चिया सीड को हिंदी में क्या कहते हैं? | चिया बीज के फायदे और नुकसान

4.7
(248)

चिया सीड को हिंदी में क्या कहते हैं | Chia seeds ko hindi mein kya kahate hain

Chia seeds ko hindi mein kya kahate hain: यदि आप अपने खान पान और सेहत को लेकर हमेशा सचेत रहते हैं तो आपने Chia seed का नाम जरूर सुना होगा। इसे अक्‍सर हम लोग अपनी सेहत को अच्‍छी बनाने के लिए खाते हैं। लेकिन यदि आपने अभी तक Chia seed का नाम नहीं सुना है तो हमारे इस लेख को अंत तक पढि़ए।

अपने इस लेख में हम आपको बताएंगे कि चिया के बीच क्‍या होते है? चिया बीज हिन्दी नाम क्या है? साथ ही एक आम इंसान इनका सेवन कैसे कर सकता है। इसके साथ‍ ही इसके क्‍या फायदे हैं और क्‍या नुकसान होते हैं। तो चलिए जानते है कि Chia seeds ko hindi mein kya kahate hain…

चिया सीड को हिंदी में क्या कहते हैं | चिया बीज हिन्दी नाम

Chia seeds को हिन्दी में चिया बीज कहा जाता है, क्योकिं चिया कोई भारतीय फसल नहीं नहीं है। chia seeds को भारत में 2014 से उगाया जाने लगा है। चिया बीज का वानस्पतिक नाम ‘साल्विया हिस्पैलिका’ है।

आशा है अब आप जान चुकें होंगे तो Chia seeds ko hindi mein kya kahate hain.

Chia seed क्‍या होते हैं?

Chia seeds ko hindi mein kya kahate hain जानने के बाद चलिए अब जानते है कि Chia seed क्‍या होते हैं।

चिया के बीज एक पोधे से प्राप्‍त किए जाते हैं। जो कि आमतौर पर काले तिल के आकार के होते हैं। यदि हम इन्‍हें खाते हैं तो इनका स्‍वाद हमें अखरोट की तरह लगता है। अपने छोटे आकार के बावजूद ये बीज ऊर्जा से भरपूर होते हैं।

यदि हम एक मुठ्ठी बीज की बात करें तो इसके अंदर आपको लगभग 137 कैलोरी ऊर्जा प्राप्‍त हो सकती है। यही वजह है कि बड़े बड़े लोग इसका सेवन हर रोज करते हैं। ताकि उनका शरीर हमेशा रोगों से दूर रहे। यदि हम चिया के उत्‍पादन की बात करें तो दुनिया में सबसे ज्‍यादा चिया की खेती मैक्सिको में की जाती है।

ये भी पढ़ें: ओट्स किसे कहते हैं? इसके 4 प्रमुख प्रकार

28 ग्राम Chia seed में पोषक तत्‍व की मात्रा

यदि आप 28 ग्राम Chia seed खरीदते हैं तो आइए हम आपको बताते हैं कि इसके अंदर आपको क्‍या क्‍या देखने को मिल सकता है। इसके अंदर 18 प्रतिशत कैल्‍शियम, मैग्नीज 30 प्रतिशत, मैग्नीशियम 30 प्रतिशत, फास्‍फोरस 27 प्रतिशत, फाइबर 11 ग्राम, प्रोटीन 4 ग्राम, वसा 9 ग्राम के साथ ही विटामिन बी 1, बी 2, बी 3 जैसे कई पोषक तत्‍व पाए जाते हैं। जो कि आपके शरीर को पूरी तरह से फायदा देने का काम करते हैं।

चिया बीज हिन्दी नाम

Chia seed को कहां से खरीदें?

चिया के बीज आप अपनी आस पास की दुकान से खरीद सकते हैं। यदि आपके आस पास ये नहीं मिलता है तो आप इसे ऑनलाइन भी मंगा सकते हैं। हालांकि हम आपको बता दें कि चिया के बीज काफी महंगे होते हैं इसलिए यदि आप एक किलो चिया के बीज खरीदते हैं तो इसकी कीमत लगभग 500 रूपए होती है।

बस जब भी आप चिया के बीज खरीदने जाएं तो इस बात का ध्‍यान रखें कि आप हमेशा अच्‍छी गुणवत्‍ता के बीज ही खरीद कर लाएं। इनकी पहचान ये होती है किे अच्‍छे चिया के बीज हमेशा काले रंग के होते हैं। जबकि जो बीच खराब होने वाले होते हैं वो थोड़े भूरे रंग के होने लगते हैं। इसलिए आप इन्‍हें कभी भी ना खरीदें। इसके सेवन से आपके शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें: काजू खाने का सही तरीका, top 10 फायदे और नुकसान

चिया के बीज खाने का सही तरीका?

चिया के बीज को खाने के कुल तीन तरीके हैं यहां हम आपको तीनों ही तरीके बताने जा रहे हैं। आपको जो भी तरीका सही लगता है उसे ही अपना लें। हर तरीके से चिया बीज के सेवन से आपके शरीर को पूरी ऊर्जा मिलेगी।

Chia seed सेवन का पहला तरीका

चिया के बीज खाने का पहला तरीका बेहद ही साधारण सा है। आप जब रात को सोने जाएं तो एक गिलास के अंदर पानी भर लें। इसके बाद इसी गिलास में कुछ चिया के बीज डाल दें। इसे रात भर भीगे रहने दें। सुबह जब आप उठेंगे तो पाएंगे कि चिया के बीज अब पानी में जैल की तरह हो गए हैं। आप इस पानी को पी जाइए। इससे आपके शरीर को पूरी ऊर्जा मिलेगी। बस ध्‍यान ये रखें कि इस पानी को केवल आप ही पिएं साथ ही पानी के अंदर और कुछ ना डालें। जैसे कि बादाम आदि।

Chia seed सेवन का दूसरा तरीका

चिया के बीज सेवन का दूसरा तरीका थोड़ा अलग है। इसके अंदर आपको चाहिए कि आप सबसे पहले चिया के सभी बीजों को पीस लें इसे आप मिक्‍सी में भी पीस सकते हैं। इसके बाद आप जब इसका पाउडर बन जाए तो आप इसे किसी डिब्‍बी में रख लें।

ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए अश्वगंधा के लाभ क्या है, 7 फ़ायदे

अब जब भी आप सब्‍जी आदि बनाएं तो उसमें इसे थोड़ा सा डाल दें। लेकिन ध्‍यान ये रखें कि आप इसे मसाले के साथ मिलाकर ना रखें। इसे हमेशा अलग रखें। इसके साथ ही इस बात का भी ध्‍यान रखें कि आप हमेशा इसे तभी डालें जब आपकी सब्‍जी पकने वाली हो जाए। इसके अलावा जब आप चिया के बीज पीस रहें हों तो इतना ही पीसें कि एक महीने के अंदर खत्‍म हो जाए।

चिया के बीज सेवन का तीसरा तरीका

यह तरीका भी बेहद आसान है इसके अंदर यदि आप सुबह नाश्‍ते के दौरान दही आदि का सेवन करते हैं तो आप उसके अंदर ही चिया के बीज को डाल सकते हैं। अब आप इस दही को पी जाएं या जिस तरह से भी आप खाना चाहें खा लें। लेकिन ध्‍यान ये रखें इस दही को बचाकर ना रखें। इस तरीके से आपका समय भी बचेगा और आप चिया के बीज का सेवन भी आसानी से कर लेंगे।

चिया के बीज का सेवन का सही समय?

वैसे तो आप दिन में चिया के बीज का सेवन किसी भी समय कर सकते हैं। ये हर समय आपके शरीर को उतना ही फायदा देगा। लेकिन यदि आप सुबह जिम या सैर आदि पर जाते हैं तो आपको चाहिए कि आप जब सुबह घर से निकलें तो चिया के बीज का सेवन करके निकलें। इसके लिए आप चिया के बीज सेवन करने का पहला तरीका अपना सकते हैं। इससे आपका शरीर जल्‍दी थकान नहीं महसूस करेगा। लेकिन यदि आप रोज चिया के बीज का सेवन करते हैं तो आप इसका प्रयोग थोड़ा थोड़ा ही करें। अन्‍यथा इससे आपके शरीर को नुकसान हो सकता है।

चिया के बीज खाने के फायदे

अभी तक आपने जाना कि चिया के बीज का सेवन हमें किस प्रकार से और कब कब करना चाहिए। आइए अब जानते हैं कि यदि आप नियमित चिया के बीज का सेवन करते हैं तो इससे आपके शरीर को क्‍या क्‍या लाभ देखने को मिल सकते हैं।

  • चिया के बीज में बड़ी मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है। ऐसे में यदि आप इसका सेवन करते हैं तो आपका इससे मोटापा कम हो सकता है। क्‍योंकि जब आपका पाचन तंत्र सही रहता है तो आप भोजन को जल्‍दी पचा पाते हैं। साथ ही इससे आपको बार बार भूख भी नहीं लगती है।
  • बढ़ती उम्र के साथ आपके चेहरे पर आने वाले दाग धब्‍बे को छिपाने के लिए भी आप चिया के बीज का सवन कर सकते हैं। इसके सेवन से आपके चेहरे पर झुर्रियां भी नहीं दिखाई देगीं। साथ ही ये आपकी बढ़ती उम्र के प्रभाव को भी रोकने में मददगार सिद्ध होगा।
  • चिया के बीज के अंदर ओमेगा 3 पाया जाता है जो कि चिंता, तनाव और थकान को कम करने का काम करता है। ऐसे में यदि आपको नींद कम आती है तो आप चिया के बीज का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको रात के दौरान भरपूर नींद आएगी।
  • चिया के बीज में कैल्शियम पाया जाता है। जो कि हड्डी के बेहद लाभकारी होता है। ऐसे में यदि आप चिया के बीज का सेवन करते हैं तो आपकी हड्डी काफी मजबूत हो सकती हैं। जिन लोगों की हड्डी में कभी चोट आदि लगी होती है उन्‍हें हमेशा चिया के बीज का सेवन करना चाहिए।
  • चिया के बीज खाने से आपके शरीर का कालेस्‍टोरोल कम हो जाता है। जिससे आपको आने वाले समय में हृदय संबधी बीमारियां नहीं होती हैं। इससे आपको दिल का दौरान पड़ने का खतरा ना के बराबर रहता है।
  • यदि आपकी रोग प्रतिरोधकता क्षमता कमजोर है। तो आपके लिए चिया के बीज बेहद लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं। इसलिए आपको चाहिए कि आप रोजाना चिया के बीज का सेवन करें। इससे आप बदलते मौसम की बीमारियों से बच सकते हैं।
  • कैंसर से जूझ रहे लोगों के लिए भी चिया के बीज बेहद फायदेमंद सिद्ध हो सकते हैं। इसलिए कैंसर रोगियों को भी चिया के बीज का सेवन करना चाहिए। ये कैंसर से संबधित कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है।
  • चिया के बीज जैसे ही पानी के संपर्क में आते हैं तो यह जैल (GEL) के रूप में परविर्तित हो जाते हैं। ऐसे में यदि आप इसका सेवन करते हैं तो ये आपको कब्‍ज के दौरान राहत दिलाने का काम कर सकते हैं।

चिया बीज खाने के नुकसान

कोई भी चीज कितनी भी अच्‍छी क्‍यों ना हो उसके अपने फायदे होते हैं और अपने नुकसान। इसलिए चिया के बीज के भी कुछ नुकसान हैं। आइए आपको उन नुकसान के बारे में बताते हैं।

  • चिया के बीज का सेवन यदि आप एक दिन में बहुत अधिक मात्रा में करते हैं तो ये आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे आपके शरीर में एलर्जी, दस्‍त, सांस लेने में समस्‍या जैसे दिक्‍कते आ सकती हैं।
  • यदि आप किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं तो आपको चाहिए कि आप चिया के बीज का सेवन या तो कुछ समय के लिए बंद कर दें। या फिर डॉक्‍टर से इस बारे में पूरी तरह से बातचीत कर लें।
  • कभी भी सर्जरी के तुरंत बाद चिया के बीज का सेवन ना करें। साथ ही यदि आप खून को पतला करने की कोई दवाई ले रहे हैं तो भी चिया के बीज का सेवन ना करें। इससे आपके शरीर में होने वाले रक्‍तस्‍त्राव को रोकने में कठिनाई हो सकती है।
  • चिया के बीज में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर होता है। इसलिए आप ध्‍यान रखें कि चिया के बीज के साथ फाइबर युक्‍त चीजों का सवन कम से कम करें। इससे आपको कब्‍ज या दस्‍त जैसी समस्‍या देखने को मिल सकती हैं। साथ ही जब भी आप चिया के बीज का सेवन करें तो पानी भरपूर मात्रा में पिएं।

Disclaimer

ऊपर हमने आपको चिया के बीज के बारे में जो भी जानकारी दी है All In Hindi इनकी पुष्टि नहीं करता है। इसलिए इनको केवल सुझाव मात्र के रूप में लें। दवा या डाइट के रूप में इनका सेवन करने से पहले आप डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल वोट 248

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि "आल इन हिन्दी" का Founder हूँ. मैं एक Economics Graduate हूँ। कहते है ज्ञान कभी व्यर्थ नहीं जाता कुछ इसी सोच के साथ मै अपना सारा ज्ञान "आल इन हिन्दी" द्वारा आपके साथ बाँट रहा हूँ। और कोशिश कर रहा हूँ कि आपको भी इससे सही और सटीक ज्ञान प्राप्त हो सकें।

Leave a Comment