एमएससी के बाद करियर | Msc karne ke baad kya kare

4.4
(382)

Msc के बाद क्‍या करना चाहिए?

Msc karne ke baad kya kare: Msc हमारे देश में हर साल लाखों युवा करते हैं। क्‍योंकि कहा जाता है कि यदि आप Msc कर लेते हैं। तो उसके बाद आपके सामने रोजगार के अनेकों अवसर खुल जाते हैं। लेकिन बहुत से युवा Msc कर तो लेते हैं। पर उन्‍हें आगे समझ नहीं आता है कि अब अब वो MSC karne ke baad kya kare

अगर आप इसी सवाल से जूझ रहे हैं तो आपको हमारा ये लेख अंत तक पढ़ना चाहिए। अपने इस लेख में हम आपको Msc के बाद करियर की जानकारी देंगे। जिसमें यदि आप सीधा नौकरी करना चाहते हैं तो भी उसके बारे में बताएंगे। लेकिन यदि आप और आगे चलकर और पढ़ना चाहते हैं तो उससे जुड़ी जानकारी भी आपको देंगे।

Msc क्‍या होती है?

MSC karne ke baad kya kare आपको हम इसकी जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको बताते हैं कि Msc क्‍या होती है। जिससे आप ये समझ सकें कि इसका क्‍या महत्‍व है। दरअसल, यह एक मास्‍टर डिग्री (Master Degree) है। जो कि बीएससी के बाद की जाती है।

इसे करने वाले युवा से उम्‍मीद की जाती है कि वो मेडिकल लाइन के बारे में बेसिक समझ रखता होगा। जिससे उसे रोजगार के अवसर तो प्राप्‍त हो ही सकते हैं। साथ ही यदि वो आगे पढ़ना चाहे तो उसके विकल्‍प भी खुले रहते हैं। खास बात ये है कि इस कोर्स को करने वाले दूसरे लोगों से कहीं ज्‍यादा समझदार माने जाते हैं।

Msc के बाद करियर

इस बात का जरूर ध्‍यान रखें

भारत में 121 करोड़ आबादी होने की बजाय अगर कहा जाए कि हमारे देश में 121 करोड़ ‘राय साहब’ हैं तो गलत नहीं होगा। बस आपको एमएससी करने के बाद ऐेसे लोगों से बचकर रहना है। क्‍योंकि जब भी आप लोगों से पूछेंगे कि आपको एमएससी के बाद क्‍या करना चाहिए। तो हर किसी की एक अलग राय होगी।

आपको हमेशा इस बात का ध्‍यान रखना है कि आपको सुननी सबकी है, पर करनी अपने मन की है। सबकी बात को सुनने के बाद आपके मन को जो रास्‍ता सही लगे वही करना है। अन्‍यथा जब आप जीवन में मझधार में फंस जाएंगे। तो आपको उससे निकालने वाला कोई नहीं आएगा। इसलिए केवल उसी इंसान से सलाह लें। जिसे आप सलाह देने के काबिल मानते हैं।

Msc के बाद करियर

आइए अब आपको हम सबसे पहले जानकारी देते हैं कि MSC karne ke baad kya kare इसमें सबसे पहले हम आपको जानकारी देंगे कि यदि आप आगे पढ़ाई करना चाहते हैं तो क्‍या कर सकते हैं। वो कौन कौन से कोर्स होते हैं। जिन्‍हें आप कर सकते हैं। हालांकि Msc के आगे आप केवल तभी पढ़ाई करें जब आपके माता पिता आपके ऊपर अच्‍छा पैसा लगा सकें।

UGC NET

Msc के ठीक बाद आप यूजीसी नेट की तैयारी कर सकते हैं। यह एक ऐसी परीक्षा होती है। जिसे पास करके आप चाहे तो प्रोफेसर लग सकते हैं। या आप चाहें तो अपना जेआरएफ पास करके पीएचडी कर सकते हैं। जिसमें आपको हर महीने फैलोशिप दी जाती है।

यह परीक्षा हर छह महीने में आयोजित की जाती है। जिसके लिए NTA की तरफ से आवेदन आमंत्रित किए जाते हैं। आप इसमें आवेदन करके अपनी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं और नेट की परीक्षा पास करके अनेकों नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Ph.d

यदि आप और ज्‍यादा पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप किसी University से पीएचडी कर सकते हैं। आपको इसके लिए उनकी वेबसाइट पर जाकर देखना होगा कि पीएचडी के फार्म कब निकलते हैं। इसके बाद आप उसमें आवेदन कर सकते हैं।

सामान्‍यत: पीएचडी के लिए पहले एक परीक्षा होती है। इसके लिए आपका साक्षात्कार लिया जाता है। इसके बाद दोनों के अंकों को जोड़कर मेरिट तैयार की जाती है। यदि आप उसमें पास होते हैं। तो आपका दाखिला पीएचडी में कर लिया जाता है। इसे पूरा करने के बाद आपके नाम के आगे ‘डॉक्‍टर’ लग जाता है। साथ ही आप प्रोफेसर बनने के योग्य भी हो जाते हैं। यदि आपकी सरकारी नौकरी नहीं लगती है तो आप प्राइवेट प्रोफेसर बनकर भी पढ़ा सकते हैं।

गरीब छात्र कैसे पीएचडी करें?

यदि आप गरीब परिवार से हैं तो वो आप भी Msc के बाद पीएचडी कर सकते हैं। इसके दो तरीके हैं। पहला तरीका ये है कि आप सबसे पहले जेआरएफ की तैयारी कर लें। जब आपका जेआरएफ पास हो जाए तो आप किसी भी यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लें। वहां से आपको हर साल 30 से 35 हजार रूपए तक की फैलोशिप मिलने लगेगी। जिससे आपकी आर्थिक मदद हो जाएगी।

इसके अलावा यदि आपका जेआरएफ नहीं होता है। तो भी आप दाखिला ले सकते हैं। यदि आपका दाखिला हो जाता है। तो यूनिवर्सिटी की तरफ से कम से कम 10 से 12 हजार रूपए की फैलोशिप अवश्‍य रूप से दी जाएगी। जिससे आपकी आर्थिक रूप से मदद हो जाएगी। इस तरह से आप गरीब होने के बावजूद अपनी पीएचडी पूरी कर सकते हैं। यदि आपका जेआरएफ पीएचडी के बीच में हो जाता है। तो आपकी फैलोशिप बीच में ही बढ़कर आने लगेगी। साथ ही आप चाहें तो छोटे बच्‍चों को घर पर ट्यूशन भी दे सकते हैं।

बीएड का चुनाव करें

यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में ही आगे भी जाना चाहते हैं तो आप Msc के बाद अपनी बीएड पूरी कर सकते हैं। यह दो साल का कोर्स होता है। जिसके बाद आप किसी भी स्कूल में अध्‍यापक लग सकते हैं। खास बात ये है कि आप बीएड करने के बाद कई अध्‍यापक पात्रता परीक्षा (TET) के एग्जाम भी दे सकते हैं। जिसके बाद आप सरकारी अध्‍यापक भर्ती में भी आवेदन कर सकते हैं। जिससे आगे चलकर आप सरकारी स्‍कूल में भी बतौर अध्‍यापक नियुक्‍त हो सकते हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि बीएड की फीस काफी ज्‍यादा होती है। इसलिए आप हमेशा सरकारी कॉलेज से ही बीएड करें। जहां मेरिट के आधार पर दाखिला होता है।

सरकारी नौकरी की तैयारी करें

यदि आप Msc पास कर चुके हैं तो आप सरकारी नौकरी की तैयारी भी कर सकते हैं। जिसमें आप अपने राज्‍य की नौकरी SSC, Railway, Bank की तरफ से आने वाली भर्ती में आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको देखना होगा कि आप वो कौन सी नौकरी हैं जिनमें अपना आवेदन भर सकते हैं। बस उन नौकरियों में अपना आवेदन कर दीजिए। इसके बाद उसकी तैयारी शुरू कर दीजिए।

यदि आप एक साल तक सही से मन लगाकर तैयारी करते हैं। तो आपको इसके नतीजे भी दिखाई देने लगेंगे। बस ध्‍यान इस बात का रखें कि सरकारी नौकरी में आप हमेशा उस नौकरी की तरफ जाएं जो कि आपको पहले मिलती हो। ऐसा ना हो कि आप बड़ी नौकरी के चक्‍कर में कई साल अपने जीवन के बर्बाद कर दें।

यदि आप गरीब परिवार से हैं तो अपनी तैयारी के साथ छोटे बच्‍चों को ट्यूशन भी पढ़ा सकते हैं। जिससे आपकी तैयारी भी चलती रहेगी। साथ साथ आमदनी भी होनी शुरू हो जाएगी। क्‍योंकि सरकारी भर्ती होने की प्रक्रिया हमारे देश में बड़ी धीमी है।

इसे भी पढ़ें: मेरे आस-पास की नौकरियां कौन सी है कैसे जाने?

