Khad ki dukan kaise khole | खाद का बिजनेस कैसे करें?

4.6
(485)

Khad ki dukan kaise khole: भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां राज्‍यों की सीमाओं के साथ फसलें जरूर बदल जाती हैं। पर लोगों का काम खेती ही रहता है। इससे कहा जा सकता है कि भारत एक बहुत बड़ा कृषि बाजार भी है। जो इसे समझ जाता है तो इस बिजनेस में उतर जाता है और एक सफल बिजनेसमैन बन जाता है।

ऐसे में यदि आप भी जानना चाहते हैं कि Khad ki dukan kaise khole तो हमारे इस लेख को अंत तक पढि़ए। अपने इस लेख में हम आपको जानकारी देंगे कि आप कैसे अपनी खाद और बीज की दुकान खोल सकते हैं। इसके लिए योग्यता, लागत और मुनाफा कितना होगा।

Contents show

खाद बीज की दुकान क्‍या होती है?

Khad ki dukan kaise khole इसके बारे में हम आपको जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको जानकारी देते हैं कि खाद बीज की दुकान क्‍या होती है। तो जैसा कि आप नाम से ही समझ सकते हैं कि खाद बीज को बेचने के लिए यह दुकान होती है। इसके अंदर आपको खेती में प्रयोग होने वाले तमाम बीज, खाद और कीटनाश्‍क दवाइयां मिलती हैं। जिसे आप अपने शहर में भी आसानी से देख सकते हैं।

इन चीजों को खरीदकर किसान अपने खेतों में छिड़काव करता है। जिससे उसकी फसल का अच्‍छा उत्‍पादन होता है। खास बात ये है कि आज भी खाद बीज की दुकान बेहद कम मौजूद हैं। आप इसे बस मुख्‍य बाजारों में ही देख सकते हैं। इसलिए कहा जा सकता है कि इसके अंदर आज भी बहुत सारी संभावनाएं मौजूद हैं। बस कोई काम करने वाला आदमी हो।

खाद का बिजनेस कैसे करें

Khad ki dukan kaise khole

आइए अब हम आपको आगे पूरी जानकारी देते हैं कि यदि आप खाद बीज की दुकान खोलना चाहते हैं तो आप उसे कैसे खोल सकते हैं। उसके लिए आपके पास क्‍या योग्यता होनी चाहिए। साथ ही इस काम में कुल कितनी लागत आएगी। साथ ही आपको किन चीजों का ध्‍यान रखना चाहिए।

खाद बीज से जुड़ी जानकारी जुटाएं

यदि आप पहले से किसान हैं तो जाहिर सी बात है कि आपके पास खेती में प्रयोग होने वाले हर खाद बीज की जानकारी होगी। लेकिन यदि आप किसान नहीं हैं तो आपके पास ये जानकारी नहीं होगी। जबकि आपको इस बिजनेस में उतरने से पहले इस बात की जानकारी होनी जरूरी है। क्‍योंकि बिना जानकारी के आप कभी इस बिजनेस में सफल नहीं हो सकते हैं।

इसके लिए सबसे सही तरीका है कि आप अपने आसपास जो भी खाद बीज की दुकान हो आप वहां कुछ महीने काम कर लीजिए। इससे आपको खाद बीज के बारे में तो जानकारी हो ही जाएगी। साथ ही आपको इसके बिजनेस की भी जानकारी हो जाएगी। इस काम में आप पैसों का लोभ ना करके केवल काम कर लीजिए। फिर चाहे आपको दुकान वाला 8 हजार महीना दे या 10 हजार। जैसे ही आपको काम की जानकारी हो जाए आप उसे छोड़ दीजिए। लेकिन जब आप दुकानदार से काम मांगने जाएं तो उसे अपना मकसद ना बताएं। अन्‍यथा वो आपको काम नहीं देगा।

जगह का चुनाव करें

इसके बाद आपको खाद बीज की दुकान खोलने के लिए सबसे पहले जगह का चुनाव करना होगा। जगह के चुनाव में सबसे अहम होता है कि आप किसी ऐसे रास्‍ते पर अपनी दुकान खोल लें जहां सबसे ज्‍यादा किसान आते हों। जैसे कि गांव से मंडी को जाने वाला रास्‍ता। इसके अलावा आप चाहें तो अपनी दुकान मंडी के आसपास भी खोल सकते हैं। वहां भी किसानों का आवागमन लगा ही रहता है।

लेकिन यदि इन जगहों में से कहीं भी आपके पास खुद की जमीन है तो आपके लिए सबसे बेहतर वही जगह होगी। अन्‍यथा यदि आपके पास पैसा है तो आप इन जगहों पर अपनी दुकान खरीद भी सकते हैं। क्‍योंकि यदि आपका काम ना भी चला तो आप उसे किराए पर तो लगा ही सकते हैं। इससे आपको कभी नुकसान नहीं होगा।

दुकान खोलने के लिए लोन कैसे लें?

यदि आपके पास पैसा कम पड़ता है तो आप इसके लिए बैंक से या सरकारी योजनाओं की मदद से लोन भी ले सकते हैं। इसके लिए आपको सभी दस्‍तावेजों के साथ बैंक जाना होगा। वहां आपको लोन के लिए आवेदन करना होगा। इसके कुछ हप्‍तों बाद आपका लोन पास कर दिया जाएगा। इसके बाद आप अपना काम आगे बढ़ा सकते हैं।

यदि आप लोन के साथ नहीं जाना चाहते हैं तो आप अपनी दुकान किसी के साथ साझेदारी में भी खोल सकते हैं। जहां से आपको पैसों में काफी हद तक मदद हो जाएगी। इसके बाद आप दोनों लोग मिलकर अपने काम को आगे बढ़ा सकता है। लेकिन ये तरीके आप केवल पैसा कम होने पर ही अपनाएं।

इसे भी पढ़ें: बिग बिज़नेस आइडियाज इन हिंदी 2022

खाद बीज का लाइसेंस लें

यदि आपने अपनी दुकान का चुनाव कर लिया है तो आपको अब अपने लिए लाइसेंस का आवेदन करना होगा। क्‍योंकि बिना लाइसेंस के आप खाद बीज की दुकान नहीं खोल सकते हैं। इसके लिए आप अपने नजदीकी कृषि केन्‍द्र जा सकते हैं। जहां आपको लाइसेंस की पूरी जानकारी दे दी जाएगी। साथ ही उसका फार्म भी दे दिया जाएगा।

इसके अलावा कई राज्‍यों में ऑनलाइन व्‍यवस्‍था भी है। आप इसकी जानकारी कृषि केन्‍द्र से पता कर सकते हैं। कृषि केन्‍द्र हर जिले में होता है। बस लाइसेंस बनवाते समय आप हमेशा फुल लाइसेंस ही बनवाएं। दूसरे लाइसेंस में आप कुछ सीमित कंपनियों के खाद और बीज ही बेच सकते हो।

लाइसेंस लेने की योग्यता

यदि हम लाइसेंस लेने की योग्यता की बात करें तो यह जानना आपके लिए सबसे अहम है। क्‍योंकि बिना योग्यता पूरी किए आपको लाइसेंस नहीं दिया जाएगा। इसमें यदि आप बीज का लाइसेंस लेते हैं तो आपको कम से कम दसवीं पास होना जरूरी है। इसके बिना आपको ये लाइसेंस नहीं दिया जाएगा। साथ ही आपको जो लाइसेंस दिया जाता है। वह कुल 3 साल तक मान्‍य होता है। जिसके बाद आपको इसकी समय सीमा आगे बढ़वानी होती है। इसकी फीस लगभग 1 हजार रूपए के आसपास होती है। यह हर राज्‍य में बढ़ती घटती रहती है।

खाद का लाइसेंस लेने की योग्यता

यदि हम खाद के लाइसेंस की योग्यता की बात करें तो इसके लिए आपको कम से कम बीएससी एग्रीकल्‍चर (Bsc Agriculture) या कैमेस्‍ट्री (Chemistry) से किया होना चाहिए। इसके बिना आप ये लाइसेंस नहीं बनवा सकते हैं। यह लाइसेंस भी कुल तीन साल तक के लिए होता है। इसके बाद आपको इसे आगे बढ़वाना होता है। इसकी फीस भी लगभग एक हजार रूपए के आसपास होती है।

कीटनाशक का लाइसेंस

कीटनाशक दवाइयों का लाइसेंस लेने के लिए भी आपके पास बीएससी की डिग्री एग्रीकल्‍चर या कैमेस्‍ट्री से पूरी होनी चाहिए। यह लाइसेंस कुल दो साल तक के लिए वैध होता है। इसके बाद आपको इसे आगे बढ़वाना होता है। तभी आपको कीटनाशक दवाइयां बेचने की अनुमति मिलती है। इसकी फीस भी एक हजार के आसपास होती है। साथ ही समय पूरा होने के बाद आपको इसे आगे बढ़वाना होता है।

बीएससी के बिना लाइसेंस कैसे लें?

अब आपको जहन में भी ये सवाल आ रहा होगा कि आपके पास तो बीएससी है ही नहीं तो क्‍या आप खाद बीज की दुकान नहीं खोल सकते हैं। क्‍योंकि अक्‍सर ग्रामीण परिवेश से आने वाले लोग इतने पढ़े लिखे नहीं होते हैं। तो इसका पहला समाधान ये है कि यदि आपके पास किसी भी विषय में सामान्‍य डिग्री जैसे कि बीए, बीकॉम आदि है तो आपको कृषि केन्‍द्र में जाकर 1 महीने के ट्रेनिंग कार्यक्रम का हिस्‍सा बनना पड़ेगा। ये कार्यक्रम समय समय पर आयोजित करवाए जाते हैं। इसके बाद आपको इसका प्रमाण पत्र दे दिया जाएगा। जिसके बाद आप लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

अनपढ़ आदमी लाइसेंस कैसे ले?

लेकिन यदि आप दसवीं ही पढ़ें हैं या अनपढ़ ही हैं। तो आपके लिए सबसे सही रास्‍ता ये है कि आप अपनी दुकान में कोई ऐसा साझेदार बनवा लीजिए। जो कि लाइसेंस की योग्यता पूरी करता हो। यदि ये संभव नहीं है तो आप अपनी दुकान में कोई ऐसा कर्मचारी रख लीजिए। जिसके पास ये सभी डिग्री हों। आप उसके नाम पर लाइसेंस ले लीजिए।

इसके बाद वो आपकी दुकान में काम करेगा और उसे हर महीने की तनख्‍वाह देंगे। आपका काम बन जाएगा और उसको रोजगार मिल जाएगा। लेकिन ध्‍यान इस बात का रखिए कि आपने जिसके नाम से लाइसेंस बनवाया है वो आपकी दुकान पर ही रहना चाहिए। क्‍योंकि समय समय पर कृषि विभाग के लोग आपकी दुकान की जांच भी करते हैं।

लाइसेंस के लिए जरूरी दस्‍तावेज?

यदि हम लाइसेंस के लिए जरूरी दस्‍तावेज की बात करें तो इसके अंदर आपको अपना आधार कार्ड, पैन कार्ड, जीएसटी नंबर और अपनी योग्यता से जुड़े प्रमाण पत्र देने होते हैं। इसके अलावा यदि आपकी दुकान किराए पर है तो आपको दुकान के मालिक के साथ अपना Rent agriment या अपनी दुकान के कागजात देने होते हैं। इसके बाद आपको लाइसेंस 15 से 20 दिनों में दे दिया जाता है। इन दस्‍तावेजों की जानकारी आपको कृषि केन्‍द्र में भी दे दी जाएगी।

खाद बीज का सामान खरीदें

जब आपको लाइसेंस मिल जाता है। तो आपके लिए सबसे अहम हो जाता है कि आप अब बाजार से खाद बीज का सामान खरीद लें। जो कि आप अपनी दुकान पर बेचेंगे। इसके लिए आपको कहीं दूर जाने की जरूरत नहीं है। हर जिले में हर कंपनी का एक डीलर होता है। आपको उससे संपर्क करना होगा। इसके बाद आपको जितना भी सामान खरीदना है। आप उसे खरीद लीजिए।

इसके बाद आप उसे ट्रक में भरकर अपने दुकान में रखवा लीजिए। सामान खरीदते समय आप अपने बजट का ध्‍यान अवश्‍य रखिए। क्‍योंकि यदि आप सारा बजट एक बार में ही खत्‍म कर देंगे तो आपको आगे परेशानी हो सकती है। ये परेशानी आपको पहली बार ही होगी। इसके बाद तो डीलर खुद आपकी दुकान पर आएंगे और सामान देकर जाएंगे।

लोगों की नियुक्ति करें

इसके बाद आपको जरूरी होता है कि आप अपनी दुकान में एक दो लोगों को काम पर रख लें। यदि आपके घर में पहले से कई लोग हैं जो खाली हैं। तो आप बाहर के आदमी की बजाय उसे की दुकान पर लगा लें। लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो आप जरूरत के मुताबिक एक या दो लोगों को जरूर रख लें। क्‍योंकि खाद और बीज के कई बोरे इतने वजनी होते हैं कि उसे एक आदमी अकेला नहीं उठा सकता है।

इसलिए यदि ग्राहक आपसे कहता है कि इसे गाड़ी में रखवा दो तो आपको लोगों की जरूरत अवश्‍य पड़ेगी। इसलिए हमारा कहना है कि इस वहम में ना रहें कि आप अकेले ही सारा काम संभाल लेंगे। इससे आपको ग्राहक के सामने शर्मिदा होना पड़ेगा।

दुकान की शुरूआत करें

इसके बाद जब आप पूरी तरह से तैयार हो जाते हैं तो आपकी दुकान की शुरूआत करने की बारी आती है। इसके लिए आप सबसे पहले कोई शुभ दिन चुन लीजिए। बस फिर उस दिन आप अपनी दुकान के बाहर टेंट लगवा दीजिए और लोगों के खान पान का प्रबंध कर दीजिए। लोग आएंगे और खाएंगे, इसी बहाने आपकी दुकान के बारे में भी जानकारी जुटा ले जाएंगे। इसके बाद तो मुंह से मंह आपकी दुकान का चर्चा हर किसान के घर तक पहुंच जाएगी।

दुकान की मार्केटिंग करें

इसके बाद बारी आती है कि आपकी दुकान की मार्केटिंग करने की। इसमें आप सबसे पहले अपनी दुकान के बाहर एक बड़ा सा बोर्ड लगवा दीजिए। जिसके ऊपर आपकी दुकान का बड़े बड़े अक्षरों में नाम लिखा हो। साथ ही यदि संभव हो तो आपकी दुकान जिस सड़क पर है तो वहां भी आसपास बोर्ड लगवा दीजिए। जिससे दूर से ही लोग आपकी दुकान के बारे में जान जाएंगे। इसके अलावा यदि संभव हो आप कुछ समय तक 10 प्रतिशत की छूट का बोर्ड भी लगा दीजिए। जिससे आपके पास भारी मात्रा में ग्राहक आया करेंगे।

ऑनलाइन प्रचार कीजिए

इसके बाद आप अपनी दुकान का प्रचार ऑनलाइन माध्‍यम से भी कर सकते हैं। इसके अंदर आप अपनी दुकान के नाम से फेसबुक पेज और व्‍हट्सऐप ग्रुप और अन्‍य चीजें बना सकते हैं। अपनी दुकान को गूगल मैप में डाल सकते हैं। जिससे सीधे ग्राहक आपकी दुकान पर आ जाएं।

इस तरह से आप छोटी छोटी जानकारी अपने फेसबुक और व्‍हट्सऐप स्‍टेटस पर शेयर करते रहेंगे तो लोग आपकी दुकान के बारे में जानेंगे। लेकिन ध्‍यान इस बात का रखिए कि किसान भाई ज्‍यादातर कम पढ़े लिखे ही होते हैं। इसलिए अपनी हर जानकारी हिन्‍दी में ही साझा करें।

खाद बीज दुकान की लागत?

खाद बीज दुकान खोलने की लागत का कोई ऐसा रेट तय नहीं है जो हम आपको बता दें और उतने पैसे में दुकान खोल लें। लेकिन यदि हम इस बात का कहें कि यदि आप एक सामान्‍य दुकान खोलना चाहते हैं तो उसके लिए आपके पास कम से कम 3 से 5 लाख रूपए जरूर रखने होंगे। इसके बिना आप खाद बीज की दुकान नहीं खोल सकते हैं।

लेकिन यदि आपके पास और ज्‍यादा पैसे हैं तो आप उसे भी आराम से लगा सकते हैं। जिसमें आपका प्रचार और सामान खारीदना सबसे अहम होगा। क्‍योंकि आपके पास जितना ज्‍यादा सामान होगा। आपके पास उतने ज्‍यादा ग्राहक भी आएंगे।

खाद बीज की दुकान से आमदनी?

यदि हम खाद बीज की दुकान से आमदनी की बात करें तो यह भी कोई तय नहीं है। क्‍योंकि यह इस बात पर निर्भर करती है कि आपकी दुकान पर कितने ग्राहक आते हैं। साथ ही वो किस कंपनी का सामान खरीदते हैं। क्योंकि कुछ कंपनी आपको 3 प्रतिशत कमीशन देती हैं, तो कुछ 5 से 7 प्रतिशत कमीशन देती हैं।

इसलिए आपकी कमाई इस बात पर निर्भर करती है कि आपकी बिक्री सबसे ज्‍यादा कब और कौन से सामान की हुई। लेकिन यदि हम मोटा माटी बात करें तो इससे आप हर महीने कम से कम 30 से 50 हजार रूपए कमा सकते हैं। क्‍योंकि किसान हमेशा किलो दो किलो की बजाय एक साथ बहुत सारा सामान खरीदता है। जिससे सीधा फायदा आपको होता है।

खाद बीज के काम में नुकसान

ऐसा नहीं है कि आपने खाद बीज की दुकान खोल ली और आपको हमेशा फायदा ही फायदा होगा। इस काम में आपको नुकसान भी हो सकता है। इसमें सबसे पहला नुकसान तो ये है कि जो कीटनाशक दवइयां आती हैं। उनके खराब होने की तय अवधि होती है। जिसे हम लोग Expiry Date कहते हैं। यदि किसी सीजन में आपकी कोई दवाई नहीं बिकी तो वो सीधा अगले सीजन में बिकेगी। हो सकता है कि तब तक उसकी Expiry date आ जाए। तो इससे आपको नुकसान हो जाए।

इसके अलावा आपने जो बीज और खाद रखी है उनका भी एक सीजन होता है। यानि आपने गेहूं की बुआई के लिए बीज रखे हैं। पर सीजन में आपके आधे ही बीज बिके तो आपको इसमें भी नुकसान है। हांलाकि, आप अपने अनुभव का प्रयोग करके आप इस नुकसान को काफी हद तक कम कर सकते हैं।

ध्‍यान रखने योग्य बातें

  • कभी भी खाद बीज की दुकान गली, मोहल्‍ले में ना खोलें। इसके चलने में सबसे ज्‍यादा जगह का योगदान होता है।
  • आप जो भी दुकान लें उसमें अपना एक काउंटर और दवाइयां रखने के लिए कुछ बॉक्‍स अवश्‍य बनवा लें। जिससे आपकी दुकान में ज्‍यादा से ज्‍यादा सामान आ सके।
  • खाद बीज की दुकान पर ज्यादातर आपके ग्राहक फिक्‍स होते हैं। इसलिए उनसे अच्‍छा व्‍यवहार बनाने के लिए उनके लिए चाय आदि का प्रबंध अवश्‍य रखें।
  • खाद बीज की दुकान पर आने वाले किसान ज्‍यादातर अनपढ़ होते हैं। इसका फायदा उठाकर आप उन्‍हें Expiry date की दवाई ना दें। इससे आपके भविष्‍य में ग्राहक कम हो जाएंगे।
  • कोई भी किसान यदि आपसे यदि खाद, बीज या कीटनाशक पर सलाह ले तो उसे सही सलाह दें। ना कि अपना फायदा देखकर ही सलाह दें।
  • कोशिश करें कि आप हर ब्रांड की खाद और बीज के साथ कीटनाशक रखें। ता‍कि ग्राहक को आपसे पास से किसी और दुकान पर ना जाना पड़े।
  • यदि कोई ग्राहक किसी खास कंपनी की दवाई या खाद मांगता है तो उसे दूसरी कंपनी का लेने के लिए आग्रह ना करें। इससे उसके मन में आपके प्रति नफरत की भावना आ जाएगी।
  • यदि आपकी दुकान छोटी है तो उसके आसपास आप अपना कोई गोदाम भी बनाकर रखें। ताकि यदि किसी को भारी मात्रा में सामान लेना हो तो उसे गोदाम से दे दें।
  • कई कीटनाशक दवाइयां बच्‍चों को नहीं दी जाती हैं। क्‍योंकि वह एक तरह से जहर का काम भी करती हैं। इसलिए आप उसे कभी भी युवाओं या बच्‍चों को ना दें।
  • यदि आपकी दुकान पर कुछ समय फायदा नहीं होता है। तो आप कमी पर काम करें और धैर्य के साथ काम करते रहें। सब्र का फल हमेशा मीठा होता है।

इसे भी पढ़ें: कम लागत में गाँव में चलने वाला Top 10 Business Idea

खाद बीज की दुकान कहां खोलनी चाहिए?

इसे आप मंडी में या मंडी की तरफ जाने वाले रास्‍ते में खोल सकते हैं।

खाद बीज की दुकान को क्‍या बिना लाइसेंस के खोल सकते हैं?

नहीं, बिना लाइसेंस आप खाद, बीज या कीटनाशक की दुकान नहीं खोल सकते हैं।

खाद बीज और कीटनाशक की दुकान के लिए लाइसेंस की योग्यता?

बीज के लिए आपको दसवीं, और खाद, कीटनाशक के लिए बीएससी एग्रीकल्‍चर से पास होना जरूरी है।

खाद बीज की दुकान खोलने की लागत?

कम से कम 3 से 5 लाख रूपए।

खाद बीज की दुकान का प्रचार कैसे करें?

इसके लिए आप ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों का सहारा ले सकते हैं।

खाद बीज की दुकान में सबसे जरूरी बात?

कभी भी ग्राहकों को Expiry Date का कीटनाशक ना दें।

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि Khad ki dukan kaise khole इसे जानने के बाद आप आसानी से अपनी खाद की दुकान खोल सकते हैं। खाद बीज की दुकान में आज भी अनेकों संभावनाएं मौजूद हैं। बस आपके अंदर ये कला होनी चाहिए कि आप किसान भाइयों का दिल जीत सकें। इसके बाद तो किसान भाई आपकी दुकान से इतनी खरीददारी करेंगे कि आपका गोदाम खाली हो जाएगा। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करें। हम आपके सवाल का जवाब अवश्‍य देंगे।

 

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.6 / 5. कुल वोट 485

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment