Swift क्या है? swift code full form और कैसे पता करें?

4.8
(287)

Swift क्या है?

एक बेल्जियम सहकारी समिति है जो पूरे विश्व में स्थिर बैंकों के बीच वित्तीय लेनदेन और भुगतान से संबंधित सेवाएं प्रदान करती है। इसका मुख्य कार्य मुख्य संदेश नेटवर्क के रूप में कार्य करना है, जिसके माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय भुगतान किए जाते हैं। स्विफ्ट की स्थापना 3 मई 1973 को कार्ल रॉयटर्सकिल्ड (1973-1989) के नेतृत्व में ब्रसेल्स में हुई थी। स्विफ्ट के डाटा center ज़ोएटरवूड (नीदरलैंड्स), कुल्पेपर वर्जीनिया (संयुक्त राज्य अमेरिका) , डिसेनहोफेन (स्विट्ज़रलैंड), और हांगकांग में स्थित है।

अंतिम प्राप्त आकड़ों के अनुसार अभी तक 200 से अधिक देश तथा 11000 से अधिक वित्तीय संसथान SWIFT से जुड़ें है। 

Swift क्या है और कैसे काम करता है?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कभी भी किसी भी देश का पैसा किसी दूसरे देश में नहीं चला सकते हैं। यदि आप उस देश का पैसा किसी भी तरह से ले भी आएं तो भी आप उसका वहां प्रयोग नहीं कर सकते हैं। इसके लिए आपको जरूरत पड़ती है कि आप उस देश का पैसा वहीं जमा करा दें और अपने देश में आकर वही पैसा वहां की करेंसी मे निकलवा लें।

जिसके बाद आप उस पैसे का प्रयोग कर सकते हैं। लेकिन सवाल ये है कि जिस तरह से हमारे देश में सभी बैंक RBI के अधीन आते हैं इसलिए सभी बैंकों में RBI से माध्‍यम से समन्‍वय स्‍थापित हो पाता है। क्‍या इसी तरह से दुनियाभर की बैंकों में समन्‍वय स्‍थापित किया जा सकता है। इसी का जवाब है Swift। जो कि एक तरह से दुनियाभर की बैंकों को एक सूत्र में बांधने का काम करता है।

Swift के आ जाने के बाद आप किसी भी देश में रहते हैं और चाहते हैं कि अपने घर पैसा भेजा जाए या जरूरत होने पर वहां से मंगाया जाए तो आप अपनी नजदीकी बैंक मे जाते हैं और वहां एक फार्म भरते हैं। जिसमें आप जहां पैसा भेजना चाहते हैं उस देश की उस ब्रांच का Swift code भरते हैं। साथ ही बैंक खाते से जुड़ी अन्‍य जानकारी। इसके बाद आप जैसे ही वहां पैसा जमा करते हैं तो वो पैसा सीधा आपके घर के पास वाले बैंक खाते में आ जाता है।

आप इसके बाद जब चाहे तो ये पैसा बैंक से निकाल सकते हैं। इसी के उलट यदि Swift code ना होता तो आप ये पैसा केवल उसी देश की ब्रांच तक ही भेज सकते थे। इसके लिए जरूरी है कि आप जिस बैंक से पैसा जिस बैंक में भेजना चाहते हैं वो दोनों ही बैंक Swift के अंदर आती हों। जिससे दोनों बैंकों में लेन देन होता हो। यदि उनमें से एक भी बैंक Swift के अंतर्गत नहीं आती तो आप पैसे का आदान प्रदान नहीं कर सकते हैं। यहां हम आपको बता दें कि इस तरह से यदि आप पैसा भेजते हैं तो आपसे कुछ चार्ज भी लिया जाता है।

ये भी पढ़ें: नाटो (NATO) क्या है?

इन देशों को Swift से बाहर किया जा चुका है

Swift का असर आप इस बात से समझ सकते हैं कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव के चलते साल 2012 में अमेरिका ने ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लगाते हुए उसे Swift से बाहर कर दिया था। इसके बाद से ईरान किसी भी देश के साथ विदेशी मुद्रा में लेन देन नहीं कर पा रहा है।

ये भी पढ़ें: CIF Number Kya Hota Hai | CIF नंबर कैसे पता करें?

इस बैन से उसकी आर्थिक हालत ऐसी हो गई है कि वो कई देशों से कह रहा था कि वो उसे तेल दे देगा और बदले में दूसरा देश उसे खाने पीने की चीज की सप्‍लाई कर दे। यानि कि Battle system जो कि पुराने समय में ग्रामीण इलाकों में प्रयोग होता था। जो कि ईरान को महज Swift से बाहर करने के चलते अपनाना पड़ रहा था। इसके बाद इसे साल 2016 के अंदर दोबारा से Swift के अंदर ले लिया गया ताकि ईरान की आर्थिक हालत‍ ठीक हो सके।

साथ ही साल 2018 के अंदर उत्‍तर कोरिया के भी कुछ बैंकों को swift से बाहर कर दिया था। यूरोपीय संघ, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा और संयुक्त राज्य अमेरिका ने 2022 में यूक्रेन पर रूसी आक्रमण के जवाब में स्विफ्ट मैसेजिंग सिस्टम से चुनिंदा रूसी बैंकों को हटाने के लिए सहमति व्यक्त की।

इस तरह से आप समझ सकते हैं कि Swift आज एक दूसरे देश से कारोबार में कितनी महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इसके बिना बड़े से बड़ा देश भी घुटनों के बल आ सकता है।

Swift कब अस्तित्‍व में आया?

Swift का निर्माण साल 1970 के दौरान हुआ था। इस दौरान कुछ देशों को महसूस हुआ कि जब हम दूसरे देशों से कारोबार या लेन देन करते हैं तो बेहद कठिनाई का सामना करना पड़ता है इसलिए हमें कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे ये लेन देन आसान हो सके। इसी का समाधान निकाला गया था Swift। शुरूआती सालों में इससे केवल 10 से 15 देश ही जुड़े थे।

जिसके चलते केवल इन्ही देशों के बीच ही एक दूसरे देश से लेन देन हो सकता था। लेकिन जैसे जैसे समय बीता इस Swift से दुनिया के और भी देश जुड़ते चले गए। आज इस Swift से दुनिया के 200 से अधिक देश जुड़े हुए हैं साथ ही हजारों की संख्‍या में इससे बैंक जुड़े हैं। जिनमें हर रोज लोग एक दूसरे देश से पैसा भेजते और निकालते हैं। Swift का मुख्‍यालय बेल्‍जियम में स्‍थित है। जहां से इस पर होने वाले लेन देन पर निगरानी रखी जाती है। साथ ही यहां से नए बैंकों को जोड़ने और हटाने का काम भी किया जाता है।

Swift code क्‍या है

swift code kya hai

SWIFT Code वह आवश्यक code है जिसकी मदद के बिना swift लेन देन संभव नहीं है।  यह अंतराष्‍ट्रीय लेन देन के बीच में प्रयोग होने वाला एक कोड है। जो कि हमारे लेन देन को सुरक्षित और जल्‍दी करने में मददगार सिद्ध होता है।

लेकिन यदि आप इसके बारे में नहीं जानते तो आपको इसके बारे में जानना बेहद जरूरी होता है। क्‍योंकि यदि आपको कभी किसी देश में पैसा भेजना या प्राप्त करना होगा तो इस Swift code की जरूरत आपको जरूर पड़ेगी। इसलिए आप हमारी इस पोस्‍ट को अंत तक पढि़ए। अपनी इस पोस्‍ट में हम आपको Swift code के बारे में विस्‍तार से बताएंगे। साथ ही आप किसी भी बैंक का Swift code कैसे जान सकते हैं इस बारे में भी बताएंगे।

SWIFT code full form क्या होता है?

सबसे पहले हम आपको Swift की Full form बताते हैं जिससे आपको इसके बारे में जानने में जानने में थोड़ी और मदद मिलेगी। जो कि है ‘society for worldwide interbank financial telecommunication’ इसके नाम से ही आप समझ गए होंगे कि यह कोड बैंको से जुड़ा है जो कि उनके संचार में मदद करता है।

साथ ही हम आपको बता दें कि Swift code को कई नामों से जाना जाता है जिसमें ISO 9362, swift BIC, swift id जैसे कुछ नाम हैं जो कि काफी प्रचलित हैं। यह Swift code 8 से 11 अंकों और अक्षरों के बीच में होता है। जिसमें हर अक्षर का अलग अलग मतलब और काम होता है। जो कि बैंक से जुड़ी जानकारी देने का काम करता है।

SWIFT code full form

society for worldwide interbank financial telecommunication

Swift code और IFSC code में क्‍या अंतर है?

यदि हम Swift code और IFSC code में अंतर की बात करें तो इन दोनों कोड में काफी समानता है। Swift code जहां एक दूसरे देश में पैसा भेजने के काम आता है तो वहीं IFSC code अपने देश के अंदर ही किसी भी ब्रांच में पैसा भेजने में मदद करता है। साथ ही IFSC code देश में मौजूद हर बैंक का होता है। जिससे आप किसी भी बैंक में पैसा भेज सकते हैं। लेकिन यदि आप Swift code की बात करते हैं जो जरूरी नहीं है कि आपको ये हर बैंक का मिले। IFSC code भी Swift code की तरह कई अक्षरों का होता है जिसमें संबधित बैंक से जुड़ी जानकारी होती है।

Swift code में हर अक्षर का मतलब क्‍या होता है?

उदारहण के लिए हम एक कोड लेते हें: SBIN-IN-BB-456

  • पहले 4 अक्षर SBIN- इस कोड में सबसे पहले चार अक्षर आने वाले बैंक के नाम के बारे मे बताते हैं कि आप जो पैसा भेजना चाहते हैं वो कौन सी बैंक है। ये चार अक्षर बैंक का Short नाम होता है।
  • अगले दो अक्षर IN- अगले दो अक्षर उस देश मे बारे में बताते हैं जो कि जिस देश में वोबैंक स्‍थित‍ है। उसके बारे में जानकारी देते हैं।
  • Location code BB- इस कोड का सातवां और आठवां अक्षर एक तरह से Location code कहलाता है जो कि उस बैंक की लोकेशन बताता है जिसमें आप पैसा भेजना चाहते हैं। ये लोकेशन उस देश की मुख्‍य बैंक की बताने का काम करता है।
  • अंत के तीन अक्षर 456- इस कोड के अंत में जो तीन अक्षर दिए होते हैं वो उस ब्रांच के बारे में जानकारी देते हैं जिसमें आप पैसा भेजना चाहते हैं। ये अक्षर आप नंबरों में भी देख सकते हैं और कई बार अंग्रेजी की वर्णमाला में भी दिए होते हैं। जिसकी मदद से आप ये जान सकते हैं कि वो ब्रांच आपके घर से कितनी दूर है। जिसमें आपका पैसा आने वाला है।

Swift code 8 और 11 अक्षरों का क्‍यों होता है?

यदि आप सोच रहे हैं कि आखिर Swift code कहीं 8 अक्षरों का तो कहीं 11 अक्षरों का क्‍यों होता है। तो इसका जवाब ये है कि यदि कोई भी ब्रांच क्षेत्रीय इलाके में होती है तो उसका Swift code कुल 11 अक्षरों का होता है। इसमें अंतिम तीन अक्षर उस क्षेत्र की जानकारी देने के लिए जोड़े जाते हैं। लेकिन यदि वो बैंक की मुख्‍य ब्रांच है तो उसका Swift code 8 अक्षरों का होता है। इसमें अंतिम तीन अक्षर नहीं होते हैं। क्‍योंकि इसके अंदर उसकी क्षेत्रीय जानकारी देने की जरूरत नहीं होती है।

अपने बैंक का SWIFT code कैसे ढूंढें?

  • सबसे पहले आपको अपने गूगल में टाइप करना होगा codes इसके बाद इस वेबसाइट में ऊपर दिखाई दे रहे Menu पर क्लिक कीजिए। जिसके बाद आप Swift code पर क्लिक कीजिए। अब आप पहले नंबर पर दिखाई दे रहे Find Swift code पर क्लिक कर दीजिए।
  • यहां पहले ही पेज पर आपसे पूछा जाएगा कि आप जिस देश की बैंक का Swift code जानना चाहते हैं उसका नाम भरिए। आप जैसे ही वहां पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने दुनिया के बहुत सारे देशों के नाम निकलकर आ जाएंगे। आप इनमें से अपने देश का नाम चुन लीजिए।
  • इसके बाद आपसे उस देश की बैंक का नाम चुनने को कहा जाएगा। आप उसे भी लिस्‍ट में से ढूंढ लीजिए और सेलेक्‍ट पर लीजिए।
  • अब इससे अगली लिस्‍ट में आपके सामने बहुत सारे जिले और राज्य खुलकर आ जाएंगे। आप जिस पर भी क्लिक कर देंगे उसी जिले से जुड़े बैंक के Swift code खुलकर आपके सामने आ जाएंगे।
  • अब आप जिस भी ब्रांच का Swift code जानना चाहते हैं उस पर क्लिक करके उसे देख सकते हैं। यहां उस जगह मौजूद हर ब्रांच का Swift code दिखाई देगा। जिससे जुड़ी पूरी जानकारी आप पेज के नीचे देख सकते हैं।

यदि आपके बैंक का Swift code नहीं है

हमारे देश में बहुत से बैंक ऐसे भी हैं जिनका Swift code अभी तक नहीं बना है। क्‍योंकि अंतराष्‍ट्रीय लेन देन की इजाजत हर बैंक को नहीं होती है। ऐसे में यदि आपके बैंक का Swift code नहीं है तो आपके बैंक के आसपास जो भी बैंक है जिसका Swift code मौजूद है आप उसका प्रयोग कर सकते हैं।

इसके जरिए भी आपके खाते में जो भी पैसा भेजा जाएगा वो सीधा आपके खाते में आएगा। बस आप ध्‍यान ये रखिए कि आप जिस ब्रांच का Swift code दे रहे हैं वो आपकी बैंक की ही हो। यदि आप दूसरी किसी भी बैंक का देते हैं तो आपका पैसा नहीं आएगा। साथ ही इस मामले में आप बैंक की हेल्‍पलाइन नंबर पर भी बात कर सकते हैं।

Conclusion

आज अपने जाना कि SWIFT क्या है? SWIFT code क्या है? और किसी देश के विकाश और उसे आर्थिक रूप से स्थिर बनाये रखने में swift की क्या भूमिका है और कैसे आप अपने बैंक का swift code कैसे पता करें। यदि आपका swift या swift code से सम्बंधित कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके बताएं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.8 / 5. कुल वोट 287

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि "आल इन हिन्दी" का Founder हूँ. मैं एक Economics Graduate हूँ। कहते है ज्ञान कभी व्यर्थ नहीं जाता कुछ इसी सोच के साथ मै अपना सारा ज्ञान "आल इन हिन्दी" द्वारा आपके साथ बाँट रहा हूँ। और कोशिश कर रहा हूँ कि आपको भी इससे सही और सटीक ज्ञान प्राप्त हो सकें।

Leave a Comment