What is Voice mail? वॉइस मेल क्या होता है?

इन्टरनेट विलासिता के स्थान से ऊपर खिसककर अब जरूरत के कॉलम में पहुच चूका है। दुनिया भर में internet यूजर की संख्या में पिछले कुछ वर्षों में काफी बढ़ोतरी हुई है। Wikipedia की मानें तो लगभग 75 करोड़ यूजर के साथ भारत दुसरे स्थान पर है। भारत में इन्टरनेट इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या में पिछले 5 वर्षों में  (2015-2020) में 76 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

Internet हर काम को आसान करने में काफी मददगार साबित हो रहा है। परन्तु कुछ सेवाएं ऐसी भी है जिन्हें अभी भी इस्तेमाल करना इन्टनेट से भी सहज और सुगम है। आज हम आपको ऐसी ही एक सेवा के बारे में बताएँगे जिसका नाम है Voice mail.

क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर Voice mail क्या होता है? ये किस काम आता है? आज हम आपको विस्तार से बताने जा रहे है कि airtel voice mail और vi voice mail कैसे कैसे activate करें।

Voice mail जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है, कि ये एक तरह का ध्वनि संदेश होता है। इसे हम तब प्रयोग करते हैं, जब सामने वाला वाला व्यक्ति हमारा फोन नहीं उठाता। उस दौरान आप वॉइस मेल  के जरिए उसे अपना ध्वनि संदेश भेज सकते हैं। आइए आज आपको साधारण भाषा में सटीक तरीके से बताते हैं what is Voice mail

What is Voice mail in hindi

जैसा कि आपको बताया ये एक ध्वनि संदेश होता है। यदि आपने इसे अपने नंबर पर इस सेवा को सक्रिय कर रखा है, तो जब भी कोई व्यक्ति आपको फोन करता है और आप फोन नहीं उठाते तो बाद में कंप्यूटर की तरफ से आपको एक संदेश बताया जाता है कि आप 1 दबाकर या बीप के बाद अपना वॉइस मेल  छोड़ सकते हो। यही संदेश बाद में उस व्यक्ति को प्राप्त हो जाएगा, जिसने आपका उस समय फोन नहीं उठाया था। एक बार यदि आप अपनी तरफ से Voice mail रिकॉर्ड करके छोड़ देते हैं, तो प्राप्त करने वाला व्यक्ति उसे कभी भी सुन सकता है।

जानिए-

कब हुई थी Voice mail की शुरुआत

माना जाता है कि वॉइस मेल  का इतिहास कई दशक पुराना है। इसकी शुरुआत साल 1970 के दौरान हुई थी। Voice mail की शुरुआत ‘गार्डन मैथ्यूज’ के द्वारा की गई थी। लेकिन शुरुआत होने के बाद लगातार इसमें कई बदलाव किया जाता रहा। जिससे लोगों के बीच ये लोकप्रिय हो सके। लगातार काम करने के बाद साल 1980 का वो दौर आया, जिसमें Voice mail ने अपनी पूरी तरह से लोकप्रियता हासिल कर ली।

VOICE MAIL ACTIVATE करने का तरीका

airtel voice mail

यदि आप एयरटेल के उपभोक्ता हैं और वॉइस मेल सर्विस शुरू करना चाहते हैं, तो अब हम आपको बताने जा है कि Airtel Voice mail सर्विस कैसे शुरू कर सकते हैं। आप इस तरीके से अपने मोबाइल नंबर पर Voice mail की सुविधा शुरू कर सकते हैं।

  • इसके लिए सबसे पहले अपने फोन से *321*671# डायल कीजिए। यदि आप इस सर्विस को मैसेज के द्वारा शुरू करना चाहते हैं, तो अपने फोन के मैसेज बॉक्स में start VMS टाइप कीजिए और उसे 52555 पर भेज दीजिए।
  • इसके तुरंत बाद आपको एक मैसेज प्राप्त होगा जिसमें Voice mail की सर्विस सक्रिय होने की जानकारी आपको दे दी जाएगी।
  • इसी मैसेज में आपको 52555 नंबर भी दिया गया होगा। अब आप इस नंबर पर फोन करके अपना चार अंकों का पासवर्ड सेट कर लीजिए। ध्यान रखें इस पासवर्ड को आप अगर एक बार सेट कर लेते हैं, तो दोबारा बदल नहीं सकते हैं। इसलिए सेट करने के दौरान पूरी सावधानी बरतें।
  • इसके बाद कंप्यूटर की तरफ से बताए गए निर्देशों का पालन करके आप आगे की सारी सेटिंग कर सकते हैं और आने वाले Voice mail सेव कर सकते हैं।

VI (Vodafone-idea) voice mail

  • यदि आप वोडाफोन यानी VI के उपभोक्ता है, तो अपने फोन के मैसेज बॉक्स में जाकर <ACT VMS> टाइप करें। इसके बाद आप इसे 199 पर भेज दीजिए।
  • इस मैसेज को भेजते ही आपको एक SMS प्राप्त होगा, जिसमें आपकी VOICE MAIL की सर्विस शुरू करने की जानकारी दी गई होगी।
  • इसके बाद आप 51234 पर कॉल करके अपना PIN CODE सेट कर लीजिए। इस पिन कोड को इस तरह से बनाएं कि मजबूत भी रहे और आप इसे याद भी रख सकें।
  • इसके बाद आप कंप्यूटर की तरफ से बताए गए निर्देशों का पालन करके इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

इस तरह फोन से सेट करें वॉइस मेल सर्विस

Voice mail सेट करने की प्रक्रिया बेहद आसान है। इसके लिए आपको अपने फोन के डायल पैड से कुछ देर तक 1 दबाए रखना होगा। इसके बाद आपके सामने एक दूसरा बाॅक्स खुलकर आ जाएगा। इस बॉक्स में आप अपना नंबर भर दीजिए और ok कर दीजिए। इसके बाद आप फिर से Dial Pad खोलो और थोड़ी देर तक 1 दबाए रखिए। अब आपकी कॉलिंग होनी शुरू हो जाएगी। इस दौरान आपको कंप्यूटर जो निर्देश देता है उसका पालन करके अपना पिन कोड सेट कर लीजिए। सब कुछ सेट होने के बाद आपको जब भी कोई Voice mail भेजेगा आप अपना पिन डालकर उसे सुन सकते हैं।

अन्य VOICE MESSAGE सर्विस

यदि आप अभी तक केवल VOICE MAIL सर्विस के बारे में ही जानते थे, तो हम आपको बता दें कि इस तरह की सर्विस दूसरी सोशल मीडिया ऐप भी आपको देती हैं। इसमें Whats app, facebook, telegram आदि शामिल हैं। इसमें यदि आप मैसेज टाइप नहीं करना चाहते, तो अपना voice message रिकॉर्ड करके भेज सकते हैं। आपके द्वारा भेजा गया voice message तुरंत सामने वाले के फोन पर पहुंच जाता है। जिसे वो कभी सुन भी सकता है।

Voice mail और Speed dial में अंतर

बहुत से लोग Voice mail और speed dial को एक ही समझते है। जबकि ये इसके एकदम उलट है। Voice mail तो आप जब फोन ना उठाए तो आपको कोई भेज सकता है। जबकि Dial pad में आप 2 से लेकर 9 नंबर तक ऐसे किन्हीं नंबरों को सेव कर सकते हैं। जिन्हें आप बार बार फोन करते हैं। जैसे कि दो नंबर पर आपने अपने दोस्त का नंबर सेव किया है, तो जैसे ही 2 नंबर को दबाए रखेंगे। सीधा आपके दोस्त के पास फोन मिल जाएगा। इसे ही Speed Dial कहा जाता है।

voice message और voice mail के फायदे

  • Voice mail के जरिए यदि आप फोन नहीं भी उठा पाए तो सामने वाला आपको ध्वनि संदेश भेज सकता है।
  • ये सुविधा ज्यादातर टेलीकॉम कंपनियां फ्री देती है। लेकिन कुछ कंपनियां इस सर्विस को नहीं प्रदान करती हैं।
  • social media app पर voice message भेजने की सुविधा के चलते आपको मैसेज टाइप नहीं करना पड़ता है।
  • voice message में बोलकर आप कोई लंबी बात भी कह सकते है, जबकि मैसेज टाइप करने में बहुत समय लग जाएगा।

अंतिम शब्द

आज तरह तरह के messages app आ गए है, जिनकी वजह से internet का इस्तेमाल करके free में किसी भी प्रकार के message को आसानी से भेजा जा सकता है। Voice मेल की सुविधा का इस्तेमाल भारत में ज्यादा नहीं होता क्योकि अधिकतर लोगों को इसकी जानकारी ही नहीं है।

इसलिए आज हमने आपको बताया कि what is Voice mail? Voice mail का प्रयोग आप अपने जीवन में किस तरह से कर सकते हैं। उम्मीद है अब तक आपके लिए Voice mail की अनसुलझी पहेली अब सुलझ गई होगी। यदि आप ऐसी ही रोचक और महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए हमसे जुड़ें रहे।

Leave a Reply