क्या भगवान होते हैं – Kya bhagwan hote hai | भगवान होते हैं या नहीं?

4.7
(185)

क्या भगवान होते हैं – Kya bhagwan hote hai

“क्या भगवान होते हैं” आपके जहन में भी ये सवाल कई बार आया होगा कि क्‍या वाकई भगवान होते हैं? हो सकता है कि इस सवाल पर आपकी कई बार लोगों से बहस भी हो गई हो। लेकिन इसके बाद भी आपको इस सवाल का जवाब नहीं मिला होगा कि भगवान होते हैं या नहीं। लेकिन आज आपको हम इस सवाल का जवाब जरूर दे देंगे। वो भी तर्क के साथ।

इसलिए यदि आप जानना चाहते हैं कि क्या भगवान होते हैं। तो हमारी इस पोस्‍ट को आप अंत तक पढि़ए। अपनी इस पोस्‍ट में हम आपको पूरी तरह से तर्क के साथ भगवान से जुड़ी हर बात से परिचित करवाएंगे। साथ ही विज्ञान इसे किस तरह से देखता है कि इस पर भी आपको जानकारी देंगे।

क्या भगवान होते हैं?

Kya bhagwan hote hai आपको हम इस सवाल का जवाब दें इससे पहले आपको हम जानकारी दें कि ‘मानो तो भगवान और ना मानो तो पत्‍थर’ इसका मतलब ये है कि यदि आप भगवान के बारे में जानना चाहते हैं कि क्‍या वाकई में भगवान होते हैं या नहीं तो आपको अपना मन खुला रखना होगा। ऐसा कतई नहीं है किे आप तभी मानेंगे जब आपके सामने भगवान प्रकट हो जाएं। क्‍योंकि ऐसा तो नहीं है कि किसी इंसान ने भगवान को देखा है। केवल उनमें आस्‍था ही रखी जा सकती है। इसलिए भगवान के बारे में जानने के लिए जरूरी है किे आप खुले मन से विचार करें।

ये भी पढ़ें: खुश रहने का सबसे आसान तरीका

भगवान की मौजूदी को बताने वाले कुछ कारक

Kya bhagwan hote hai

  • इस बात की पुष्‍टि खुद कई वैज्ञानिक करते हैं कि आज हमारी पृथ्‍वी पर जो कुछ भी मौजूद है। वास्तव में उसके पीछे कोई दिव्‍य शक्ति है। इसी लिए सभी चीजें फलती फूलती हैं और फिर अंत में नष्‍ट हो जाती हैं। साथ ही विज्ञान इसकी इस प्रक्रिया में कुछ नहीं कर पाता।
  • माना जाता है कि इस संसार की उत्‍पत्ति एक बहुत बड़े विस्‍फोट से हुई थी। इस विस्‍फोट से पृथ्‍वी और आकाश अलग हो गए। लेकिन आज तक ये नहीं पता चला है कि ये विस्‍फोट हुआ कैसे था। क्‍योंकि पूरी पृथ्‍वी को एक झटके में हिला कर रख दे, ऐसा कोई बम तो आज तक नहीं बना है। इसलिए माना जाता है कि ये यकीन्न कोई चमत्‍कार ही रहा होगा।
  • आज हमारे आसपास बहुत सारे जीव जंतु और पेड़ पौधे मौजूद हैं। जिनकी रचना प्रकृति के जरिए ही हुई है। उन्हें किसी ने बनाया नहीं है। यह भी एक प्रमाण है किे वाकई कहीं ना कहीं इस पृथ्‍वी पर भगवान मौजूद हैं। जो ये सब देख और कर रहे हैं।
  • आज हमारे पास जो शरीर मौजूद है वो भी भगवान की ही देन है। हम छोटे से आकार में पैदा होते हें, लेकिन समय के साथ ही हमारा शरीर बड़ा होता जाता है। साथ ही एक निश्चित समय के बाद हमारा शरीर पंचतत्‍व में भी विलीन हो जाता है। ये भी एक चमत्‍कार ही है कि जो शरीर हमें मुफ्त में मिला है। उसका यदि एक अंग भी हमसे अलग हो जाए तो दुनिया की कोई ताकत उसे दोबारा से उस तरह का नहीं बना सकती है। जैसा वो पहले था। जबकि भगवान ने हमें वो मुफ्त में दिया है।
  • भगवान की पुष्टि हमें कई धार्मिक ग्रंथों में भी मिलती है। उनमें बताया गया है कि इस संसार में जो कुछ भी है वो केवल भगवान की देन है। उनकी बिना इजाजत के इस संसार में कुछ भी संभव नहीं है।
  • भगवान की मौजूदी का एक प्रमाण ये भी है कि आज भी जब हम कहीं मुसीबत में फंस जाते हैं तो उससे बाहर निकालने के लिए भगवान का नाम ही जपते हैं। फिर बाद में भगवन का शुक्रिया अदा करते हैं। यदि ये संख्‍या कुछ लोगों की हो तो हम इसे मानने से इंकार कर सकते हैं। पर भगवान में आस्था रखने वाले करोड़ों लोग हैं। इसलिए ये सब लोग किसी अफवाह में तो नहीं आ सकते हैं। साथ ही अफवाह तो एक समय के बाद हमेशा खत्‍म हो जाती है।
  • भगवान की मौजूदगी का एक प्रमाण ये भी है कि आज भी ऐसी कई चीजें मौजूद हैं जहां चमत्‍कार साफ तौर पर देखा जा सकता है। जैसे कि गंगा का जल कितना भी प्रदूषित हो जाए पर उसमें कभी कीड़े नहीं पड़ते हैं। साथ ही भारत और श्री लंका को जोड़ने वाले रामसेतू में जो पत्‍थर आज भी पड़े हैं वो पानी में डूबते नहीं है। केदारनाथ में जब बाढ़ आई थी तो केवल सबकुछ तहस नहस हो गया था, पर उसके बावजूद बाद में देखा गया तो पता चला कि केवल मंदिर अब भी बचा हुआ है। ये एक चमत्‍कार ही है वरना ऐसा हर जगह क्यों नहीं होता है।
  • दुनिया में आज भी कई ऐसे रहस्‍य हैं जिन्‍हें वैज्ञानिक आज तक नहीं सुलझा पाए। जबकि आज हमारे पास बड़ी से बड़ी तकनीक है। वैज्ञानिक भले ही इसे रहस्‍य मानें पर वास्‍तव में ये कोई चमत्‍कार नहीं तो क्‍या है। जो हर तकनीक को फेल कर देता है।
  • भगवान के मौजूद होने का एक कारण ये भी है कि इस पृथ्‍वी पर जो कोई भी जन्‍म लेता है वो एक दिन जरूर मरता है। आजतक ऐसा कभी नहीं हुआ क‍ि किसी ने जन्‍म लिया हो और अमर हो गया हो। इसलिए कहा जाता है किे जीवन देने और लेने वाला वही है।
  • हमारे आसमान में इस समय भी बहुत से ग्रह चक्‍कर लगा रहे हैं। परन्‍तु भगवान ने उन्हें इस तरह से बनाया है कि वो कभी एक दूसरे से टकराते नहीं हैँ। ये बिना चमत्‍कार के भला कैसे संभव है कि वो इतनी तेज गति से चक्‍कर लगा लें।
  • भगवान के मौजूद होने का सबसे बड़ा प्रमाण ये है कि उनके द्वारा जो भी काम किए गए हैं उसमें किसी तरह की कोई गलती नहीं होती है। भले ही इंसान उसे समझने में क्‍यों ना गलती कर दे।

https://www.youtube.com/watch?v=UdGtHfu_NFI

ऐसे कारक जो बताते हैं कि भगवान नहीं मौजूद है

  • भगवान के मौजूद ना होने का सबसे पहला कारण ये है कि आजतक केवल भगवान के बारे में सुना ही गया है। किसी भी इंसान ने भगवान को देखा नहीं है। ना ही उनकी कोई असली तस्‍वीर मौजूद है। आज जो तस्‍वीरें मौजूद हैं वो सब महज काल्पनिक है। इससे प्रमाणित होता है कि भगवान मौजूद नहीं हैं।
  • शुरूआती दौर में कई ऐसी चीजें थी जिन्‍हें लोग मानते थे कि ये एक चमत्‍कार है। लेकिन जैसे जैसे समय बीता वैज्ञानिकों ने उस रहस्‍य से पर्दा हटा दिया और साबित कर दिया कि ये कोई चमत्‍कार नही है।
  • यदि वास्‍तव में भगवान मौजूद है तो आज भी हमारे देश में इतने सड़क हादसे, भुखमरी, बीमारी क्‍यों‍ फैली हई है। वो लोग चाहे तो भगवान का नाम लेकर अपनी सभी समस्‍याओं से छुटकारा क्‍यों नहीं ले लेते हैं।
  • कहा जाता है कि भगवान सब कुछ देख रहे होते हैं। यदि वो वाकई सबकुछ देख रहे हैं तो आज भी अन्‍याय करने वाले लोग खुले आम अच्‍छा जीवन कैसे व्‍यतीत कर रहे हैं। जबकि बहुत बार पुण्‍य करने वाले जरूर पाप के भागी बन जाते हैं।

Disclaimer

हमारी इस पोस्‍ट का तात्‍पर्य समाज में अंधविश्‍वास को बढ़ावा देना कतई नहीं है। हम चाहते हैं कि लोग सिक्‍के के दोनों पहलू को देखकर स्‍यंय तय करें कि भगवान होते हैं या नहीं।

यह पोस्ट आपके लिए कितना उपयोगी है?

स्टार पर क्लिक करके हमें बताये!

औसत रेटिंग 4.7 / 5. कुल वोट 185

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि "आल इन हिन्दी" का Founder हूँ. मैं एक Economics Graduate हूँ। कहते है ज्ञान कभी व्यर्थ नहीं जाता कुछ इसी सोच के साथ मै अपना सारा ज्ञान "आल इन हिन्दी" द्वारा आपके साथ बाँट रहा हूँ। और कोशिश कर रहा हूँ कि आपको भी इससे सही और सटीक ज्ञान प्राप्त हो सकें।

Leave a Comment