रोजगार की संभावनाएं

आइए अब हम आपको Msc के बाद करियर में जानकारी देते हैं कि आप कैसे Msc के बाद ही रोजगार पा सकते हैं। जो कि बेहद आसान और अच्‍छा रास्‍ता है। क्‍योंकि इस डिग्री के बाद आपको कोई ये भी नहीं कह सकता है कि आप कम पढ़े लिखे हैं। इसलिए आप रोजगार के साथ बेहिचक जा सकते हैं।

अपने फील्‍ड में नौकरी

Msc के बाद रोजगार पाने का सबसे सही तरीका यही है कि आप आपने जिस सब्‍जेक्‍ट में पढ़ाई कर रखी है। उस सब्‍जेक्‍ट में आगे चलकर नौकरी की तलाश करें। इससे आपकी पढ़ाई भी काम आएगी साथ ही आपको वेतन भी ज्‍यादा दिया जाएगा। हालांकि आपको अपने सब्‍जेक्‍ट में तभी नौकरी मिलेगी जब आपकी पकड़ उस सब्‍जेक्‍ट पर मजबूत होगी।

इसके लिए जरूरी है कि आपने अपने कॉलेज में काफी ज्‍यादा मेहतन की हो। साथ ही आपका कॉलेज का शिक्षण कार्य काफी अच्‍छा हो। आप चाहें तो अपने दोस्‍तों से भी इस काम में मदद ले सकते हैं। जो कि एमएससी के बाद ही नौकरी करना चाहते हैं। वो आपको नौकरियों से जुड़ी जानकारी दे देंगे। यहां हम आपको एक जानकारी और दे दें कि हमारे देश में 90 प्रतिशत युवा जिस चीज की पढ़ाई करते हैं। अक्‍सर आगे चलकर काम कोई और करते मिलते हैं।

अध्‍यापक की नौकरी

यदि आप चाहें तो अपने सबसे मजबूत सब्‍जेक्‍ट में अध्‍यापक भी बन सकते हैं। इसके अंदर आप किसी स्‍कूल में जाकर बात कर सकते हैं। उन्‍हें अपनी योग्यता के बारे में बता सकते हैं। वो आपसे पढ़वा कर देखेंगे। यदि उन्‍हें लगेगा कि आप वाकई सही पढ़ा सकते हैं। तो आपको वो अपने वेतन और काम की जानकारी दे देंगे। इसके बाद यदि आपको वो पसंद आता है तो आप उनके संस्‍थान में नौकरी कर सकते हैं।

हमारा सुझाव ये रहेगा कि यदि आपको अध्‍यापक ही बनना है तो आपको यदि कम पैसों में भी नौकरी मिल रही है। तो उस मौके को गवाएं नहीं। जैसे ही आपको एक दो साल का अनुभव हो जाएगा। तो आपका वेतन भी बढ़ जाएगा। बस आपको हिम्‍मत नहीं हारनी होगी। इसके अलावा यदि आप ज्‍यादा वेतन चाहते हैं तो साथ साथ बीएड भी पूरी कर लें। इससे आपका वेतन काफी ज्यादा हो जाएगा। साथ ही आगे चलकर नौकरी तलाशने में भी आसानी रहेगी।

कोचिंग में पढ़ा सकते हैं

यदि आपकी पकड़ अपने सब्‍जेक्‍ट को लेकर इतनी ज्‍यादा है कि आप कोचिंग वाले बच्‍चों को भी पढ़ा सकते हैं तो आप वहां भी हाथ आजमां सकते हैं। इसमें खासतौर पर Math, science, English जैसे विषय आते हैं। जिसकी हमेशा बाजार में मांग बनी रहती है।

लेकिन उसके लिए जरूरी है कि आपकी अपने सब्‍जेक्‍ट पर पकड़ बहुत ज्‍यादा मजबूत हो। क्‍योंकि कोचिंग में उसे ही पढ़ाने का मौका मिलता है। जो बच्‍चों को दौड़ में दूसरों से आगे निकालने की हिम्‍मत रखता हो। कोचिंग में आपको फायदा ये होगा कि आपको स्‍कूल से ज्‍यादा वेतन दिया जाएगा। साथ ही आप चाहें तो साथ में खुद की तैयारी को भी आगे बढा सकते हैं। इसके बाद आप आगे चलकर अपनी कोचिंग भी शुरू कर सकते हैं।

बच्‍चों को ट्यूशन दें

बच्‍चों को ट्यूशन देना अक्‍सर छोटा काम माना जाता है। लेकिन यदि आप अपने शहर में देखेंगे तो पाएंगे कि ना जानें कितने ऐसे लोग हैं। जो बच्‍चों को ट्यूशन पढ़ाकर ही हर महीने हजारों रूपए कमा रहे हैं। साथ ही उनका नाम भी पूरे शहर में है। इसलिए किसी भी काम को कभी छोटा ना मानें।

ऐसे में यदि आप भी छोटे बच्‍चों पढ़ा सकते हैं तो सबसे पहले कम बच्‍चों से शुरूआत कीजिए। धीरे धीरे आपके बच्‍चे बढ़ते जाएंगे। जैसे जैसे आपके बच्‍चे बढ़ते जाएंगे तो आपकी आमदनी भी बढ़ती जाएगी। बस इसी तरह से एक दिन आप पाएंगे कि आपकी हजारों रूपए की आमदनी शुरू हो गई है। जो कि आप शायद आप किसी नौकरी में नहीं कमा सकते थे। ये पेशा लड़कियों के लिए सबसे बेहतर माना जाता है।

कोई भी नौकरी कर लें

एमएससी करने के बाद एक विकल्‍प ये भी है कि आपके आसपास जो भी नौकरी मौजूद हों आप उनमें से कोई भी कर लें। हालांकि, भविष्‍य के लिहाज से ये सही नहीं माना जाता है। पर यदि आपको नौकरी ही करनी है। तो दुकान, मॉल, अस्‍पताल, कंम्‍प्‍यूटर ऑपरेटर आदि तमाम पदों में नौकरी आसानी से मिल जाती है।

इन नौकरियों में केवल इतनी योग्यता मांगी जाती है कि आदमी को थोड़ा बहुत पढ़ना आता हो। जिसके आधार पर उसे रख लिया जाता है। बाद में वो काम भी सीख जाता है। हमारा सुझाव रहेगा कि आप इसे हमेशा अपना अंतिम विकल्‍प मान कर चलें।

लड़कियां क्‍या करें?

यदि आप लड़की हैं तो आपके लिए ये सबसे ज्‍यादा कठिन दौर होता है कि पढ़ाई पूरी करके क्‍या करें। आपके लिए हमारा सुझाव रहेगा कि आप अपनी पढ़ाई आगे जारी रखें। यदि ऐसा संभव नहीं है। तो आप अध्‍यापक या ट्यूशन जैसा कुछ चुन सकती हैं। साथ ही आप NET JRF की तरफ भी जा सकती हैं। जिसके साथ साथ आप चाहें तो सरकारी नौकरी की तैयारी भी कर सकती हैं। यह आपके भविष्‍य के हिसाब से सबसे बेहतर होगा।

नौकरी की तलाश में आप तभी परेशान हों जब आपके घर वाले आपको कहीं बाहर जाकर काम करने की इजाजत दें। इसके लिए संभव है कि आपको किसी बड़े शहर में भी जाना पड़े। इसलिए किसी को नाराज करने से बेहतर है। आप वो रास्‍ता चुनें जो आपके भविष्‍य के लिहाज से बेहतर होने के साथ आपके परिवार को भी खुश रखे।

इसे भी पढ़ें: एसएससी में कौन कौन सी नौकरियां आती है?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि Msc karne ke baad kya kare इसे जानने के बाद आप आसानी से कोई भी एक रास्‍ता अपने जीवन में चुन सकते हैं। बस ध्‍यान ये रखिए कि कभी भी दो नावों में पैर रखने की कोशिश मत कीजिए। वरना अंत में आप कहीं के नहीं रहेंगे। ऐसा हमारे देश में हर साल लाखों बच्‍चों के साथ होता है।

यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी शेयर करें। साथ ही यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करें। हम आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.4 / 5. कुल वोट 382

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment