Online fraud se kaise bache | ऑनलाइन फ्रॉड से बचने का तरीका

4.6
(364)

साइबर ठगों से कैसे बचें?

Online fraud se kaise bache: दुनिया में टेक्नोलॉजी इतनी ज्यादा एडवांस हो चुकी है कि हर एक काम ऑनलाइन हो रहा है चाहे वह पैसों का आदान प्रदान करना होगा या फिर अन्य कोई भी कार्य हो सभी ऑनलाइन होने लगे हैं यहां तक कि लोग अपनी जॉब भी ऑनलाइन करते हैं कंप्यूटर और मोबाइल फोन की वजह से और ऑनलाइन प्रचलन से लोगों की जिंदगी बहुत आसान बन गई है।

हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं ऐसे ही ऑनलाइन टेक्नोलॉजी से काम आसान तो हुए हैं, लेकिन इसके नुकसान भी हैं लोग गलती से या फिर अनजाने में एक ऐसा गलत कदम उठा लेते हैं जिससे वह ऑनलाइन fraud का शिकार बन जाते हैं इससे बचने के लिए आज हम आपको ऐसे तरीकों के बारे में जानेंगे जिनसे आप ऑनलाइन fraud से बच सकते हैं।

आज की इस पोस्ट में हम Online fraud se kaise bache और जानेंगे कि आप ऑनलाइन फ्रॉड से किस प्रकार बच सकते हैं? तथा ऑनलाइन फ्रॉड किन कारणों के कारण होता है?, और ऑनलाइन फ्रॉड होने के बाद आपको क्या करना चाहिए? इन महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में आज हम इस पोस्ट में बात करने वाले हैं इसलिए आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए और यदि आप ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो चुके हैं, तो आप किस प्रकार इसका समाधान प्राप्त कर सकते हैं वह भी इस पोस्ट में आज हम जानने वाले हैं।

ऑनलाइन फ्रॉड के कारण

ऐसे बहुत सारे कारण हैं जिससे आप ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार बन सकते हैं और आपको पता भी नहीं चलता है कि hacker आपके मोबाइल या कंप्यूटर में घुसकर आपको ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बना लेते हैं। ऑनलाइन फ्रॉड आपके द्वारा की गई गलतियों का कारण है ऐसी गलतियों जिनको आप नजरअंदाज कर देते हैं।

ऑनलाइन फ्रॉड होने के कारण निम्न है।

  • यदि आप प्लेस्टोर या फिर वेबसाइट से किसी एप्लीकेशन को डाउनलोड करते हैं या अन्य सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करते हैं तो वह आपसे कुछ permission मांगता है और आप इन्हें बिना देखे Allow कर देते हैं यह गलती आपकी सबसे बड़ी गलती होती है जिससे हैकर आपके मोबाइल में घुस जाते है एवं आपके कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को वह चुरा लेता है और आप ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बन जाते हो। हैकर इसकी मदद से आपके बैंक का access भी ले सकते हैं। और मिनटों में आपके बैंक अकाउंट को खाली कर देते हैं।
  • बिना सोचे समझे किसी अनजान व्यक्ति को अपना OTP शेयर करना। किसी अनजान व्यक्ति को OTP शेयर करने से वह आपके बैंक अकाउंट से आपके सारे पैसे को हड़प सकता है। और आप ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बन सकते है।
  • अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर की पूरी प्राइवेसी ना करना, एक बहुत बड़ा कारण है, ऑनलाइन फ्रॉड को बढ़ावा देने का, जिससे hacker आपके मोबाइल को आसानी से hack करके आपको ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बना सकता है।

ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचें

ऑनलाइन फ्रॉड से बचने का तरीका

ऑनलाइन फ्रॉड के ऐसे कई कारण हैं जिससे ऑनलाइन फ्रॉड हो सकता है, जिनसे आपको सावधान रहने की आवश्यकता है, ऐसे ही कुछ तरीके के बारे में आज हम इस पोस्ट में बात करने वाले हैं जिनसे आप ऑनलाइन फ्रॉड से बच सकते हैं, तो चलिए जानते हैं उन तरीकों के बारे में जिनसे आपको ऑनलाइन फ्रॉड या ऑनलाइन धोखाधड़ी से बच सकते हो।

ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचें?

  • अपनी व्यक्तिगत जानकारियों को किसी अनजान व्यक्ति को शेयर ना करें। यदि आप online fraud से बचना चाहते हैं तो आप किसी को भी अपना बैंक अकाउंट नंबर या फिर अपने आधार कार्ड नंबर, अन्य कोई भी पिन शेयर ना करें। ध्यान रहे कभी भी बैंक अपने ग्राहकों से मोबाइल पर कॉल करके, बैंक अकाउंट नंबर या फिर ATM Number नहीं मांगता है इसलिए आपको यह सावधानी अवश्य बरतनी है यदि आपको ऐसा कोई कॉल आता है तो आपको तुरंत police station पर complaint करनी है या फिर अपने बैंक को सूचित करना है और कभी भी अपना OTP share ना करें।
  • फेसबुक पर किसी को भी अनजान दोस्त ना बनाएं और ना ही अपनी व्यक्तिगत जानकारियों को उससे शेयर करें। आज के समय में लोग अपने असली मित्र से कम और अपने फेसबुक के मित्रो से ज्यादा बातें करते हैं जो कि आपके लिए खतरा बन सकते हैं। इसलिए आपको कभी भी अपने फेसबुक के अनजान मित्र से कोई भी व्यक्तिगत जानकारी शेयर नहीं करनी है क्योंकि आज के समय में फेसबुक पर लगभग 27.5 करोड़ फर्जी अकाउंट है।
  • अपने google account की संपूर्ण privacy करें। यदि आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या कोई काम करते हैं तो आपको अपने गूगल अकाउंट की complete privacy करना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यदि आप गूगल अकाउंट की complete privacy नहीं करते हैं तो हैकर आपके अकाउंट को हैक कर सकते हैं।
  • प्लेस्टोर से बाहर गूगल पर किसी वेबसाइट या सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करने पर सावधानी बरतें। यदि आप प्ले स्टोर के बाहर किसी एप्लीकेशन को डाउनलोड करते हैं या फिर गूगल पर किसी सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करते हैं तो आपको उसके बारे में संपूर्ण जानकारी होना आवश्यक है क्या वह सेफ है या फिर नहीं यदि आप प्ले स्टोर से बाहर किसी एप्लीकेशन को डाउनलोड करते हैं तो कृपया किसी भी परमिशन को अलाउड ना करें!

यह आपके लिए खतरा बन सकती है। और यदि आप गूगल पर किसी सॉफ्टवेयर या वेबसाइट का इस्तेमाल करते हैं तो उसकी सुरक्षा की जानकारी अवश्य लें, यदि आपके मोबाइल के बाएं तरफ वेबसाइट के ऊपर लॉक (Lock) है जो कि बन्द है तो वह वेबसाइट सुरक्षित है और यदि वेबसाइट के बाएं तरफ दिखाई दे रहा lock खुला हुआ है तो वह website सुरक्षित नहीं है इसलिए उस वेबसाइट को use ना करें।

इसे भी पढ़ें: Internet ke nuksan kya hai?

ऑनलाइन फ्रॉड की शिकायत कहां करें?

वर्तमान समय में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार हो चुके हैं और उनके हाथ कुछ नहीं लगा है और वह निराश होकर बैठे हैं तो यह पोस्ट उन लोगों के लिए भी है वह लोग मेरे बताए गए रास्ते पर चलकर, ऑनलाइन फ्रॉड होने पर, ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले की शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

यदि आप भी ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो चुके हैं और आप चाहते हैं कि आपको इंसाफ मिले तो आपको cyber crime website, cybercrime.gov.in पर आपको इसकी रिपोर्ट करनी होगी। जिसकी मदद से आप फ्रॉड करने वाले पर कार्रवाई कर सकते हैं।

यदि आपके साथ धन संबंधित कोई फ्रॉड हुआ है, तो आप 155260 or 1930 पर कॉल करके भी अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। भारत सरकार ने साइबर क्राइम के लिए एक अलग से धारा तैयार की है जिसके तहत साइबर अपराध करने वालों को सख्त सजा मिलती है।

इसे भी पढ़ें: Cyber crime in Hindi

Conclusion

उम्मीद करता हूं आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी और यदि आपके मन में अभी भी कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं आज हमने जाना कि आप online fraud से कैसे बच सकते हैं और आज हमने यह भी जाना, कि ऑनलाइन फ्रॉड होने के क्या कारण हैं? इस बारे में आज की इस पोस्ट में हमने संपूर्ण जानकारी प्राप्त की और यदि आपको इनमें से कोई परेशानी है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। और यदि आपको इसी प्रकार की पोस्ट पसंद है, तो आप हमारी वेबसाइट पर दोबारा आए ऐसी ही नई जानकारियां हम आपके लिए लगातार लाते रहेंगे। मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए धन्यवाद।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.6 / 5. कुल वोट 364

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment