ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के लाभ एवं इसे कैसे बेहतर बनाया जा सकता है? 

शिक्षा का कोई भी स्वरुप जिससे हमें ज्ञान की प्राप्ति होती हो उसे हितकारी हीं माना जाता है । बदलते समय के अनुरूप शिक्षा का स्वरुप भी व्यापक होता चला गया । जहां पहले शिक्षा गुरुकुल में होती थी अब वह बढ़ता हुआ हमारे हाथों तक पहुच गयी है और इसमें आनलाइन शिक्षा बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही है। 

पहले जमाने में जहां शिक्षा का सर्वव्यापीकरण नहीं हुआ था अब शिक्षा घर घर तक पहुच चुकी है । हम सभी जानते हैं जिस रफ़्तार में हमारी जनसख्या बढ़ती जा रही है उस रफ़्तार में सभी को शिक्षा मुहैया कराना किसी भी देश के लिए कठिन चुनौती से कम नहीं है । भारत जैसे विकासशील देश के लिए इसका महत्व और अधिक बढ़ जाता है । इन्टरनेट और मोबाइल फ़ोन ने डिजिटल क्रांति को आगे बढाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की है ।

भारत के डिजिटल क्रांति में सस्ते मोबाइल फ़ोन और इन्टरनेट ने असाधारण योगदान दिया है । जब से हमारे यहां शिक्षा का अधिकार ने मौलिक अधिकार का स्थान ग्रहण किया है तभी से सरकार के साथ हम सभी नागरिकों का भी कर्त्तव्य है कि सभी को शिक्षा मुहैया कराने में अपना सहयोग सुनिश्चित करें । 

आनलाइन शिक्षा वास्तव में शिक्षा प्रदान करने की वह तकनीक है जिसमें इन्टरनेट और मोबाइल या कंप्यूटर के माध्यम से सभी बच्चों तक शिक्षा को पहुंचायी जाती है” । विद्यालयों में जहां शिक्षक ब्लैकबोर्ड के माध्यम से बच्चों के सम्मुख अपनी बातों को रखता है ठीक उसी प्रकार ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली में शिक्षक डिजिटल माध्यम से बच्चों के सामने अपनी प्रस्तुति देते हैं | ब्लैकबोर्ड के स्थान पर ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली में व्हाइटबोर्ड का इस्तेमाल होता है । बच्चे यहा बातों का उत्तर बहुत हीं सहज तरीके से इसका इस्तेमाल करके देते हैं । 

किसी भी विकासशील देश के लिए हरेक वर्ष नियत समय पर शिक्षकों की बहाली करना संसाधन के अभाव में मुश्किल काम है । अगर कभी शिक्षकों की बहाली हो भी जाती है तो बढ़ते छात्रों की तुलना में अन्य संसाधन जैसे कमरे, प्रयोगशाला, पुस्तकालय के निर्माण में समय लगता है । कमोवेश स्थिति ऐसी हीं होती है कि कभी “अगर एक पक्ष मजबूत हो पाता है तो दूसरा पक्ष कमजोर होने लगता है” ।

शिक्षा के अधिकार और राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक है कि बच्चों का ससमय वर्ग की शुरुआत की जा सके । ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली इन सभी कमियों को दूर करने का एक सशक्त माध्यम है, जिसके द्वारा सभी कमियों के वावजूद शिक्षा को सभी वर्ग और सभी समुदाय के बच्चों तक एक साथ पहुचायी जा सकती है । 

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के लाभ हैं?

एक साथ सभी को शिक्षा 

सभी वर्ग के पाठ्यक्रम के अनुसार एक दैनिक तालिका के अनुरूप पूरे देश और राज्यों में शिक्षा दी जा सकती है । 

नियत समय पर पाठ्यक्रम का ख़तम होना 

वार्षिक कैलेंडर के अनुसार सम्पूर्ण पाठ्यक्रम को दिन और माह के अनुसार ख़तम करने से यह चिंता नहीं रह जाती कि पाठ्यक्रम कैसे समय पर ख़तम किया जाय । 

वर्ग कक्ष ख़तम होने के बाद भी पाठ्यवस्तु की उपलब्धता 

आनलाइन शिक्षा की सबसे बड़ी विशेषता है कि वर्ग कक्ष सम्पादित होने के बाद भी आडियो और विडियो उपलब्ध होती है और यह चिंता नहीं होती कि अगर किसी कारणवश कोई घंटी छुट गयी तो अब उससे आगे हम उसे कैसे समझेंगें । अर्थात यह बच्चों के लिए हमेशा उपलब्द्ध रहता है । 

सभी बच्चों के सामने शिक्षकों की उपलब्द्धता

आफलाइन शिक्षा व्यवस्था में पीछे के बेंचों पर बैठे बच्चों के मन में यह प्रश्न उठना लाज़मी होता है कि शिक्षक मुझे नहीं देख रहे होंगे | पर आनलाइन शिक्षा व्यवस्था में सभी बच्चे शिक्षकों को अपने सामने हीं पाते हैं । 

समय की बचत 

आनलाइन शिक्षा में बच्चों को दूर अवस्थित विद्यालय जाने में जो समय लगता है उससे बचत हो जाती है । बच्चों को आने जाने में जो थकान की अनुभूति होती है उससे भी छुटकारा मिलता है । 

स्थान की बाध्यता नहीं 

आनलाइन शिक्षा कभी भी और कहीं भी ली जा सकती है इसके लिए विद्यालय के अन्दर बंद चाहरदिवारी का होना आवश्यक नहीं है । 

तकनीकी ज्ञान का विकास

बच्चों को आनलाइन शिक्षा के लिए कंप्यूटर और मोबाइल का ज्ञान आवश्यक होता है । प्रतिदिन उससे रूबरू होने के कारण बच्चे उससे व्यवहारिक होने लगता हैं | शिक्षक भी इस तकनीकी का इस्तेमाल कर अपना ज्ञानवर्धन करते हैं । 

पैसों की बचत

आनलाइन शिक्षा व्यवस्था से बच्चों को पैसे की भी बचत हो रही है कई ऐसे सोशल साइटस हैं जहां कई लोग निःशुल्क शिक्षा देने का काम कर रहे हैं ।

प्राथमिक विद्यालय से लेकर विश्वविद्यालय तक के बच्चों को आनलाइन शिक्षा व्यवस्था से परिवहन खर्च से निजात मिली है । आनलाइन नोटस और विडियो के उपलब्द्ध रहने के कारण ट्यूशन संस्कृति में भी कमी आयी है । 

खोजी प्रवृति का विकास 

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली ने छात्रों को इन्टरनेट पर जरूरी सामग्री ढूढने के लिए प्रेरित किया है । अब बच्चे शिक्षक के भरोसे नहीं रहते बल्कि तुरंत प्रश्नों का समाधान ढूढने की चेष्टा करते हैं । 

पाठ्यक्रम बंधन से मुक्ति 

आनलाइन शिक्षा के प्रसार के कारण बच्चे अब केवल अपने पुस्तक तक हीं सीमित नहीं है । बच्चे किसी भी टापिक से सम्बंधित जानकारी के लिए उससे सम्बंधित वेबसाइट्स को खंघालना सीख गया है । अब वह अपने वर्ग के निर्धारित पाठ्यक्रम तक सीमित रहना नहीं चाहता । पढ़ाई के अलावे भी बच्चे अपने रूचि के क्षेत्र से सम्बंधित जानकारियों को शिक्षक के दिशा निर्देशानुसार ढूढने की चेष्टा करते हैं जिससे उसके ज्ञान में वृद्धि हुई है । 

सर्वोत्तम चयन 

आनलाइन शिक्षा की एक बड़ी विशेषता है बच्चे अपने विषय वस्तु की जानकारी के लिए बड़े से बड़े नामी गिरामी शिक्षकों से शिक्षा वर्चुअल माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। हो सकता है उस बच्चों को उस शिक्षक से उनके संस्थान में जाकर पढना मुमकिन न हो पर उनके शिक्षा का फायदा कहीं रहकर बच्चा उठा सकता है । 

आमीण और शहरीकरण के बीच की खाई को पाटना 

आनलाइन शिक्षा चूंकि सभी के लिए एकसमान होती है इसलिए यह कोई मायने नहीं रखता कि बच्चा ग्रामीण परिवेश से है या शहरी परिवेश से, वह एकसमान बातें सीखता है । 

विषम परिस्थिति के लिए भी अनुकूल 

कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी आनलाइन शिक्षा ने खड़ा उतरकर यह सिद्ध कर दिया कि यह शिक्षा प्रतिकूल समय के लिए भी उपयुक्त है । 

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि आधुनिक समय में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के कई सारे फायदे हैं पर सुधार तो किसी भी पद्धति के अनिवार्य घटक होते हैं । अभी आनलाइन शिक्षा प्रणाली को लम्बा सफ़र तय करना है अतः आवश्यकता है कि कुछ महत्वपूर्ण बातों का और ख्याल रखा जाय ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके।

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली सुधार के लिय जरुरी सुधार

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली

उचित प्रबंधन 

सर्वप्रथम आवश्यक है कि ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली कैसे बेहतर स्वरुप में सामने आये इसके लिए गांव से लेकर महानगर तक उचित प्रबंधन हो ताकि समयानुसार कोई घटक कमजोर न होने पाएं । 

इन्टरनेट की उपलब्द्धता 

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली को चलाने के लिए सबसे आवश्यक है उच्च गति वाले नेटवर्क की स्थापना और उसमें निरंतरता का होना । शहरों में तो इन्टरनेट की स्थिति अच्छी है और उनके पास बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं पर ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी सुधार की आवश्यकता है । 

बिजली की उपलब्दता 

आनलाइन शिक्षा के लिए आवश्यक है बिजली की अनवरत आपूर्ति क्योंकि बिना ऊर्जा केन तो कंप्यूटर चल पायेगा न हीं मोबाइल और न हीं इन्टरनेट मिल पायेगा । 

साइबर सुरक्षा 

चूंकि आनलाइन शिक्षा इन्टरनेट के माध्यम से सीधे आपके व्यक्तिगत कंप्यूटर और मोबाइल से जुड़े होते हैं इसलिए इसकी सुरक्षा बहुत हीं महत्वपूर्ण है । 

तथ्यपरक और सही सूचना का निर्माण 

आनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक है कि बच्चों के पास तथ्यों का ज्ञान सही हो और उनके पास पाठ्य सामग्री ऐसा हो जो शोधित जानकारी उपलब्ड्ध करा सके । साथ हीं यह भी आवश्यक है कि कोई ऐसा तंत्र हो जो बच्चों में सही और गलत सूचना में विभेद करना सिखाता हो । 

ग्रेडिंग का निर्माण 

आफलाइन शिक्षा की तरह यहां भी ग्रेडिंग के व्यवस्था हो जो उस संस्थान को उचित ग्रेड प्रदान कर सके जिससे उस संस्थान को पता चल सके कि आनलाइन शिक्षा के लिए उसका प्रयास कितना सही है । 

आनलाइन शिक्षा की मोनिटरिंग की व्यवस्था 

कई मामले आये हैं जहां बच्चे आनलाइन शिक्षा में जुड़ने के बाद आनलाइन गेम या अन्य सामाजिक साइटस से जुड़ जाते हैं । अतः आवश्यकता है कि कोई ऐसी व्यवस्था हो जो पता लगा सके कि बच्चे उस समय में कोई अन्य काम नहीं कर सके । 

निष्कर्ष :-

उपरोक्त विन्दुओं को अगर ध्यान में रखा जाए तो आनलाइन शिक्षा का सुन्दर स्वरुप सामने आयेगा जो नयी शिक्षा नीति को आगे बढाने में मददगार साबित होगा । कोई भी काम शुरुआती दौड़ में कई चुनौतियों को साथ लाता है, वहीं बातें ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के साथ भी लागू होता है लेकिन, इसके प्रति बढ़ते रुझानों और अच्छे परिणामों ने हमें यह सोचने के लिए जरूर मजबूर कर दिया है कि हमारे पास पारंपरिक शिक्षा प्रणाली का एक विकल्प भी मौजूद है, जिससे शिक्षा घर घर तक पहुंचाई जा सकती है । 

शिक्षा के अधिकार और राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक है कि बच्चों का ससमय वर्ग की शुरुआत की जा सके । ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली इस सभी कमियों को दूर करने का एक सशक्त माध्यम है, जिसके द्वारा सभी कमियों के वावजूद शिक्षा को सभी वर्ग और सभी समुदाय के बच्चों तक एक साथ पहुचायी जा सकती है । एक साथ सभी को शिक्षा, समय की बचत, शिक्षा कहीं भी और कभी भी, पैसे की बचत, पाठ्यक्रम का समय पर ख़तम होना ये सब इसकी प्रमुख विशेषता है लेकिन इसके बाबजूद उचित प्रबंधन, इंटरनेट की उपलब्द्धता, बिजली की अनवरत आपूर्ति, साइबर सुरक्षा आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहां अभी भी ध्यान देने की आवश्यकता है ।

Leave a Reply