Hotel management course in Hindi | होटल मैनेजमेंट कोर्स इनफार्मेशन

4.4
(326)

Hotel Management Course कैसे करें?

Hotel management course in Hindi: 12वीं पास करने के बाद आज के छात्रों के मन में सबसे बड़ा सवाल यही होता है कि आगे क्‍या किया जाए? क्‍योंकि यही वो समय होता है। जो हमारे भविष्‍य को एक दिशा देने का काम करता है। ऐसे में जो लोग सरकारी सेवाओं में जाना चाहते हैं, वो तो सीधा तैयारी करने निकल जाते हैं। लेकिन चुनौती उन युवाओं के सामने होती है जो कि कोई Professional Course करना चाहते हैं।

यदि आप भी अपनी बारहंवी या ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर चुके हैं और आगे होटल मैनेजमेंट कोर्स करने का सोच रहे हैं, तो हमारी इस पोस्‍ट को अंत तक पढि़ए। अपनी इस पोस्‍ट में हम आपको होटल मैनेजमेंट कोर्स से जुड़ी सारी जानकारी देंगे। साथ ही बताएंगे कि कैसे आप इस सेक्‍टर में आसानी से नौकरी पा सकते हैं।

Hotel Management कोर्स क्‍या होता है?

Hotel management course in Hindi के बारे में आपको हम जानकारी दें इससे पहले आइए एक बार हम आपको जानकारी दें कि होटल मैनेजमेंट कोर्स क्‍या होता है। दरअसल, यह भी दूसरे कोर्स की तरह ही एक कोर्स होता है। जिसे करने के बाद आप बड़े बड़े होटलों में आसानी से नौकरी पा सकते हैं।

इस कोर्स की खास बात ये है कि इस सेक्‍टर में आपको नौकरी बेहद आसानी से मिल जाती है। साथ ही यदि आप अच्‍छा काम करते हैं तो कुछ साल के अनुभव के बाद आप विदेशों में भी जाकर काम की तलाश कर सकते हैं। क्‍यों‍कि हमारे देश में खाना बनाना और परोसना अक्‍सर महिलाओं का काम माना जाता है। इसलिए इस कोर्स को बेहद कम लोग करते हैं। जो कि उन युवाओं के लिए एक अवसर की तरह होता है, जिनका होटल मैनेजमेंट कोर्स करने का एक सपना होता है।

होटल मैनेजमेंट कोर्स इनफार्मेशन

Hotel management कोर्स किन्‍हें करना चाहिए?

होटल मैनेजमेंट कोर्स करने से पहले आपको एक बार इस बात पर जरूर विचार कर लेना चाहिए कि इस कोर्स को किन्हें करना चाहिए। इसका कोई सटीक जवाब तो नहीं है क्‍योंकि इस कोर्स को हर वो युवा कर सकता है जिसने बारहंवी कक्षा पास की हुई है।

लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि किसी कोर्स को पूरा कर लेना या उससे जुड़ी डिग्री हासिल कर लेना भर उस क्षेत्र में सफलता पाने का कोई मूलमंत्र नहीं है। इसलिए यही नियम होटल मैनेजमेंट के कोर्स पर भी लागू होता है। इसलिए इस कोर्स की तरफ हमें केवल तभी जाना चाहिए जब हमें खाना बनाने और खिलाने में रूचि हो। या हमें होटल में होने वाले किसी भी काम को करने में रूचि हो तो इस कोर्स की तरफ जा सकते हैं। लेकिन ध्‍यान देने वाली बात ये है कि इस कोर्स के दौरान आपको पढ़ना भी पड़ता है। इसलिए ऐसा कभी ना सोचें कि आपको केवल काम आने भर से कोर्स पूरा हो जाएगा।

Hotel management कोर्स से जुड़ी सभी जानकारियां

आगे हम आपको बारी बारी से होटल मैनेजमेंट कोर्स से जुड़ी सभी जानकारी देने जा रहे हैं। जिनमें कोर्स की अवधि, योग्‍यता, फीस और संस्‍थान से जुड़ी जानकारी प्रमुख रूप से शामिल हैं। आप इन्‍हें पढ़कर इसके बाद सोच विचार करके आगे का निर्णय आसानी से ले सकते हैं।

इसे भी पढें: जल्दी याद करने का आसान तरीका

कोर्स करने की योग्‍यता

यदि आप होटल मैनेजमेंट कोर्स इनफार्मेशन में जानना चाहते हैं कि होटल मैनेजमेंट कोर्स करने की योग्‍यता क्‍या होती है। तो हम आपको बता दें कि ज्‍यादातर सभी कोर्स की योग्‍यता बारहंवीं पास मांगी जाती है। खास बात ये है कि आप किसी भी स्‍ट्रीम (Stream) के साथ बारहंवी पास हों तो भी आप होटल मैनेजमेंट के किसी भी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। लेकिन यदि आप Art Stream से बारहंवी पास हैं तो आपके लिए सोने पर सुहागा है। इसके अलावा आपके बारहंवीं में 55 प्रतिशत से अधिक अंक भी होने अनिवार्य हैं।

Subject का चुनाव कैसे करें?

Subject का चुनाव करते समय आपको बेहद सावधानी बरतनी चाहिए। क्‍योंकि यहीं से तय होता है कि आपका आने वाला भविष्‍य किस दिशा में रहने वाला है। क्‍योंकि एक होटल बहुत बड़ा होता है और इसके अंदर भी आपको तरह तरह के काम होते हैं। इसमें आप Front Desk, Room Management, Waiter, खाना बनाने और परोसने का काम, Accountant, Public Relation और Marketing जैसे कई विकल्प होते हैं।

आप जिस तरह का कोर्स चुनेंगे आगे आपको उसी क्षेत्र में काम करना होगा। इसलिए इसका निर्णय यदि आप ना कर सकें तो किसी की सलाह भी ले लें। आगे हम आपको होटल मैनेजमेंट के अंदर आने वाले सभी क्षेत्रों के नाम बताने जा रहे हैं। आप इन सभी क्षेत्रों के कार्यक्षेत्र को जानने के बाद आसानी से किसी भी क्षेत्र का चुनाव कर सकते हैं।

  • इवेंट मैनेजमेंट
  • हाउस कीपिंग
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • पब्लिक रिलेशन
  • अकाउंटिंग
  • बिज़नस लॉ
  • कम्युनिकेशन स्किल
  • बिज़नस एथिक्स
  • फ़ूड प्रोडक्शन
  • फ्रंट एंड ऑपरेशन
  • मैनेजमेंट स्किल्स
  • ट्रेवल एंड टूरिज्म

भाषा का चुनाव कैसे करें?

होटल मैनेजमेंट कोर्स के अंदर आपकी भाषा का सबसे ज्‍यादा योगदान रहता है। चाहे आप किसी भी होटल के अंदर किसी भी पद पर काम कर रहे हों वहां आपके काम से ज्‍यादा महत्‍व आपकी भाषा और काम करने के तरीके का होगा। इसलिए आप इस बात का हमेशा ध्‍यान रखें कि आप कोर्स के साथ साथ अपनी हिन्‍दी और अंग्रेजी भाषा को काफी बेहतर बना लें। भले ही आप देश के किसी भी राज्‍य से क्‍यों ना आते हों। वहां की अपनी कोई क्षेत्रीय भाषा ही क्‍यों ना हो।

क्‍यों‍कि सितारा होटलों में केवल हिंदी भाषी लोग ही नहीं, बाल्कि वहां विदेशी लोग भी ठहरने आते हैं। जो कि केवल अंग्रेजी भाषा ही जानते हैं। साथ ही यदि आपको कभी विदेश में जाने का मौका मिलता है, तो आपको अंग्रेजी का ज्ञान होना एक तरह से अनिवार्य मांगा जाता है। इसलिए कोर्स के साथ ही अपनी दोनों भाषाएं बेहतर कर लें। इससे आपको नौकरी मिलने में आसानी होगी। साथ ही आपको आकर्षक वेतन भी‍ दिया जाएगा।

होटल मैनेजमेंट के प्रमुख कोर्स

आगे हम आपको होटल मैनेजमेंट से जुड़े तमाम तरह के कोर्स बताने जा रहे हैं। इनमें से कुछ कोर्स डिग्री के तौर पर हैं हैं। जबकि कुछ कोर्स डिप्‍लोमा के तौर पर हैं। इन सभी की अवधि अलग अलग होती है। आप इनमें से किसी एक कोर्स की विस्‍तार से जानकारी हासिल करके उसका चुनाव कर सकते हैं।

  • बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट
  • बैचलर इन इवेंट मैनेजमेंट
  • बैचलर ऑफ़ फ़ूड एंड विवरेज
  • बैचलर ऑफ़ कम्युनिकेशन स्किल्स
  • बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट एंड एडमिनिस्ट्रेशन
  • बैचलर इन हाउस केप्पिंग
  • बैचलर इन टूरिज्म एंड ट्रेवल मैनेजमेंट
  • बैचलर इन मार्केटिंग मैनेजमेंट
  • बैचलर ऑफ़ फ़ूड प्रोडक्शन
  • बैचलर इन ट्रेवल मैनेजमेंट
  • होटल मनागेंट इन अकाउंट्स

कुछ डिप्‍लोमा कोर्स

  • डिप्लोमा इन फ्रंट ऑफिस
  • डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग
  • डिप्लोमा इन फ़ूड विवरेज सर्विसेज
  • डिप्लोमा इन मैनेजमेंट स्किल्स
  • डिप्लोमा इन HR मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा इन सिपल्स ऑफ़ होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा इन कम्युनिकेशन स्किल्स
  • डिप्लोमा इन फ़ूड प्रोडक्शन एंड न्‍यूट्रिशियन
  • डिप्लोमा इन बेकरी एंड कन्फेक्शनरी

होटल मैनेजमेंट कोर्स के प्रमुख संस्‍थान

होटल मैनेजमेंट कोर्स इनफार्मेशन में आगे हम आपको होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए देश के प्रमुख कॉलेज के नाम बताने जा रहे हैं। आप इनमें से किसी में भी दाखिला ले सकते हैं। लेकिन यदि किसी कारणवंश आपका इन संस्‍थानों में दाखिला नहीं होता है, तो भी आपको घबराने की जरुरत नहीं है। क्‍यों‍कि यदि आपके अंदर काम करने की ललक और आगे बढ़ने का जुनून है तो एक ना एक दिन आपको वो मुकाम मिल ही जाएगा। जिसके आप सही मायने में हकदार हैं।

  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (आईएचएम), दिल्ली
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, मुंबई
  • वेलकम ग्रुप ग्रैजुएट स्कूल ऑफ होटल ऐडमिनिस्ट्रेशन (डब्ल्यूजीएसएचए)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट (आईएचएम), चेन्नई
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग टेक्नॉलजी ऐंड ऐप्लाइड न्यूट्रिशन, हैदराबाद
  • आर्मी इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट ऐंड कैटरिंग टेक्नॉलजी
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, ग्वालियर
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, बेंगलुरु
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग ऐंड न्यूट्रिशन, लखनऊ
  • एसआरएम इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, चेन्नई
  • इंस्टिट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, अहमदाबाद

द‍ाखिला कैसे होता है?

आप जिस भी कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं उसकी दाखिला प्रक्रिया पूरी तरह से उस संस्‍थान पर निर्भर करती है। लेकिन ज्‍यादातर बड़े कॉलेज और विश्‍वधिालय होटल मैनेजमेंट कोर्स में दाखिला Entrance Test के आधार पर लेते हैं। जबकि छोटे कॉलेज आपके बारहंवी के अंकों के आधार पर दाखिला लेते हैं।

इस बात की विस्‍तार से जानकारी हासिल करने के लिए आप जिस संस्‍थान में दाखिला लेना चाहते हैं। उसकी वेबसाइट पर जाकर जानकारी हासिल कर सकते हैं। साथ ही आप चाहें तो कॉलेज के हेल्पलाइन नंबर पर भी बात कर सकते हैं।

होटल मैनेजमेंट कोर्स की अ‍वधि

होटल मैनेजमेंट से जुड़े किसी भी कोर्स की अ‍वधि इस बात पर निर्भर करती है कि आप कौन सा कोर्स करने जा रहे हैं। यदि आप एक डिग्री कोर्स करने जा रहे हैं, तो उसकी अवधि कम से कम तीन साल और अधिकतम चार साल हो सकती है।

लेकिन यदि आप एक डिप्‍लोमा कोर्स करने जा रहे हैं तो उसकी अवधि एक से लेकर दो साल तक हो सकती है। यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आप डिप्‍लोमा कौन सा करने जा रहे हैं। लेकिन हमारा सुझाव यही रहेगा कि यदि आपके पास पूरा समय है तो आप सबसे पहले डिग्री कोर्स के साथ ही जाइए। क्‍यों‍कि इसके आधार पर आप अपनी आगे की पढ़ाई भी कर सकते हैं। जबकि डिप्‍लोमा करने के बाद आपको पहले डिग्री करनी होगी। इसके बाद आगे की पढ़ाई कर सकते हैं।

कोर्स की फीस

Hotel management course in Hindi के अंत में सवाल आता है कि होटल मैनेजमेंट कोर्स करने की फीस कितनी होगी। फीस पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करेगी कि आप किस तरह के संस्‍थान से और कौन सा कोर्स करने जा रहे हैं। खास तौर पर यदि आप किसी प्राइवेट संस्‍थान से होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने जा रहे हैं, तो संभव है कि आपकी फीस कई लाख रूपए भी हो।

लेकिन यदि आप किसी सरकारी संस्‍थान से या छोटे संस्‍थान से होटल मैनेजमेंट का कोर्स करते हैं। तो आपकी फीस एक साल की 40 हजार से लेकर एक लाख रूपए तक हो सकती है। दूसरे और तीसरे साल की फीस इससे थोड़ी कम होगी।

सैलरी क्‍या होगी?

किसी भी कोर्स को पूरा करने से पहले हर किसी के जहन में सबसे पहले सवाल यही आता है कि कोर्स के बाद जो नौकरी लगेगी उसमें सैलरी क्‍या होगी? क्‍योंकि सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आपने कोर्स के दौरान कितना काम सीखा। साथ ही आपको किस तरह के होटल में नौकरी मिली है। इसलिए ये बताना थोड़ा कठिन है कि आपको कितना वेतन मिलेगा।

लेकिन यदि हम मान कर चलें कि आपको सबसे छोटे होटल में नौकरी मिली है, तो भी आपकी शुरूआती सैलरी 15 से 20 हजार रूपए जरूर होगी। लेकिन जैसे जैसे आपको काम का अनुभव होता जाएगा। आपका वेतन भी उसी हिसाब से बढ़ता जाएगा। साथ ही यदि आप विदेश के किसी होटल में चले जाते हैं तो आपकी सैलरी सीधी लाखों रूपए महीना होगी। इसके अलावा आपको तमाम सुविधाएं भी अलग से दी जाएंगी। लेकिन ये सब तभी होगा जब आप कोर्स के दौरान पूरी मेहतन करेंगे।

छात्रों के लिए गुरूमंत्र

  • होटल मैनेजमेंट एक ऐसा कोर्स है। जिसमें केवल वही कामयाबी हासिल कर सकता है, जो कि इस क्षेत्र में रूचि रखता हो। इसलिए बिना रूचि के आधार पर आप कभी भी इस तरह के कोर्स को ना करें।
  • यदि आपको कोर्स के दौरान इंटर्नशिप (Internship) करने का भी मौका मिलता है तो आप ऐसे मौके को कभी ना गवाएं। इंटर्नशिप एक ऐसा मौका होता है। जिसमें हम काम की बारीकियों को अच्‍छे से जानते और समझते हैं।
  • यदि आपको कोर्स करने के तुरंत बाद कोई अच्‍छा मौका नहीं मिलता है। तो आप अपने आसपास के किसी छोटे होटल में भी काम तलाश सकते हैं और वहां से अनुभव प्राप्‍त कर सकते हैं। कभी भी खाली ना बैठें।
  • कोर्स के दौरान भी और काम के दौरान भी कोशिश करें कि आप केवल एक चीज में पारंगत हो जाएं। जैसे कि आपको अच्‍छा खाना बनाना या परोसना आता है, तो उसे ही करें। कई काम सीखने के चक्‍कर में आप एक भी काम नहीं सीख पाएंगे।
  • कभी भी इस भ्रम में मत आइए कि आपको नौकरी केवल आपके डिग्री के नंबर देखकर दी जाएगी। नंबर के साथ आपका काम में दक्ष होना भी बेहद जरूरी है। इसलिए हमेशा प्रेक्टिकल को प्राथमिकता दें।
  • यदि आप ग्रामीण इलाके से आते हैं तो संभव है कि आपके काम को वहां वो महत्‍व ना दिया जाए। जिसके आप हकदार हैं। लेकिन आप घबराएं नहीं। एक समय आने के बाद लोगों की राय भी बदल जाएगी।
  • कभी भी इस कोर्स का चुनाव केवल इस बात से ना करें कि आपके सभी दोस्‍त यही कोर्स कर रहे हैं। या होटल मैनेजमेंट से जुड़ा संस्‍थान आपके घर के पास है। ये आपकी सबसे बड़ी भूल हो सकती है।
  • यदि आप आगे चलकर सरकारी सेवाओं में भी जाना चाहते हैं तो समय रहते उसकी भी तैयारी शुरू कर दें। क्‍योंकि कई सरकारी कैंटीन में इस तरह के कोर्स किए हुए लोगों की नियुक्ति की जाती है।

इसे भी पढें: DCA कोर्स क्या है?

Conclusion

आशा है कि अब आप समझ गए होंगे कि Hotel management course in Hindi क्‍या होता है। इसे आप किस तरह से कर सकते हैं। होटल मैनेजमेंट कोर्स करने के बाद कैसे अपने भविष्‍य को उज्‍ज्‍वल बना सकते हैं। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया है तो इसे होटल मैनेजमेंट करने की सोच रहे अपने दोस्‍तों के साथ के भी अवश्‍य शेयर करें। साथ ही यदि होटल मैनेजमेंट कोर्स से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो हमें नीचे कमेंट बॉक्‍स में लिखें। हम आपके उज्‍ज्‍वल भविष्‍य की कामना करते हैं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.4 / 5. कुल वोट 326

उम्र में युवा और तजुर्बे में वरिष्ठ रोहित यादव हरियाणा के रहने वाले हैं। पत्रकारिता में डिग्री रखने के साथ इन्होंने अपनी सेवाएं कई मीडिया संस्थानों को दी हैं। फिलहाल ये पिछले लंबे समय से अपनी सेवाएं 'All in Hindi' को दे रहे हैं।

Leave a Comment