sociology ( समाजशास्त्र ) books for UPSC in Hindi

4.6
(392)

Sociology Best Books

sociology ( समाजशास्त्र ) books for UPSC in Hindi: आज की पोस्ट “Top 10 Sociology Books For UPSC In Hindi” विषय पर आधारित है जहां आप जान पाएंगे उन Top 10 Sociology यानी समाजशास्त्र किताबों की लिस्ट के बारे में जिनको इंटरनेट पर अच्छी खासी Rating प्राप्त है और ये किताबें ज्यादातर यूपीएससी टॉपर व प्रोफेसर द्वारा Suggest की जाती है। इन किताबों को पढ़कर अब तक बहुत सारे UPSC Aspirants ने यूपीएससी परीक्षा Qualify की। संभवतः आपको मालूम होगा UPSC Exam हमारे देश की सबसे बड़ी परीक्षा मानी जाती है और हर वर्ष परीक्षा का आयोजन जाता है और यह संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा होती है।

जिसका आयोजन भारत में सरकारी नौकरी के लिए सबसे बड़े पदों पर नियुक्ति के उद्देश्य से किया जाता है। इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने वाले सभी अभ्यर्थियों को IAS, IPS, IFS एवं IRS जैसे सर्वोच्च पदों पर नियुक्त किया जाता है। देश के बहुत से युवा यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करते हैं किंतु वास्तव में ज्यादातर अभ्यर्थियों को नहीं मालूम होता कि उनके विषयों के लिए किस प्रकाशन अथवा किस लेखक की पुस्तक बेहतर व मददगार होगी। इसलिए आज हम उन्हीं विषयों में से एक विषय ‘समाजशास्त्र’ की बेस्ट किताबों की सूची यहां साझा करेंगे जिससे यूपीएससी की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को सही पुस्तक का चुनाव करने में थोड़ी सहायता मिल सके। तो चलिए शुरुआत करते हैं।

समाजशास्‍त्र क्‍या होता है?

Sociology books for UPSC in Hindi के बारे में हम आपको जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको बताते हैं कि समाजशास्‍त्र क्‍या होता है। दरअसल, यह भी एक विषय होता है। जिसके अंदर आपको समाज के बारे में जानकारी दी जाती है। इस विषय को पढ़कर आप जान सकते हैं कि समाज किन तत्‍वों से मिलकर बना है। समाज किस तरह से चलता है।

इस विषय की खास बात ये है कि समाजशास्‍त्र पढ़कर कोई भी इंसान अपने समाज के बारे में पूरी तरह से परिचित हो सकता है। जिसके बाद उसके आसपास घटने वाली हर सामाजिक घटना की जानकारी आसानी से हो सकती है कि समाज पर इसका क्‍या प्रभाव पड़ेगा। साथ ही समाज में इस तरह की घटनाओं को घटने से कैसे रोका जा सकता है।

समाजशास्त्र बुक इन हिंदी UPSC

समाजशास्‍त्र किसे पढ़ना चाहिए?

यदि हम समाजशास्‍त्र विषय की बात करें तो यह आपको कॉलेज स्‍तर पर ही देखने को मिलता है। ऐेसे में जब आप स्‍कूल से निकलते हैं तो आपको इसकी बिल्‍कुल भी जानकारी नहीं होती है कि समाजशास्‍त्र कैसा विषय है। लेकिन हम आपको बता दें कि समाजशास्‍त्र हर वो छात्र पढ़ सकता है। जिसकी रूचि समाज में घट रही घटनाओं को जानने में और समझने में हो।

जिससे वह अपने समाज को विज्ञान के आधार पर समझ सके। यदि इस विषय की कठिनाई की बात करें तो यह विषय कोई खास कठिन नहीं होता है। बस आप यदि चीजों को समझ कर तैयार करेंगे तो आप इस विषय को बेहद आसानी से पढ़ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: आईएएस के लिए कौन सी किताबें पढ़नी चाहिए? |

Sociology Books For UPSC In Hindi

समाजशास्त्र सामान्य अध्ययन के पेपर के अलावा सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में एक वैकल्पिक पेपर के तौर पर महत्वपूर्ण विषय है। यह सबसे आसान वैकल्पिक विषयों में से एक है और यही मुख्य कारण है जिस वजह से अभ्यर्थी/उम्मीदवार UPSC IAS Mains परीक्षा के लिए इस विषय (समाजशास्त्र) का चुनाव अपने वैकल्पिक विषय के रूप में करते हैं। नीचे हम कई ऐसी Sociology Optional Books की लिस्ट साझा कर रहे हैं जो इस परीक्षा के लिए Best मानी जाती है। नीचे रही Top 10 Sociology Books For UPSC In Hindi की सूची और उनके लेखक के नाम जो निम्न प्रकार से है;

  1. सामाजिक सर्वेक्षण एवं अनुसंधान- Ram Ahuja
  2. जाति-स्वास्थ्य और पितृसत्ता- V. Ramasamy
  3. प्रमुख समाजशास्त्रीय विचारक- L. Doshi
  4. समाजशास्त्र Sociology For B.A.- Prof. Dr. G.K Agrawal
  5. समाजशास्त्र चिंतक एवं सिद्धांतकार- Harikrishna Rawat
  6. समाजशास्त्र Sociology- Prof. M.L. Gupta
  7. जनजातीय समाज की समाजशास्त्र- M.L. Gupta
  8. पाश्चात्य सामाजिक चिंतक- P Singh
  9. परिवर्तन एवं विकास का समाजशास्त्र- G.R. Madan
  10. समाजशास्त्र का परिचय- Prof. M.L Gupta

समाजशास्त्र Optional Books In Hindi

यहां हम कुछ ऐसी बेहतरीन समाजशास्त्र किताबों की लिस्ट साझा करेंगे जिनका सुझाव यूपीएससी टॉपर्स देते हैं जिन्होंने अपनी परीक्षा के समय इन्हीं पुस्तकों का सहारा लिया था और परीक्षा में सफलता हासिल की। इन किताबों की लिस्ट निम्न प्रकार से है;-

  • समाजशास्त्र वैकल्पिक- महापात्रा सर
  • समाजशास्त्र- हरालंबोस और होलबोर्न
  • समाजशास्त्रीय सिद्धांत-जॉर्ज रिट्जर
  • समाजशास्त्रीय विचार-फ्रांसिस अब्राहम और जॉन हेनरी मॉर्गन
  • उपेंद्र सिरी द्वारा समाजशास्त्र
  • राजनीतिक सिद्धांत-ओपी गौबा
  • ग्रामीण समाजशास्त्र-दोशी और जैन
  • जन जातीय भारत में दृढ़ता और परिवर्तन-एमवी राव
  • भारतीय समाज और संस्कृति-नदीम हसनैन
  • भारत में सामाजिक परिवर्तन-एमएन श्रीनिवास
  • ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ऑफ सोशियोलॉजी।
  • भारतीय राष्ट्रवाद की सामाजिक पृष्ठभूमि- एआर देसाई
  • भारतीय परंपरा का आधुनिकीकरण- योगेंद्र सिंह।

IAS Mains Sociology Optional Best Books

  • समाजशास्त्र – एम.एल. गुप्ता एवं डी.डी. शर्मा
  • समाजशास्त्र (मक्ग्राहिल एजुकेशन) – एस.एस. पांडेय
  • समाजशास्त्र नोट्स (हिंदी माध्यम) (संपूर्ण पाठ्यक्रम) – एस.एस. पांडेयI
  • IGNOU समाजशास्त्र (हिंदी) बी.ए. अध्ययन सामग्री
  • भारतीय समाज से जुड़े वर्तमान ज्वलंत मुद्दे- विभिन्न समाचार पत्रों और पत्रिकाओं के माध्यम से
  • मुख्य समाजशास्त्रीय विचारक (पाश्चात्य एवं भारतीय चिंतक)- एस.एल. दोषी एवं पी.सी. जैन
  • कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं की NCERT Books

कुछ ध्‍यान रखने योग्य बातें

  • यदि आपको समाजशास्‍त्र की जानकारी बिल्‍कुल भी नहीं है तो हमारा सुझाव रहेगा कि आप किताब पढ़ने से पहले किसी अध्‍यापक का ऑनलाइन या ऑफलाइन कोर्स खरीद लें।
  • हमने आपको ऊपर जिन किताबों के नाम बताए हैं आप उसके अलावा भी दूसरी किताब खरीद सकते हैं। क्‍योंकि हर लेखक जब किताब लिखता है तो कोशिश करता है कि वो अपनी तरफ से सबसे बेहतरीन दे।
  • इनमें से किसी भी किताब का चुनाव करते समय आप इस बात पर जरूर ध्‍यान दे दें कि उसकी भाषा आपके समझ में आती हो। ऐसा ना हो कि आप लेखक का नाम देखकर किताब खरीद लें पर उसकी भाषा आपके समझ ही ना आए।
  • यदि आप कोई आंकड़ों से जुड़ी किताब खरीदते हैं तो कोशिश करें कि हमेशा उसका हाल फिलहाल में आया संस्‍करण ही खरीदें। क्‍योंकि आंकड़े समय समय पर बदलते रहते हैं। इसलिए आपको हमेशा उनसे अपडेट रहना होता है।
  • सबसे अंतिम ध्‍यान रखने की बात ये है कि समाजशास्त्र बुक इन हिंदी UPSC को जानने के बाद केवल आप किताब खरीद कर रखें ही नहीं, बाल्कि आप उसे लगातार पढ़ते रहें। ऐसी गलती अक्‍सर ज्‍यादतर छात्र करते हैं।

इसे भी पढ़ें: जो विषय आईएएस के लिए महत्वपूर्ण है?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि sociology ( समाजशास्त्र ) books for UPSC in Hindi कौन सी हैं। आप इन्‍हें जानने के बाद आसानी से तय कर सकते हैं कि आपकी पसंद की कौन सी किताब है। जिसके बाद आप उसे खरीदकर अपना समाजशास्‍त्र विषय मजबूत कर सकते हैं। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी शेयर करें। साथ ही इस लेख से जुड़ा आपका कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करें। ऑल इन हिंदी टीम आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करती है।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.6 / 5. कुल वोट 392

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment