Padhai karne ka sahi Time | पढ़ाई करने का सही समय क्या है?

4.6
(353)

पढ़ाई करने का सही समय कैसे चुनें?

Padhai karne ka sahi Time: हम में से ज्‍यादातर सभी लोग पढ़ाई करते हैं। कुछ लोग तो ऐसे होते हैं, जो पढ़ाई केवल इसलिए करते हैं। क्‍योंकि चीजों को जानना और समझना उनके लिए एक शौक की तरह होता है। लेकिन यदि हम एक छात्र की पढ़ाई की बात करें तो वो ज्‍यादातर समय इस बात को लेकर हमेशा परेशान रहते हैं कि पढ़ाई करने का सही समय क्‍या होता है। छात्र हमेशा एक ऐसे समय की तलाश करते रहते हैं जिसके अंदर वो कम पढ़कर भी ज्‍यादा नंबर ला सकें।

यदि आप भी यही जानना चाहते हैं कि पढ़ाई करने का सही समय क्‍या होता है। तो हमारे इस लेख को अंत तक पढि़ए। अपने इस लेख में हम आपको जानकारी देंगे कि Padhai karne ka sahi time क्‍या होता है। साथ ही हर छात्र कैसे अपने पढ़ाई करने का सही समय जान सकता है।

सही समय क्‍या होता है?

Padhai karne ka sahi time क्‍या होता है इस बारे में हम आपको जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको बताते हैं कि सही समय किसे कहते हैं। साथ ही इसका इतना ज्‍यादा महत्‍व क्‍यों है। दरअसल, सही समय उसे कहा जाता है‍ जिसके अंदर कोई भी इंसान अपना कोई काम सबसे बेहतर तरीके से संपन्‍न कर पाता है। जिससे उसे उस काम को पूरा करने में समय भी कम लगता है।

साथ ही उसे उस काम के परिणाम भी काफी बेहतर मिलते हैं। हालांकि, हर इंसान का काम करने का सही समय एक दूसरे से बेहद अलग होता है। इसलिए हम कभी भी किसी दूसरे के काम करने के समय को देखकर ये नहीं कह सकते हैं कि उस काम को करने के लिए वही सही समय होता है। इसलिए आप कभी भी दूसरे के सही समय की नकल कतई ना करें।

पढ़ाई करने का सही समय

पढ़ाई करने का सही समय

आइए आगे हम आपको पढ़ाई करने का सही समय जानने के कुछ तरीके बताते हैं। साथ ही कुछ समय ऐसे बताते हैं जो कि ज्‍यादातर छात्र अपनी पढ़ाई करने के लिए अपनाते हैं।। जिसे जानने के बाद आप अपने सही समय का चुनाव कर सकते हैं। जिसके बाद आप भी पाएंगे कि आगे से आपका पढ़ाई में मन तो लगेगा ही, साथ ही नतीजे भी बेहतर आने लगेंगे।

इसे भी पढ़ें: पढ़ाई में तेज कैसे बने?

सुबह का समय

आमतौर पर पढ़ाई करने के लिए सबसे बेहतर सुबह के समय को माना जाता है। इसके पीछे तर्क दिया जाता है कि उस समय आपका दिमाग पूरी तरह से तरो ताजा होता है। जिससे आप जो भी पढ़ते हैं। वो आपके दिमाग में सीधा सेट हो जाता है। साथ ही आप उसे आगे चलकर लंबे समय तक नहीं भूलते हैं। इसलिए माना जाता है कि आप किसी भी तरह की पढ़ाई कर रहे हों। यदि आप सुबह उठकर पढ़ते हैं तो आपके लिए हमेशा उसके बेहतर परिणाम ही देखने को मिलेंगे।

लेकिन सुबह उठना हम सभी के लिए अपने आप में एक चुनौती की तरह रहता है। खास तौर पर जो लोग रात में देर से सोते हैं। इसके अलावा सर्दी के मौसम में भी हमारा सुबह उठने का प्‍लान अक्‍सर खराब हो जाता है। इसलिए इस बात को जितना सोचना आसान है कि सुबह उठकर पढ़ना सबसे ज्‍यादा फायदेमंद रहता है। लेकिन उसे अपनाना उतना ही कठिन होता है। कहने का मतलब यही है कि सुबह वही उठकर पढ़ सकता है। जिसके अंदर अपने लक्ष्‍य को पाने की ललक होगी।

सुबह पढ़ने के फायदे

  • सुबह पढ़ने का सबसे पहला फायदा ये होता है कि यदि आप सुबह पढ़ाई पूरी कर लेते हैं तो आपका पूरा दिन बच जाता है। जिस दौरान आप कोई दूसरा काम भी आसानी से पूरा कर सकते हैं।
  • सुबह सुबह हमारा दिमाग किसी भी तरह के तनाव में नहीं होता है। इसलिए यह एक ऐसा समय होता है। जिस दौरान हमारा दिमाग सबसे तेज काम करता है। खासतौर पर नौकरी पेशा वाले लोगों के लिए सबसे सही समय यही होता है।
  • यदि आप सुबह सुबह उठकर पढ़ते हैं तो उस समय आपको किसी तरह से कोई परेशान भी नहीं करने वाला रहेगा। क्‍योंकि सुबह सुबह ज्‍यादातर लोग देर से ही उठना पसंद करते हैं।

दोपहर का समय

यदि आप सुबह के समय पढ़ाई नहीं कर सकते हैं, तो आप दोपहर के समय भी आसानी से पढ़ाई कर सकते हैं। हालांकि, दोपहर के समय गर्मी के मौसम में पढ़ना बेहद कठिन होता है। इसके लिए जरूरी है कि आप जिस जगह पढ़ रहे हों वहां या तो AC लगा हो या फिर आप जिस इलाके में रहते हैं। वहां का मौसम ठंडा रहता हो। क्‍योंकि यदि आप गर्मी के मौमस में बैठकर पढ़ाई करेंगे तो आपका आधा दिमाग तो गर्मी के कारण ही परेशान रहेगा।

ऐसे में संभव है कि आप जो पढ़ रहे हैं उसमें आपका दिमाग बहुत कम लगे। जिससे एक तरह से आपके पढ़ने का कोई मतलब नहीं रह जाएगा। लेकिन यदि आपके यहां दोपहर में पढ़ना संभव है तो आप आसानी से दोपहर के समय का चुनाव कर सकते हैं। ये समय आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा।

दोपहर में पढ़ने के फायदे

  • दोपहर में पढ़ने का फायदा ये होता है कि इस समय ज्‍यादातर लोग बाहर के कामकाज नहीं करते हैं। इसलिए आप इस समय को अपनी पढ़ाई में लगाकर इसका सबसे बेहतर सदुपयोग कर सकते हो।
  • दोपहर के समय कई बार ऑनलाइन क्‍लास भी लाइव (Live) रहती है। इसलिए यदि आप दोपहर में पढ़ने का समय तय करते हैं तो आप अपनी ऑनलाइन क्‍लास को लाइव भी देख सकते हैं।
  • यदि आपको सुबह सुबह कोई काम करना होता है। तो आप तब तक उसे निपटा चुके होते हैं। ऐसे में आप दोपहर के समय तनावमुक्‍त होकर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।

शाम का समय

शाम का समय वैसे पढ़ाई के लिए सही नहीं माना जाता है। क्‍योंकि इस दौरान हम में से ज्‍यादातर लोगों के घरों में कुछ ना कुछ काम होता है। खास तौर पर लड़कियों को तो इस दौरान बिल्‍कुल भी फुर्सत नहीं रहती है। क्‍योंकि उन्‍हें अपने घर में खाना बनाने का काम भी करना होता है।

लेकिन यदि आप फिर भी शाम के समय को अपनी पढ़ाई के लिए चुनते हैं तो इसके भी फायदे हैं। बस ध्‍यान देने वाली बात ये रहती है कि आप लगातार पढ़ाई करते रहें। ऐसा ना हो कि आप कुछ दिन शाम को पढ़ाई करें। इसके बाद आपकी पढ़ाई आज और कल के ऊपर आ जाए।

शाम को पढ़ने के फायदे

  • शाम के पढ़ने का फायदा ये होता है यदि आप नियमित तौर पर शाम को पढ़ाई करते हैं। तो इससे पता लगता है कि आप वाकई अपने लक्ष्‍य के प्रति कितने ज्‍यादा समर्पित हैं। क्‍योंकि इस समय को अक्‍सर लोग टाइम पास (Time Pass) करके बिताते हैं।
  • जो लोग दिन के समय नौकरी आद‍ि करते हैं। उनके लिए शाम का समय सबसे बेहतर माना जाता है। क्‍योंकि इस समय वो रोजाना अपने काम से वापिस आ चुके होते हैं।
  • शाम को पढ़ने का फायदा ये होता है कि आप इस दौरान अपना पूरा दिन समाप्‍त कर चुके होते हैं। इसके बाद आपको कहीं जाने की जल्‍दी नहीं रहती है। मतलब आप चाहे कितने घंटे भी लगातार पढ़ सकते हैं।

रात का समय

रात का पढ़ाई के सबसे गोल्डन समय (Golden Time) माना जाता है। हमारे देश के अधिकांश छात्र इसी समय बैठकर पढ़ाई करते हैं। क्‍योंकि यह एक ऐसा समय होता है। जिस दौरान हर कोई पढ़ाई के लिए समय निकाल सकता है। साथ ही इस दौरान पढ़ाई करने के अपने ही फायदे होते हैं। इसलिए हम में से ज्‍यादातर लोग पढ़ाई के लिए रात का समय ही चुनते हैं।

हालांकि, रात के सयम पढ़ना इतना भी आसान नहीं होता है। क्‍येांकि बहुत से घरों में इतनी जगह नहीं होती है कि एक कमरे में अकेला लाइट जलाकर पढ़ाई की जा सके। साथ ही बहुत से लोग दिन में काम करके इतने ज्‍यादा थक चुके होते हैं कि रात में बिस्‍तर पर जाते ही उन्‍हें नींद आने लगती है।

इसे भी पढ़ें: सेल्फ स्टडी कैसे करे?

रात में पढ़ने के फायदे

  • रात में पढ़ने सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि आप इस समय हर दिन समय निकाल सकते हैं। अन्‍यथा कई बार हम दूसरा टाइम टेबल तो बना लेते हैं। पर उस समय फ्री (Free) नहीं रहते हैं।
  • रात को जब आप पढ़ने बैठते हैं तो आपको किसी तरह से कोई परेशान नहीं करता है। क्‍योंकि इस दौरान ज्‍यादातर लोग सो (Sleep) गए होते हैं।
  • रात के समय आप लगातार कई घंटे तक पढ़ सकते हैं। क्‍योंकि ये एक ऐसा समय होता है। जिस दौरान आपको ना तो कोई परेशान करेगा ना ही आपके घर कोई आने जाने वाला होगा।

ध्‍यान रखने योग्य बातें

  • सबसे पहली ध्‍यान रखने वाली बात ये है कि आप केवल उस समय का चुनाव करें। जो आपके हिसाब से सही हो ना कि आप दूसरों को देखकर अपने पढ़ने का सही समय चुन लें।
  • यदि आप किसी ऐसी परीक्षा की तैयारी कर रहे जिसमें बहुत ज्‍यादा मेहनत करने की जरूरत होती है। तो आप उसके अंदर समय सारिणी (Time Table) को भूलकर अपना सारा समय केवल पढ़ाई ही करें।
  • कभी भी इस तरह से पढ़ने की कोशिश ना करें कि कभी आप सुबह पढ़ लें, कभी शाम को, कभी दोपहर को। इससे आपका ना तो पढ़ाई में मन लगेगा ना ही समय ही सेट (Time set) हो पाएगा।
  • समय से ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण आपकी पढ़ाई होती है। इसलिए यदि आप बिना सही समय के भी अच्‍छी पढ़ाई कर सकते हैं। तो इससे बेहतर आपके लिए कोई बात नहीं हो सकती है।
  • कई छात्र हर महीने अपना नया टाइम टेबल (Time Table) ही बनाते रहते हैं। ये तरीका बेहद गलत होता है। आप एक टाइम टेबल बना ल‍ीजिए। इसके बाद आप सिर्फ उसका पालन कीजिए।

इसे भी पढ़ें: स्टूडेंट पैसा कैसे कमाए?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि Padhai karne ka sahi time क्‍या होता है। इसे जानने के बाद आप आसानी से समझ सकते हैं कि आपका पढ़ाई करने का सही समय क्‍या होगा। यदि आप अपने पढ़ने का सही समय जान लेते हैं तो आप बेहतर तरीके से पढ़ तो सकते हैं। साथ ही अपने नतीजों में भी सुधार ला सकते हैं। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो आप इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी अवश्‍य शेयर करें। साथ ही इससे जुड़ा यदि आपका कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करें।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.6 / 5. कुल वोट 353

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment