैं।

पानी का इंजन

ग्रामीण इलाके जहां पानी की कमी रहती है वहां अक्‍सर खेतों में पानी की समस्‍या बनी रहती है। इसलिए यदि आप चाहें तो अपने गांव में खेतों के बीच पानी का एक बड़ा सा ट्वेबेल लगवा सकते हैं। जिससे जब भी किसी को अपने खेत में पानी देना होगा तो आपसे कह देगा और आप ट्वेबवेल चलाकर पानी दे सकते हैं।

इसके लिए आप एक बड़ी सी पाइप खरीद लीजिए। साथ ही अपने पास डीजल रखने के लिए एक ड्राम भी खरीद लीजिए। जिसमें आप डीजल भर कर रख लें। क्‍योंकि गांव में कई बार देखा जाता है कि पंप पर भी तेल खत्‍म हो जाता है। इसके बाद जब भी किसी को खेत में पानी लगाना हो आप उसके लिए अपना ट्वेबवेल चला दीजिए और घंटे के हिसाब से पैसे ले लीजिए। सूखे या रेगिस्‍तान से जुड़े इलाकों में यह अच्‍छा बिजनेस हो सकता है।

ट्रैक्‍टर का बिजनेस

ग्रामीण इलाकों में ट्रैक्‍टर का काम सबसे ज्‍यादा होता है। इसलिए यदि आपके पास कुछ लाख रूपए हैं तो आप ट्रैक्‍टर खरीदकर उससे अपना बिजनेस कर सकते हैं। इसके अंदर आप जरूरी नहीं है कि आप केवल बड़ा ट्रैक्‍टर ही खरीदें। आप ट्रैक्‍टर के साथ के साथ ट्रेली भी अवश्‍य खरीद लें।

इसके बाद आप अपने आसपास जो भी माल को ढुलाई का काम हो उसे कर सकते हैं। लेकिन यदि आपके पास पैसा है या आपकी उससे आमदनी होती है तो आप खेती में प्रयोग होने वाले और भी औजार खरीद सकते हैं। इससे आपके काम का विस्‍तार तो होगा ही साथ ही आपकी आमदनी भी बढ़ेगी। क्‍योंकि आपके किसी ना किसी यंत्र की मांग खेतों में हमेशा बनी ही रहेगी।

टेम्‍पू का काम

अपने गांव में आपने टेम्‍पू हर जगह चलते देखे होंगे। जिसे कहीं भी जाना होता है वो टेम्‍पू की मदद से आसानी से आसपास जा सकता है। इसलिए यदि आप काम करना चाहें तो आप टेम्‍पू भी खरीद सकते हैं। उससे आप एक रूट तय कर लीजिए। रूट ऐसा तय कीजिए जहां टेम्‍पू भी कम जाते हों और सवारी भी सबसे ज्‍यादा मिलती हो।

खास बात ये है कि आज के समय में बैटरी वाले टेम्‍पू भी आ चुके हैं। जो कि सस्‍ते के सस्‍ते पड़ते हैं साथ ही उनमें आपका खर्चा भी कम होता है। बस रात में उसे चार्ज करो और दिनभर आसानी से काम करो। यदि आपको टेम्‍पू चलाना नहीं आता है या आपके पास लाइसेंस नहीं है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप इन सब कामों को महज एक महीने में पूरा कर सकते हैं। टेम्‍पू खरीदने के लिए सरकार की इस समय कई योजनाएं भी चल रही हैं। जिनसे वो सस्‍ता पड़ सकता है। जिससे आपको वो किस्‍त पर मिल जाएगा।

टेन्‍ट का बिजनेस

एक समय था जब गांव के लोग कोई भी कार्यक्रम होता था तो सभी लोग खुद ही मिलकर कर लेते थे। लेकिन ना तो आज वो समय रहा ना ही वो लोग। हर कोई सीधा टेन्‍ट वाला बुला लेता है। इसलिए यदि आप भी चाहें तो अपना टेन्‍ट का काम शुरू कर सकते हैं। जिसे आप शदी विवाह में लगाकर पैसे कमा सकते हैं।

टेन्‍ट का काम शुरू करने के लिए आपको एक टेन्‍ट खरीदना होगा। उसके बाद कुछ लाइटें और जनरेटर खरीदना होगा। बस फिर जो भी आदमी शादी में बुलाए आप वहां अपनी पूरी व्‍यवस्‍था के साथ पहुंच जाइए। हालां‍कि ये काम केवल सीजन में चलने वाला होता है। लेकिन इसकी खास बात ये रहती है कि आप सीजन के समय कभी खाली नहीं बैठेंगे। क्‍योंकि वो एक ऐसा समय होता है। जब लोगों को टेन्‍ट वाले ही नहीं मिलते हैं। जैसे ही आपकी आमदनी बढ़े आप एक टेक्‍टर खरीद लीजिए और अपनी सेवाएं कई किलोमीटर दूर तक दे सकते हैं। बस ध्‍यान इस बात का रखिए कि आपके काम में कोई कमी ना रहे। जिससे आयोनकर्ता की इज्‍जत ना चली जाए।

सिलाई मशीन का बिजनेस

यदि आप महिला हैं और सिलाई का काम जानती हैं तो आप गांव में रहकर ही सिलाई मशीन का बिजनेस शुरू कर सकती हैं। इसके लिए जरूरी है कि आपको सिलाई आती हो। लेकिन यदि आपको सिलाई नहीं आती है तो आज के समय में बहुत सारे सेंटर खुल चुके हैं। आप वहां जाकर कम फीस में सिलाई काम काम सीख सकती हैं।

इसके बाद अपने घर में एक सिलाई मशीन खरीद लीजिए। उससे सिलाई की शुरूआत कर सकती हैं। शुरूआत में आप अपने घर और आसपास के लोगों के कपड़े सीलने की शुरूआत कीजिए। इसके बाद धीरे धीरे लोगों को जैसे आपके काम के बारे में लोगों को पता चलेगा लोग आपके पास आने लगेंगे। और आगे चलकर आप एक दुकान भी खोल सकते हैं।

लेकिन यदि आप पुरूष हैं और सिलाई का काम करना चाहते हैं तो आप घर पर रहकर कभी नहीं कर सकते हैं। आपको बाजार में एक दुकान लेनी होगी और वहां बोर्ड लगाकर सीधा बड़े स्‍तर पर काम शुरू करना होगा।

इसे भी पढ़ें: सिलाई सीखने का कोर्स कैसे करें?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि गाँव मे मशीनरी बिजनेस कैसे शुरू करें और इसमें कितनी लागत आएगी। अब आप अपने दिमाग से तय कीजिए कि आप कौन सा बिजनेस अपने गांव में रहकर आसानी से कर सकते हैं। हम तो बस आपसे इतना कहेंगे कि इस डर से खाली कभी ना बैठें कि कहीं नुकसान ना हो जाए। अगर आपको फायदा नहीं होगा तो कम से कम अनुभव तो‍ मिलेगा। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो हमें नीचे कमेंट करें। हम आपके सवाल का जवाब अवश्‍य देंगे।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.4 / 5. कुल वोट 374

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment