Microbiology in Hindi | माइक्रोबायोलॉजी क्या है?

4
(341)

माइक्रोबायोलॉजी की पढ़ाई कैसे करें?

Microbiology in Hindi: माइक्रोबायोलॉजी के बारे  में आपने अवश्‍य सुना होगा। इसके बारे में ज्‍यादा अच्‍छे से वो छात्र जरूर जानते होंगे जो कि विज्ञान से जुड़ी किसी तरह की पढ़ाई करते हैं। क्‍योंकि उनके लिए विज्ञान की हर शाखा के बारे में जानकर उसके साथ मिलकर ही काम करना होता है। ताकि बेहतर परिणाम सामने आ सकें। लेकिन यदि आप माक्रोबायोलॉजी के बारे में नहीं जानते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक पढि़ए।

अपने इस लेख में हम आपको बताएंगे कि माइक्रोबायोलॉजी क्‍या है। साथ ही ये किस तरह से काम करती है। इसके अंदर क्‍या काम किया जाता है। इसके अलावा यदि आप आगे चलकर माइक्रोबायोलॉजी के क्षेत्र में भविष्‍य की राह तलाश रहे हैं तो हम आपको इससे जुड़े कोर्स और कॉलेज की जानकारी भी देंगे।

माइक्रोलॉजी क्‍या होती है?

Microbiology in Hindi में सबसे पहले हम आपको जानकारी देते हैं कि माइक्रोबायोलॉजी क्‍या होती है। दरअसल, यह भी विज्ञान की एक शाखा होती है। जिसके अंदर सूक्ष्‍म जीवाणुओं का अध्‍यन्‍न किया जाता है। जिन्‍हें हम लोग आम भाषा में वायरस कहते हैं। विज्ञान की यह शाखा सूक्ष्‍म जीवाणुओं का अध्‍यन्न करके पता लगाती है कि इनका मानव जीवन पर और पशु पक्षिओं पर क्‍या प्रभाव पड़ता है।

साथ ही इनके प्रभाव का असर किस तरह से होता है। साथ ही यदि उसका कोई गलत प्रभाव होता है तो उसे कैसे कम किया जा सकता है। आज हम जितनी भी वायरस जनित रोग के बारे में जानते हैं। उनकी खोज माइक्रोबायोलॉजी के अंदर ही की गई थी। हाल के कुछ वर्षों में जिस तरह से वायरस जनित बिमारियां तेजी से बढ़ने लगी हैं। तो माइक्रोबायोलॉजी का महत्‍व भी काफी ज्‍यादा बढ़ गया है। इसके बढ़ते महत्‍व को देखते हुए कहना गलत नहीं होगा कि इसके अंदर अपने भविष्‍य की राह की तलाश रहे युवाओं की राह बेहद आसान हो गई है।

माइक्रोबायोलॉजी क्या है

माइक्रोबायोलॉजी का इतिहास

माइक्रोबायोलॉजी के इतिहास की यदि हम बात करें तो यह काफी पुराना है। बात 1674 ईश्‍वी की है। इस दौरान एक Antonie Van नाम का इंसान था जो कि दर्जी का काम करता था। इस दर्जी ने कपड़ों को बारीकी से देखने के लिए एक लैंस बनाया हुआ था। जिससे वो कपड़ों की गुणवत्‍ता की जांच करने का काम करता था।

इसी तरह उन्‍होंने एक दिन सूक्ष्‍मदर्शी बना दी। जिससे उन्‍होंने पास के अपने तालाब में देखा तो पाया कि इस पानी के अंदर तो लाखों की संख्‍या में बैक्‍टीरिया और प्रोटोजोआ तैर रहे हैं। बस यहीं से कहानी शुरू हो गई माइक्रोबायोलॉजी की। जिसके बाद से इन्‍हें Father of Bacriology कहा जाने लगा। तब से लेकर आजतक तक‍नीकों की मदद से हर दिन वैज्ञानिक कुछ ना कुछ नया खोजकर दुनिया के सामने लाते रहते हैं।

माइक्रोबायोलॉजी में करियर कैसे बनाएं?

आगे हम आपको विस्‍तार से जानकारी देने जा रहे हैं कि आप माइक्रोबायोलॉजी में अपना करियर कैसे बना सकते हैं। इसके लिए आपको कौन सा कोर्स करने की जरूरत पड़ेगी। साथ ही कोर्स की फीस और योग्यता क्या रहेगी। इसके अलावा आपको भविष्‍य में किस तरह की संभावनाएं देखने को मिलेंगी।

इसे भी पढ़ें: Hotel management course in Hindi

कोर्स की योग्यता

Microbiology in Hindi में सबसे पहले हम आपको बताते हैं कि माइक्रोबायोलॉजी से जुड़ा कोई भी कोर्स करने के आपको कितना पढ़ा होना चाहिए। इसके लिए आपको कम से कम बारहंवी पास होना चाहिए। साथ ही आपके पास विषय के तौर पर फिजिक्‍स, केमिस्‍ट्री और बायोलॉजी अवश्‍य रूप से होने चाहिए। साथ ही आपके कम से कम 50 प्रतिशत अंक भी होने चाहिए। इसके बाद आप आसानी से माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े ग्रेजुएशन कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। जो कि कई तरह से होता है। इसकी जानकारी हम आपको आगे देंगे।

माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े कोर्स

यदि आप माइक्रोबायोलॉजी से जुड़ा कोई भी कोर्स करते हैं तो उसके लिए आपको कम से कम तीन साल देना पड़ेगा। हालांकि, माइक्रोबायोलॉजी के अंदर भी कई तरह की शाखाएं होती हैं। जिनके लिए अलग अलग कोर्स बनाए गए हैं। आप चाहें तो माइक्रोबायोलॉजी में ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते हैं या इसके बाद पोस्‍ट ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते हैं। पोस्‍ट ग्रेजुएशन करने के लिए आपके पास माइक्रोबायोलॉजी में ग्रेजुशन होनी जरूरी है। साथ ही उस विषय में ही होना चाहिए। जिसमें आप पोस्‍ट ग्रेजुएशन करना चाहते हैं। यदि आप इसमें कोई डिप्‍लोमा कोर्स करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि इसके अंदर किसी तरह का डिप्‍लोमा कोर्स नहीं होता है।

Graduation Course List

  • BSC In Microbiology
  • BSC in Apply Microbiology
  • BSC in Industrial Microbiology
  • BSC in Food Technology
  • BSC in Clinical Microbiology

Post Graduate Course List

  • MSC In Microbiology
  • MSC in Applied Microbiology
  • MSC in Medical Microbiology
  • MSC in Microbial Genetics and Bio Information

माइक्रोबायोलॉजी कोर्स में विषय

आइए अब हम आपको माइक्रोबायोलॉजी कोर्स के अंदर आने वाले कुछ प्रमुख विषय के बारे में आपको जानकारी देते हैं। हालांकि, ये विषय आपको हर कॉलेज में कुछ बदलाव के साथ देखने को मिल सकते हैं। क्‍योंकि माइक्रोबायोलॉजी के अंदर भी कई तरह की शाखाएं हैं। लेकिन मुख्‍यत: आपको यही विषय देखने को मिलेंगे।

Microbiology Course List

  • Microbial Ecology
  • Biochemistry
  • Molecular Biology
  • Cell Biology
  • Enzyme technology
  • Food Microbiology
  • Virology
  • Medical Bacteriology
  • Recombinant DNA Technology
  • Parasitology
  • Labs

माइक्रोबायोलॉजी कोर्स से जुड़े कॉलेज

अंत में यदि आप माइक्रोबायोलॉजी कोर्स की योग्‍यता पूरी करते हैं। तो आपको एक अच्‍छा सा कॉलेज देखना होता है। जिसके बाद आप वहां पढ़कर अपना एक बेहतर भविष्‍य बना सकते हैं। इसलिए हमेशा कॉलेज चुनने में सबसे सावधानी और सजगता बरतनी चाहिए। ताकि आपका आने वाला तीन साल आपके भविष्‍य संवारने वाला हो।

Microbiology College List

  • AIIMS Delhi
  • JMI New Delhi
  • MSU Baroda
  • VIT Valore
  • LPU Jalandhar
  • BHU Varanasi
  • DU Delhi
  • Chandigarh university
  • Madras University
  • Presidency College, Chennai

द‍ाखिला कैसे होता है?

आइए अब हम आपको बताते हैं कि माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े किसी भी कोर्स में आप दाखिला कैसे ले सकते हैं। इसके लिए देश के सभी सरकारी कॉलेज में दाखिला प्रक्रिया Entrance Exam के जरिए पूरी की जाती है। जिसके लिए NEET, CUET, CEED  की परीक्षा पूरे देश में काफी जानी जाती है। आप चाहें तो इस परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। ये परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है। इसके अलावा कुछ कॉलेज माइक्रोबायोलॉजी में दाखिला लेने के लिए खुद से अपनी परीक्षा लेते हैं।

यदि आप किसी भी परीक्षा में बैठते हैं तो इसमें आपसे माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े प्रश्‍न पूछे जाएंगे। जिसमें यद‍ि आपकी अच्‍छी पकड़ है तो आप आसानी से इस परीक्षा को पास करके देश के किसी भी सरकारी कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं। आप यदि ग्रेजुएशन कोर्स में दाखिला लेते हैं तो उसके लिए आपको अलग परीक्षा देनी होगी। जबकि यदि आप पोस्‍ट ग्रेजुएशन में दाखिला लेते हैं। तो उसके लिए अलग परीक्षा देनी होगी।

इसके अलावा हमारे देश में कई प्राइवेट कॉलेज ऐसे भी हैं जो कि बिना किसी परीक्षा के सीधे आपके बारहंवी के अंकों को आधार बनाकर आपका दाखिला माइक्राबायोलॉजी से जुड़े कोर्स में दे देते हैं। ये संस्‍थान आपको हर शहर में देखने को मिल जाएंगे।

माइक्रोबायोलॉजी कोर्स की फीस?

यदि आप किसी भी माइक्रोबायोलॉजी कोर्स में दाखिला लेते हैं तो इसकी फीस दूसरे कोर्स के मुकाबले कुछ ज्‍यादा ही आपको देखने को मिलेगी। इसकी अपने आप कई सारी वजह हैं। लेकिन यदि हम एक सरकारी कॉलेज की फीस की बात करें तो वहां आप किसी भी शाखा में दाखिला लेते हैं तो आपको एक साल की फीस लगभग एक लाख रूपए चुकानी होगी। हालांकि, वहां पर आपको कई तरह की छात्रवृति का लाभ भी दिया जाता है। जिससे गरीब छात्रों पर फीस का बोझ कम हो जाता है।

इसके अलावा यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज में दाखिला ले लेते हैं तो आपकी फीस एक साल की दो से तीन लाख तक जा सकती है। साथ ही इनकी बाजार वैल्‍यू (Market Value) भी सरकारी कॉलेज की तुलना में काफी कम होगी। साथ ही वहां छात्रवृति जैसा कोई प्रावधान भी नहीं होता है।  इसलिए बेहतर यही होगा कि आप Entrance Exam की तैयारी कीजिए और किसी सरकारी कॉलेज में ही दाखिला लीजिए।

रोजगार की संभावनाएं

जैसा कि हमने आपको शुरू में ही बताया कि माइक्राबायोलॉजी एक उभरता हुआ क्षेत्र है। ऐसे में यदि आप रोजगार की बात करें तो इसमें हर तरफ संभावना ही संभावना है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप किसी अस्‍पताल या लैब में लगकर अपना काम शुरू कर सकते हैं। वहां आपको काम सीखने का भी अच्‍छा मौका मिल सकता है।

इसके अलावा बहुत सी कंपनियां भी आज के समय अपने खाद्य पदार्थो की गुणवत्‍ता की जांच के लिए माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े लोगों को नियुक्‍त करती हैं। जिनका काम होता है उनकी कंपनी में बनने और बनाने में प्रयोग में लाई जा रही चीजों को किसी भी तरह के जीवाणु और बैक्‍टीरिया से मुक्‍त रखना। क्‍योंकिे स्‍वच्‍छता आज सबसे अहम चीज हो गई है। आगे हम आपको माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े कुछ ऐसे पद बताने जा रहे हैं। जिसपर आप कोर्स पूरा करके नौकरी तलाश सकते हैं।

इसके अलावा यदि आप सरकारी विभागों में जाना चाहते हैं तो भी आपके लिए अनेकों मौके हैं। सरकार समय समय पर माइक्रोबायोलॉजी से जुड़ी भर्ती निकालती रहती है। जिसके अंदर योग्‍यता माइक्रोबायोलॉजी में BSC या MSC मांगी जाती है। आप उसके अंदर आवेदन करके सरकारी नौकरी भी पा सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको काफी मेहनत करनी होगी। क्‍योंकि सरकारी नौकरी की दौड़ हमारे देश में काफी कठिन मानी जाती है।

माइक्रोबायोलॉजी से जुड़े प्रमुख पद

  • Virologist
  • Mycologist
  • Industrial Microbiologist
  • Food Technologist
  • Senior Research Microbiologist
  • Parasitologist

शुरूआती सैलरी

माइक्रोबायोलॉजी से जुड़ा कोर्स पूरा करने के बाद आपके वेतन की बात आती है। लेकिन जैसा कि आप भी जानते हैं कि वेतन केवल कोर्स पर निर्भर नहीं करता है। इसके लिए जरूरी है कि आपके पास कोर्स से जुड़ी जानकारी भी हो। यदि हम सामान्‍य वेतन की बात करें तो इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपकी शुरूआती सैलरी कम से कम 30 से 40 हजार रूपए से शुरू होगी। इसके बाद जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाएगा आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी।

इसके अलावा हम आपको देश की कुछ कंपनियों के नाम बताने जा रहे हैं। यदि आपका चयन इन कंपनियों में हो जाता है। तेा आप आसानी से हर महीने की लाखों रूपए सैलरी तक ले सकते हैं। आइए आपको हम उन कंपनियों के नाम बताते हैं। ताकि आप इनकी वेबसाइट पर लगातार देखते रहें कि इनकी तरफ से कोई भर्ती निकाली गई है या नहीं।

  • Britannia
  • Bisleri
  • Johnson & Johnson
  • Jubilant
  • Sun Pharma
  • Lupin
  • Apollo
  • Cipla
  • Cafe Coffee Day
  • Emcure Pharmaceuticals

ध्‍यान रखने योग्य बातें

  • माइक्रोबायोलॉजी एक ऐसा कोर्स है। जिसके अंदर आपको काफी मेहनत से पढ़ना होता है। इसलिए आप इस कोर्स को तभी करें जब आप इतनी मेहनत कर सकें। अन्‍यथा आपका समय और पैसा दोनों खराब होंगे।
  • माइक्रोबायोलॉजी के अंदर बहुत सी शाखाएं होती हैं। इसलिए आप अपनी शाखा का चुनाव पूरी तरह से अपनी रूचि और लग्न के आधार पर ही करें। संभव हो तो इसमें किसी जानकार आदमी की मदद भी ले लें।
  • आप कॉलेज का चुनाव करते समय उसकी फीस और अपने घर से दूरी अवश्‍य देख लें। ऐसा ना हो कि आप जब दाखिला ले लें तो आपको पछताना पड़े।
  • यदि आपका दाखिला देश के किसी नामी कॉलेज में किसी कारणवंश नहीं हो पाता है। तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। बस आप जहां भी पढ़ रहे हैं। वहां पूरी मेहतन कीजिए।
  • यदि आपको कोर्स के तुरंत बाद कोई अच्‍छा मौका नहीं मिलता है। तो आप घबराएं नहीं। बस आप अनुभव लेते जाइए। क्‍योंक‍ि अनुभव ही इंसान को आगे लेकर जाता है।

इसे भी पढ़ें: Self Study Tips in Hindi

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि Microbiology in Hindi क्‍या है। साथ ही यदि आप माइक्रोबायोलॉजी के क्षेत्र में भविष्‍य बनाना चाहते हैं तो उसका क्‍या तरीका होगा। साथ ही इस क्षेत्र में कितनी संभावनाएं हैं। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्‍तों के साथ भी इसे अवश्‍य शेयर करें। साथ ही यदि माइक्रोबायोलॉजी से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो नीचे कमेंट करें। Allinhindi Team आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करती है।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4 / 5. कुल वोट 341

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment