फॉरेस्‍ट गार्ड का क्‍या काम होता है?

4.5
(360)

Forest Guard कैसे बनें?

Forest Guard Ka Kya Kaam Hota Hai: Forest Guard का नाम आपने कई बार सुना होगा। इससे जुड़ी भतियां भी समय समय पर आती रहती हैं। लेकिन जानकारी ना होने के चलते बहुत से युवा उसमें आवदेन ही नहीं करते हैं। क्‍योंकि उन्‍हें लगता है कि इस नौकरी को हर कोई नहीं कर सकता है।

ऐसे में यद‍ि आप भी नहीं जानते हैं कि Forest Guard क्‍या होता है। फॉरेस्‍ट गार्ड का क्‍या काम होता है। तो हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें। अपने इस लेख में हम आपको जानकारी देंगे कि आप फॉरेस्‍ट गार्ड कैसे बन सकते हैं। साथ ही एक फारेस्‍ट गार्ड को नौकरी के बाद क्‍या काम करना होता है।

फॉरेस्‍ट गार्ड क्‍या होता है?

आइए आपको सबसे पहले जानकारी देते हैं कि Forest Guard क्‍या होता है। इसे हिंदी में ‘वन रक्षक’ कहते हैं। जैसा कि नाम से ही जाहिर हो रहा है कि इसका काम वनों की रक्षा करना होगा। तो सही मायने में इसका काम भी वनों की रक्षा करना ही होता है। लेकिन इसकी खास बात ये होती है कि यह बहुत बड़े बड़े वनों की रक्षा करता है।

जिन जगहों पर बड़े बड़े वन होते हैं। अक्‍सर इनकी तैनाती वहीं की जाती है। इसके बाद ये हमेशा वहां पर उन वनों की देखभाल करने का काम करते हैं और वहीं पर रहते भी हैं। हालांकि, हम एक बात स्‍पष्‍ट कर दें कि इनका काम वनों की सुरक्षा करना होता है। ना कि माली का काम होता है। माली का काम पौधों की देख भाल करना होता है।

फॉरेस्‍ट गार्ड का क्‍या काम होता है

फारेस्‍ट गार्ड का काम

  • इसका सबसे पहला काम ये होता है कि जिस वन रक्षक की ड्यूटी जिस जगह लगाई गई हो। वो वहां पर घूम घूम कर देखता रहे कि कोई इंसान वनों को कोई किसी तरह से नुकसान तो नहीं पहुंचा रहा है।
  • यदि वन रक्षक की जानकारी में कोई वनों को किसी तरह से नुकसान पहुंचा रहा है तो उसे रोकना या उसकी जानकारी जिला प्रशासन को देना ताकि उसके ऊपर सही कार्रवाई हो सके।
  • वनों का एक आरक्षित दायरा होता है। लेकिन कई बार उसके किनारे वाले लोग उसे काटकर छोटा करने लगते हैं। ऐसे में वन रक्षक का काम होता है कि पूरे आरक्षित दायरे में कोई भी इंसान अनैतिक काम ना कर सके।
  • यदि वन में किसी तरह से कभी आग लग जाती है। तो उसे बुझाना और उसमें रहने वाले जानवरों की उससे रक्षा करना वर रक्षक की जिम्‍मेदारी होती है।

वन रक्षक कैसे बनें?

आइए अब हम आपको जानकारी देते हैं कि यदि आप एक वन रक्षक बनना चाहते हैं तो कैसे बन सकते हैं। इसके लिए योग्यता और भर्ती प्रक्रिया क्या रहती है। जिसे पूरा करके आप एक वन रक्षक बन सकते हैं। साथ ही इसकी तैयारी कैसे कर सकते हैं।

वन रक्षक बनने की योग्यता

यदि हम वन रक्षक बनने की योग्यता की बात करें तो इसके लिए हमेशा बारंहवीं पास मांगा जाता है। साथ ही बारहंवी में आपके पास कोई भी स्‍ट्रीम (Stream) हो इस बात की छूट रहती है। बस आपके कुल कम से कम 50 प्रतिशत अंक बन रहे हों। इसके बाद आप आसानी से वन रक्षक के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आयु सीमा

यदि वन रक्षक बनने की आयु सीमा की बात करें तो यह पूरी तरह से राज्‍य सरकार के ऊपर निर्भर करती है। लेकिन सामान्‍यत: हर राज्‍य में आपको 18 से लेकर 28 वर्ष के बीच आयु देखने को मिल जाती है। लेकिन यदि आप किसी आरक्षित श्रेणी से हैं तो आपको आयु में अलग से छूट भी दी जाती है। जिसे आप जारी होने वाले विज्ञापन में देख सकते हैं। सामान्‍यत: ओबीसी (OBC) को 3 साल की छूट जबकि एससी (SC) और एसटी (ST) को 5 साल की छूट दी जाती है।

वन रक्षक की चयन प्रक्रिया

यदि हम वन रक्षक भर्ती की चयन प्रक्रिया की बात करें तो यह दूसरी तमाम भर्तियों से थोड़ी अलग होती है। इसके अदंर आपको सबसे पहले ऑनलाइन आवदेन करना होता है। इसके बाद आपका फिजिकल टेस्‍ट (Physical Test) लिया जाता है। यदि आप फिजिकल पास कर लेते हैं तो आपकी लिखित परीक्षा (Written Exam) ली जाती है। उसे भी पास करने वालों के दस्‍तावेजों की जांच (DV) की जाती है। इसके बाद जो भी छात्र पूरी प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं। उन्हें अंतिम रूप से चयनित कर लिया जाता है।

वन रक्षक की ट्रेनिंग

जो भी लोग इस परीक्षा में चयनित होते हैं। उन्‍हें ड्यूटी से पहले एक बार ट्रेनिंग दी जाती है। जिसे आमतौर पर सभी लोग पास कर लेते हैं। इसके अंदर आपको बताया जाता है कि आपको जंगल में कैसे काम करना है। आपकेा क्‍या क्या खतरे हो सकते हैं। उनसे बचाव कैसे किया जा सकता है। ये ट्र‍ेनिंग प्रत्‍येक वन रक्षक को काम करने में मददगार सिद्ध होती है।

इसे भी पढ़ें: लड़कियों के लिए सबसे अच्छी जॉब कौन सी है?

फिजिकल कैसे होता है?

यदि हम फिजिकल की बात करें तो यह हर राज्‍य का अलग से होता है। इसलिए यहां हम आपको केवल एक अंदाजा ही दे सकते हैं। जिसमें सबसे पहले पुरूषों को 10 किलोग्राम भार लेकर 14 किलोमीटर तक जाना होता है। जिसके लिए 4 घंटे का समय दिया जाता है।

जबकि इसी तरह से महिलाओं को 5 किलोग्राम का भार लेकर लगभग 10 कितोमीटर तक जाना होता है। जिसके लिए भी 4 घंटे का समय दिया जाता है। जो लोग इसे पास कर लेते हैं उन्‍हें लंबी कूद लगाकर दिखानी होती है। इसके बाद उनकी लंबाई (पुरूष 163 CM महिला 153 CM) और छाती का माप लिया जाता है। ध्‍यान देने वाली बात ये है कि इसके अंदर जो लोग आरक्षित श्रेणी से होते हैं उन्‍हें कुछ छूट भी दी जाती है। जिसे भर्ती आने पर आप देख सकते हैं।

आवेदन कैसे करें?

यदि हम वन रक्षक भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया की बात करें तो यह पूरी तरह से ऑनलाइन है। इसके अंदर आपको सबसे पहले राज्‍य कर्मचारी चयन आयोग की वेबसाइट पर जाना होगा। क्‍योंकि वन रक्षक की भर्ती हर राज्‍य में वही करता है। वहां आपको अपना फार्म भरना होगा। इसके बाद आपको अपनी फीस कटवानी होगी। बस अंत में आपको अपने फार्म का प्रिंट निकाल कर रख लेना होगा। यदि आपको ऑनलाइन फार्म भरना नहीं आता है तो आप किसी साइबर कैफे (Cyber cafe) से भी भरवा सकते हैं।

आवेदन के लिए जरूरी दस्‍तावेज

  • आधार कार्ड
  • आपका फोटो
  • आपकी योग्यता से संबधित दस्‍तावेज
  • राज्‍य निवासी प्रमाण पत्र
  • आरक्षित श्रेणी के लिए जाति प्रमाण पत्र

वन रक्षक भर्ती कब निकलती है?

यदि हम वर रक्षक भर्ती के निकलने के समय की बात करें तो इसका समय कोई तय नहीं है। ना ही पदों की संख्‍या कोई तय है। यह बात पूरी तरह से राज्‍य सरकार के ऊपर निर्भर करती है कि भर्ती कब निकालनी है। आप केवल एक काम कर सकते हैं कि आप लगातार राज्‍य कर्मचारी चयन आयोग की वेबसाइट को देखते रहें। या कई ऐसी वेबसाइट होती हैं। जो कि रोजगार से संबधित जानकारी देने का काम करती हैं।

आप महीने में एक दो बार उन्‍हें देखते रहें। जैसे ही वन रक्षक भर्ती आएगी। आपको उन वेबसाइट की मदद जानकारी मिल जाएगी। जिसके बाद आप उसमें अपना ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। यदि आप नियमित समाचार पत्र पढ़ते हैं तो भी आपको जानकारी मिल जाएगी।

परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

यदि आप वन रक्षक की तैयारी करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आप अपने राज्‍य की कर्मचारी चयन आयोग की वेबसाइट पर चले जाएं। वहां आपको वन रक्षक का सेलेब्‍स (Forest Guard syllabus) मिल जाएगा। जिसमें बताया गया होगा‍ कि वन रक्षक भर्ती में कितने प्रश्‍न सामान्‍य ज्ञान के पूछे जाएंगे, कितने प्रश्‍न गणित के होंगे। कितने प्रश्‍न रीजनिंग के होंगे।

इसे जानने के बाद आप उसी अनुसार किताबें खरीद लीजिए। इसके बाद आपको बाजार से कुछ पिछले सालों के प्रश्‍न पत्र भी मिल जाएंगे। आप उन्‍हें भी देख लीजिए। जिससे आपको अंदाजा हो जाएगा कि परीक्षा का क्‍या स्‍तर होता है। बस उसे ध्‍यान में रखकर आप तैयारी को आगे बढ़ा सकते हैं।

फिजिकल की तैयारी कैसे करें?

फिजिकल की तैयारी करना सबसे चुनौतिपूर्ण काम माना जाता है। इसलिए आप हमेशा इसमें पहले से ही लग जाएं। इसके लिए आपके आसपास कोई स्‍टेडियम मौजूद हो तो आप वहां जा सकते हैं। वहां आपको दूसरे बच्‍चों का साथ भी मिल जाएगा। अन्‍यथा कई कोचिंग सेंटर फिजिकल की तैयारी करवाने का काम करते हैं। आप उनसे बात कर सकते हैं।

इसके बाद आपको वो एक कोच दे देंगे। आप उसके मार्गदर्शन में अपनी तैयारी आगे बढ़ा सकते हैं। लेकिन कभी भी इस गलतफहमी में ना रहें कि आपका फिजिकल तो बिना तैयारी के ही पास हो जाएगा। क्‍योंकि यदि आप एक बार फेल हो जाते हैं तो दोबारा मौका आपको कई साल बाद मिलेगा।

शुरूआती सैलरी

यदि हम एक वन रक्षक की शुरूआती सैलरी की बात करें तो यह 27 हजार से लेकर 35 हजार रूपए तक दी जाती है। इसके अलावा क्‍योंकि आपकी ड्यूटी वनों में लगाई जाती है। इसलिए कुछ सुविधाएं भी अलग से दी जाती हैं। कुछ राज्‍यों में सैलरी इससे ज्‍यादा भी दी जाती है। यदि आपक चयन बतौर वन रक्षक होता है। तो कुछ सालों बाद आपकी पदोन्‍नती भी दी जाती है। जिससे आपका वेतन भी बढ़ जाता है।

वन रक्षक से जुड़ी सावधानी

वन रक्षक से आप समझ सकते हैं कि आपकी ड्यूटी जिन जंगलों में लगाई जाएगी। वहां तस्‍कर के अलावा बहुत सारे जानवरों का खतरा भी होगा। लेकिन उनसे मुकाबले के लिए आपके पास महज एक डंडा होगा। कभी भी वन रक्षक के पास किसी तरह की बंदूक या हथियार नहीं होता है।

ऐसे में कई बार देखा जाता है कि वन रक्षक लकड़ी के तस्‍कर या जंगली जानवरों से मुकाबला करते हुए अपनी जान तक गंवा देते हैं। खास तौर पर रात के समय और ठंड में धुंध के समय वन रक्षकों की नौकरी बेहद कठिन हो जाती है। इसलिए आप केवल सरकारी नौकरी और अच्‍छी सैलरी के लालच में आकर ही वन रक्षक बनने का विचार ना लाएं। आपके अंदर इस नौकरी को करने का साहस भी होना चाहिए।

ध्‍यान देने वाली बातें

  • वन रक्षक भर्ती में दिव्‍यांग लोग आवदेन नहीं कर सकते हैं। इसलिए वो लोग कभी इस भर्ती की तैयारी ना करें।
  • वन रक्षक भर्ती में ऐसी महिला और पुरूष कामयाब नहीं होते हैं। जो कि Office Work करना पसंद करते हैं। इसके अंदर आपको ऐसा काम कभी नहीं मिलने वाला।
  • वन रक्षक बनने से पहले आपको मानसिक तौर पर तैयार हो जाना चाहिए। क्‍योंकि इसके अंदर आपको कभी गर्मी कभी सर्दी और बरसात में काम करना पड़ सकता है।
  • प्रकृति और खेत खलिहान से जुड़े लोगों के लिए ये भर्ती बेहद शानदार होती है। क्‍योंकि वन रक्षक को सारी उम्र इन्‍हीं वनों के बीच ही गुजारनी होती है।
  • वन रक्षक की नौकरी में आपको कई बार रात को भी ड्यूटी देनी पड़ सकती है। साथ ही कई बार त्‍यौहारों के समय भी जंगलों में ही रहना पड़ सकता है। इसलिए यदि आप ऐसा कर सकें तो ही इस नौकरी के साथ जाएं।
  • क्‍योंकि वन रक्षक के अंदर पहले फिजिकल होता है। इसलिए जरूरी है कि आप पढ़ने के साथ फिजिकल भी तैयारी करते रहें। क्‍योंकि इसमें परीक्षा से कठिन फिजिकल पास करना होता है।
  • आपकी तैनाती कई बार ऐेसे वनों में भी कर दी जाती है। जहां बिजली और पानी के संकट के आपके फोन में नेटवर्क भी नहीं आता है। जिससे आप अपने घर बातचीत भी नहीं कर पाते हैं।

इसे भी पढ़ें: सेल्फ स्टडी कैसे करे?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि फारेस्ट गार्ड का क्या काम होता है। इसे समझने के बाद आप आसानी से तय कर सकते हैं कि आप बतौर वन रक्ष काम कर सकते हैं या नहीं। यदि आपको लगता है कि आप एक वन रक्षक बन सकते हैं। तो इसकी भर्ती का इंतजार ना करके इसकी तैयारी आज से ही शुरू कर दें। क्‍योंकि भर्ती आने के बाद आपको तैयारी करने का समय बहुत कम मिलेगा।

यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी शेयर करें। साथ ही इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करें। हम आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.5 / 5. कुल वोट 360

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment